केंद्रीय मंत्री के बयान से पाक में मच सकती है हलचल, आलू-प्याज के दाम कम करने के लिए PM नहीं बने मोदी, 2024 में PoK होगा हमारा

kapil patil
अभिनय आकाश । Jan 31, 2022 2:27PM
कपिल पाटिल ने यह भी कहा कि मोदी आलू और प्याज के दाम नीचे लाने के लिए प्रधानमंत्री नहीं बने हैं। उन्होंने कहा कि लोग किचन से जुड़े सामान जैसे प्याज के दाम बढ़ने की शिकायत करते हैं, लेकिन पिज्जा और मटन खरीदने से नहीं हिचकते हैं।

मोदी सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री कपिल पाटिल के एक बयान से पाकिस्तान में हलचल मच सकती है। महाराष्ट्र के कल्याण में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कपिल पाटिल ने पीओके को लेकर बड़ा बयान दिया है। पाटिल ने कहा कि मोदी जी ने एक बार बताया था कि पीवी नरसिंह राव जब प्रधानमंत्री थे, तब उन्होंने एक जॉइंट पार्लियामेंट सेशन बुलाई थी और उसमें एक कानून पास किया था। उसके शब्द थे कश्मीर देश की बहुत बड़ी समस्या है। ये समस्या है क्योंकि कश्मीर का एक हिस्सा पाक में है और कभी ना कभी इसे वापस लेना चाहिए, तभी ये समस्या सुलझेगी।उन्होंने कहा कि ज्वाइंट पार्लियामेंट का सेशन लेकर उन्होंने उस जगह ऐसा कानून पास करके लिया था जिसमें शब्द ऐसे डाले थे कि कश्मीर इस देश की बड़ी समस्या है। कभी न कभी भारत को पीओके को अपने पास लेना होगा, तभी इस समस्या का हल होगा। तब मोदी जी ने कहा था कि भैय्या, ये आपका ही काम है, आपसे नहीं हुआ इसलिए हम कर रहे हैं। शायद 2024 तक कुछ तो होगा। पीओके भारत में आएगा ऐसी उम्मीद करने में कोई हर्ज नहीं है। ये तमाम चीजें सिर्फ मोदी ही कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: मोदी-योगी सरकारों में ‘घर जमाई’ बन गई है ‘डायन’ महंगाई : रणदीप सुरजेवाला

आलू प्याज के दाम करने के लिए पीएम नहीं बने मोदी

कपिल पाटिल ने यह भी कहा कि मोदी आलू और प्याज के दाम नीचे लाने के लिए प्रधानमंत्री नहीं बने हैं। उन्होंने कहा कि लोग किचन से जुड़े सामान जैसे प्याज के दाम बढ़ने की शिकायत करते हैं, लेकिन पिज्जा और मटन खरीदने से नहीं हिचकते हैं। पाटिल ने कहा कि लोग 700 रुपये में मटन और 500-600 रुपये में पिज्जा खरीद सकते हैं, लेकिन "10 रुपये का प्याज और 40 रुपये का टमाटर हमें भारी लगता है।

जरूरी चीजों के मूल्य में वृद्धि का कोई समर्थन नहीं करेगा

ठाणे जिले की भिवंडी सीट से सांसद पाटिल ने साथ ही कहा कि जरूरी चीजों के मूल्य में वृद्धि का कोई समर्थन नहीं करेगा। एक व्याख्यान में उन्होंने कहा, ‘‘सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ही देश के लिए कुछ उपलब्धियां हासिल कर सकते हैं। प्रधानमंत्री मोदी को देश का नेतृत्व करते रहना चाहिए क्योंकि उन्होंने सीएए (संशोधित नागरिकता कानून लानू में), संविधान के अनुच्छेद 370 और 35ए आदि के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने का काम किया है।  

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़