असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक,आर्थिक सुरक्षा योजनाओं से जोड़ा जाए: योगी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 24, 2020   09:19
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक,आर्थिक सुरक्षा योजनाओं से जोड़ा जाए: योगी

असंगठित क्षेत्र के मजदूरोंको सामाजिक, आर्थिक सुरक्षा के साथ जोड़ने का व्यापक अभियान चलाया जाए। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ बुधवार को यहां ‘उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग’ की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘मिशन रोजगार अभियान’ के तहत प्रत्येक जनपद में जिला सेवायोजन कार्यालय को केन्द्र में रखते हुए असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को व्यापक स्तर पररोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि एमएसएमई सेक्टर और ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना की तर्ज पर असंगठित कामगारों/श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए। असंगठित क्षेत्र के मजदूरोंको सामाजिक, आर्थिक सुरक्षा के साथ जोड़ने का व्यापक अभियान चलाया जाए। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ बुधवार को यहां ‘उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग’ की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि संगठित क्षेत्र के साथ-साथ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा उपलब्ध कराना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जनपद स्तर पर इन कार्यों के सम्बन्ध में निरन्तर कार्यवाही हो और जनपद स्तर पर रोजगार मेलों व लोन मेलों को आयोजित किए जायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोजगार उपलब्ध कराने में सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्वम (एमएसएमई) क्षेत्र सहित ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना, ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना’ जैसी योजनाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। एम0एस0एम0ई0 सेक्टर की पूर्व स्थापित तथा नवीन इकाइयों को अब तक लगभग 31,000 करोड़ रुपए का ऋण उपलब्ध कराया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।