UP के मंत्री का बयान, JNU में चलता है सेक्स स्कैंडल, राहुल गांधी-दीपिका पादुकोण भी जाते हैं

UP के मंत्री का बयान, JNU में चलता है सेक्स स्कैंडल, राहुल गांधी-दीपिका पादुकोण भी जाते हैं

इतना ही नहीं, यूपी के मंत्री ने तो यह भी कह दिया कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हिंदू छात्रों के लिए उर्दू अनिवार्य नहीं होनी चाहिए। हिंदू छात्र हिंदी जानते हैं और हिंदी में पढ़ाई होनी चाहिए।

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने है। ऐसे में नेताओं के बयान भी आने शुरू हो गए हैं। इन सबके बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में राज्य मंत्री ठाकुर रघुराज सिंह का एक बयान खूब वायरल हो रहा है। रघुराज सिंह ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी को लेकर विवादित बयान दे दिया है जिस पर आने वाले दिनों में राजनीति गर्म हो सकती है। इतना ही नहीं, जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के साथ-साथ उन्होंने राहुल गांधी और दीपिका पादुकोण को लेकर भी अजीबोगरीब बयान दिया है। 

इसे भी पढ़ें: JNU में लड़कियों को लड़कों से दूर रहने वाले फरमान पर बवाल, विवाद बढ़ने पर सर्कुलर की भाषा में किया बदलाव

अपने बयान में रघुराज सिंह ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में बड़े-बड़े लोग जाते हैं और वहां सेक्स स्कैंडल खुल्लम-खुल्ला चलता है। उन्होंने आगे कहा कि जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ने सारे कम्युनिस्ट पाले हैं, सारे देश विरोधी पाले हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वहां देश विरोधी सेक्स स्कैंडल चलता है जिसमें राहुल गांधी और दीपिका पादुकोण जैसे बड़े-बड़े लोग शामिल होते हैं। वहां देश विरोधी लोग इकट्ठा होते हैं। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि आने वाले समय में हम इन देश विरोधी ताकतों को कुचल देंगे। 

इसे भी पढ़ें: JNU में जमकर हुई नारेबाजी, बाबरी मस्जिद बनाने की उठी मांग, छात्र संघ ने कहा- यह इंसाफ की लड़ाई है

इतना ही नहीं, यूपी के मंत्री ने तो यह भी कह दिया कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हिंदू छात्रों के लिए उर्दू अनिवार्य नहीं होनी चाहिए। हिंदू छात्र हिंदी जानते हैं और हिंदी में पढ़ाई होनी चाहिए। हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब रघुराज सिंह ने विवादित बयान दिया है। इससे पहले भी उन्होंने कई ऐसे बयान दिए हैं जिस पर विवाद हुए हैं। उन्होंने मदरसों को लेकर भी बयान दिया था और कहा था कि भगवान ने अगर मौका दिया तो देश में चल रहे सारे मदरसों को बंद करा दूंगा। मदरसे को उन्होंने आतंकवादियों का अड्डा बताया था। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।