उत्तर प्रदेश भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार का कोरोना वायरस संक्रमण से निधन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2021   19:18
उत्तर प्रदेश भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार का कोरोना वायरस संक्रमण से निधन

बरेली जिले के नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार का बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण से निधन हो गया। वह 64 वर्ष के थे। गंगवार के परिवार के सूत्रों ने बताया कि वह पिछले कई दिनों से नोएडा स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज करा रहे थे जहां उनका निधन हो गया।

बरेली (उत्तर प्रदेश), बरेली जिले के नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक केसर सिंह गंगवार का बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण से निधन हो गया। वह 64 वर्ष के थे। गंगवार के परिवार के सूत्रों ने बताया कि वह पिछले कई दिनों से नोएडा स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज करा रहे थे जहां उनका निधन हो गया। हाल ही में वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। गंगवार के परिवार में पत्नी, तीन बेटियां और एक बेटा है। गंगवार वर्ष 2009 में बसपा से विधान परिषद के लिए चुने गए थे और वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में वह भाजपा में शामिल हो गए थे।

इसे भी पढ़ें: सीरम इंस्टीट्यूट ने राज्यों के लिए कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत घटाई, अदार पूनावाला ने किया एलान

पार्टी ने उन्हें नवाबगंज सीट से टिकट दिया था जिस पर उन्होंने जीत दर्ज की थी। इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंगवार के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजन के प्रति संवेदना प्रकट की। इसके अलावा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने भी गंगवार के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है।

इसे भी पढ़ें: SC को सूचित किया गया, केंद्र पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर प्रतिबंध लगाने की प्रक्रिया में है

केसर सिंह गंगवार भाजपा के ऐसे तीसरे विधायक हैं जिनका कोविड-19 की दूसरी लहर में निधन हुआ है। इससे पहले हाल ही में औरैया से भाजपा विधायक रमेश दिवाकर और लखनऊ पश्चिम से पार्टी विधायक सुरेश श्रीवास्तव का कोरोना से निधन हो चुका है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।