क्या हरीश रावत के साथ हैं कांग्रेस कार्यकर्ता ? रामनगर से चुनाव लड़ना कहीं पड़ ना जाए भारी

Harish Rawat
प्रतिरूप फोटो
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि रामनगर मेरे लिए गुरु स्थल है यहीं से मैंने राजनीति सीखी और जो कुछ सीखा उसके आधार पर मैं रामनगर और इससे सटे हुए क्षेत्र के लिए कुछ बेहतर कर सकूं। हम रोजगार देने वाली और महंगाई पर नियंत्रण करने वाली सरकार बनाएंगे।

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी कमर कस ली है। कांग्रेस समेत तमाम दलों ने उम्मीदवारों की सूची भी जारी कर दी है। ऐसे में कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को रामनगर विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतारने का निर्णय लिया है। बीते दिनों कांग्रेस ने 11 और उम्मीदवारों की सूची जारी की। इस सूची के साथ पार्टी 64 उम्मीदवारों के नाम घोषित कर चुकी है। ऐसे में अब कांग्रेस को छह और सीटों पर उम्मीदवार घोषित करने हैं। 

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड में कई सीटों पर रोचक संघर्ष की संभावना, किसकी होगी जीत? 

रामनगर से सीखी है राजनीति

इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रामनगर से चुनाव लड़ने पर कहा कि यह मेरा गुरु स्थल है और मैंने यहीं से राजनीति सीखी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक हरीश रावत ने कहा कि रामनगर मेरे लिए गुरु स्थल है यहीं से मैंने राजनीति सीखी और जो कुछ सीखा उसके आधार पर मैं रामनगर और इससे सटे हुए क्षेत्र के लिए कुछ बेहतर कर सकूं। हम रोजगार देने वाली और महंगाई पर नियंत्रण करने वाली सरकार बनाएंगे।

ऑडियो हुआ वायरल

इससे पहले एक ऑडियो वायरल हुआ था जिसमें हरीश रावत और पार्टी के एक स्थानीय नेता के बीच की बातचीत थी। इस वायरल ऑडियो में कथित रूप से कांग्रेस का एक स्थानीय नेता रामनगर सीट पर हरीश रावत के धुर विरोधी रणजीत रावत की दावेदारी को उनसे मजबूत बता रहा है। वायरल आडियो में हरीश रावत कथित तौर पर स्वयं रामनगर से चुनाव लड़ने की बात कह रहे हैं जिसके जवाब में नेता कह रहा है कि वह हर तरीके से रणजीत सिंह रावत के साथ है और उसके लिए कांग्रेस का मतलब वे ही हैं। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस का बड़ा ऐलान, उत्तराखंड में सरकार बनने पर पूरे करेंगे 4 वादे, गैस के दाम नहीं होंगे 500 के पार 

हरीश रावत के करीबी रहे रणजीत रावत फिलहाल उनके विरोधियों की सूची में शामिल किए जाते हैं। इतना ही नहीं वर्तमान में वो प्रदेश कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष भी हैं और उन्होंने कुमांउ की रामनगर सीट से अपनी दावेदारी पेश की थी लेकिन पार्टी ने हरीश रावत को यहां से चुनावी मैदान में उतारने का निर्णय लिया है। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि क्या कांग्रेस कार्यकर्ता हरीश रावत का साथ देंगे ? हालांकि हरीश रावत का कहना है कि रामनगर की जनता उन्हें आशीर्वाद देगी। वहीं उन्होंने बताया कि सल्ट से रणजीत रावत को पार्टी टिकट दे सकती है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़