PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को मिला गंगा किनारे बसे सबसे स्वच्छ शहर का खिताब

PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को मिला गंगा किनारे बसे सबसे स्वच्छ शहर का खिताब

केंद्र सरकार के वार्षिक सर्वेक्षण 2020 के अनुसार गंगा किनारे बसे सबसे स्वच्छ शहरों में सबसे शीर्ष स्थान वाराणसी का था। इतिहास से भी पुराना एवं सबसे पवित्र शहर वाराणसी को गंगा नदी के किनारे बसे सबसे साफ शहर बनाने में सबसे ज्यादा योगदान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रहा है।

वाराणासी। हम सबके लिए यह बहुत ही गर्व की बात है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को देश में गंगा किनारे बसा सबसे स्वच्छ शहर का खिताब प्राप्त हुआ है। आपको बता दें कि यह लगातार दूसरी बार है जब सबसे स्वच्छ शहर के लिए वाराणसी को चुना गया है। इससे पहले केंद्र सरकार के वार्षिक सर्वेक्षण 2020 के अनुसार गंगा किनारे बसे सबसे स्वच्छ शहरों में सबसे शीर्ष स्थान वाराणसी का था। इतिहास से भी पुराना एवं सबसे पवित्र शहर वाराणसी को गंगा नदी के किनारे बसे सबसे साफ शहर बनाने में सबसे ज्यादा योगदान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रहा है। 

इसे भी पढ़ें: काशी उत्सव के दूसरे दिन पधारे दिग्गजों ने लगाए उत्सव में चार चांद 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र में बसी गंगा के अस्सी घाट से स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की थी। जिसके बाद से गंगा। के 84 घाटों की सफाई बहुत तेज रफ्तार से बेहतर होती चली गई और इन्हीं सबका का नतीजा ये है कि आज वाराणसी को यह पुरस्कार मिला है। गार्बेज फ्री सिटी और सफाई मित्र चैलेंज की श्रेणी में उल्लेखनीय योगदान के लिए नई दिल्ली के विज्ञान भवन में शनिवार को वाराणसी नगर निगम को राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इस सम्मान को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा दिया जाएगा। पुरस्कार लेने के लिए महापौर मृदुला जायसवाल नई दिल्ली पहुंच गई हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।