पंचायत चुनाव के तीसरे दौर के लिए मतदान जारी, 3 लाख ज्यादा उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2021   08:53
पंचायत चुनाव के तीसरे दौर के लिए मतदान जारी, 3 लाख ज्यादा उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला

उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तीसरे चरण का मतदान सोमवार को हो रहा है। इस दौर में 20 जिलों की 2.14 लाख से अधिक सीटों पर 3.52 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तीसरे चरण का मतदान सोमवार को हो रहा है। इस दौर में 20 जिलों की 2.14 लाख से अधिक सीटों पर 3.52 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा। राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक होगा। इस दौरान राज्य के 20 जिलों में 49,789 मतदान बूथों पर तीन करोड़ पांच लाख 71 हजार 613 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में अभी भी ऑक्सीजन की कमी, अधिकारी का बयान-आवश्यकता से कम मिल रही हैं

तीसरे चरण में अमेठी, उन्नाव, औरैया, कानपुर देहात, कासगंज, चंदौली, जालौन, देवरिया, पीलीभीत, फतेहपुर, फिरोजाबाद, बलरामपुर, बलिया, बाराबंकी,मेरठ, मुरादाबाद, मिर्जापुर, शामली, सिद्धार्थनगर तथा हमीरपुर में मतदान होगा। राज्‍य निर्वाचन आयोग के आयुक्त मनोज कुमार ने सभी संबंधित जिलों के जिला निर्वाचन अधिकारियों सहित निर्वाचन से जुड़े सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि ऐसी बेहतर व्यवस्था कराई जाए कि किसी भी मतदान केंद्र पर पुनर्मतदान की स्थिति न आने पाए। उत्तर प्रदेश में चार चरणों में पंचायत चुनाव होने हैं जिसमें दो लाख सात हजार से ज्यादा मतदान कर्मियों को तैनात किया गया है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में पीएम केयर्स कोष से आठ ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित किए जा रहे: सूत्र

आयोग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक तीसरे चरण में जिला पंचायत सदस्य की 746 सीटों के लिए 10,416 उम्मीदवार, क्षेत्र पंचायत सदस्य की 18,530 सीटों के लिए 88584 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान की 14,379 सीटों के लिए 1,16,162 उम्मीदवार तथा ग्राम पंचायत वार्ड की 1,80,473 सीटों के लिए 57,649 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। ये उम्मीदवार राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए प्रतीक चिन्ह पर चुनाव लड़ेंगे। आयोग के अनुसार 15 अप्रैल को पहले चरण में 71 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि 19 अप्रैल को चरण के मतदान में भी 71 प्रतिशत से अधिक वोट पड़े थे। गौरतलब है कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को 25 मई तक पंचायत चुनाव की प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने मार्च में निर्देश दिए थे कि पंचायत चुनाव के दौरान अधिकतम पांच लोग ही घर-घर जाकर प्रचार कर सकते हैं। राज्य के उप चुनाव आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने बताया अपर जिला अधिकारियों की अगुवाई में तीन सदस्य समितियां गठित की गई हैं जो आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगी। मतदान के दौरान भी कोविड-19 संबंधी प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाएगा। मतदान केंद्रों के बाहर मतदाताओं के खड़े होने के लिए छह-छह फीट की दूरी पर घेरे बनाए गए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।