किसान नेता ने शर्तों के साथ रैली निकालने की बात को किया नामंजूर, कहा- पुलिस के साथ वार्ता में तय होगा समय

किसान नेता ने शर्तों के साथ रैली निकालने की बात को किया नामंजूर, कहा- पुलिस के साथ वार्ता में तय होगा समय

किसान मजदूर संघर्ष समिति सुखविंदर सिंह साबरा ने कहा कि हमें लगता है कि ट्रैक्टर रैली के लिए हमें जिस तरह की अनुमति दी गई है वह सही नहीं है। हम पुरानी रिंग रोड पर जाना चाहते थे, लेकिन हमें सशर्त अनुमति दी गई और उस हिस्से को सौंपा गया जो बड़े पैमाने पर हरियाणा के अंतर्गत आता है।

नयी दिल्ली। केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर करीब दो महीने से किसानों का प्रदर्शन जारी है। किसान संगठनों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया है। इस आयोजन से पहले किसान मजदूर संघर्ष समिति सुखविंदर सिंह साबरा का बड़ा बयान सामने आया है। किसान-पुलिस वार्ता के विषय में बातचीत करते हुए साबरा ने बताया कि हमें लगता है कि ट्रैक्टर रैली के लिए हमें जिस तरह की अनुमति दी गई है वह सही नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: शांतिपूर्ण होगी ट्रैक्टर रैली, किसान नेताओं ने इस संबंध में जारी किए निर्देश, बोले- किसी के पास नहीं होने चाहिए हथियार  

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सुखविंदर सिंह साबरा ने कहा कि हमें लगता है कि ट्रैक्टर रैली के लिए हमें जिस तरह की अनुमति दी गई है वह सही नहीं है। हम पुरानी रिंग रोड पर जाना चाहते थे, लेकिन हमें सशर्त अनुमति दी गई और उस हिस्से को सौंपा गया जो बड़े पैमाने पर हरियाणा के अंतर्गत आता है।

उन्होंने कहा कि शर्तों के साथ रैली निकालने की बात को हम नामंजूर करते हैं। सुबह 10 बजे हमारी पुलिस के साथ बैठक है उसमें तय किया जाएगा कि कौन से रूट पर रैली निकालनी है और कितने बजे रैली निकालनी है। 12 बजे रैली निकालने का कोई तुक नहीं बनता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।