हम इंसेफेलाइटिस के खात्मे की दहलीज पर, दो साल में हो जाएगा उन्मूलन : योगी आदित्यनाथ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 30, 2020   17:37
हम इंसेफेलाइटिस के खात्मे की दहलीज पर, दो साल में हो जाएगा उन्मूलन : योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि इंसेफेलाइटिस के खिलाफ जंग अब अंतिम चरण में है और पिछले तीन साल की ही तरह उन्मूलन के प्रयास जारी रहे तो दो साल के अंदर गोरखपुर मंडल से इस बीमारी का खात्मा हो जाएगा।

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि इंसेफेलाइटिस के खिलाफ जंग अब अंतिम चरण में है और पिछले तीन साल की ही तरह उन्मूलन के प्रयास जारी रहे तो दो साल के अंदर गोरखपुर मंडल से इस बीमारी का खात्मा हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा करते हुए कहा कि पिछले करीब 40 साल से पूर्वांचल में प्रतिवर्ष सैकड़ों बच्चों की जान लेने वाली इंसेफेलाइटिस की बीमारी के खिलाफ विगत तीन साल के दौरान निर्णायक जंग लड़ी गई है और इस वक्त यह लड़ाई अपने अंतिम दौर में है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन साल के दौरान किए गए प्रयास अगर जारी रहे तो अगले दो साल में गोरखपुर-बस्ती मंडल से इंसेफेलाइटिस का नामो निशान मिट जाएगा।

इसे भी पढ़ें: योगी सरकार ने फिर किया फेरबदल, अब चार IPS अधिकारियों का हुआ तबादला

योगी ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश कोविड-19 महामारी से भी इसी तत्परता से लड़ेगा। उन्होंने दावा किया के उत्तर प्रदेश में देश के अन्य राज्यों के मुकाबले ज्यादा संख्या में जांच हो रही है, लेकिन यहां कोविड-19मरीजों की संख्या आबादी के हिसाब से सबसे कम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान ने कोरोना वायरस से संक्रमण तथा अन्य संक्रामक बीमारियों के विस्तार पर अंकुश लगाने में खासी भूमिका निभाई है।

इसे भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ ने जेईई और नीट परीक्षा के आयोजन का किया समर्थन, कही यह अहम बात

योगी ने राज्य के पूर्वी हिस्सों में इंसेफेलाइटिस तथा अन्य संचारी रोगों से संबंधित आंकड़े जारी करते हुए कहा कि वर्ष 2016 के बाद से अब तक इंसेफेलाइटिस से होने वाली मौतों में 90 से 95% तक की गिरावट हुई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम के 816 मरीजों में से 34 की मौत हुई जबकि 2020 में 396 में से 12 रोगियों की मृत्यु हुई। उन्होंने एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम तथा जापानी इंसेफेलाइटिस के जिलेवार आंकड़े पेश करते हुए कहा कि गोरखपुर, कुशीनगर, महराजगंज और देवरिया में इन रोगों से पीड़ित लोगों तथा मौतों की संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।