मेरठ में 1 अप्रैल से 2015 रुपए प्रति कुंतल मूल्य पर किसानों से के 38 केंद्रों पर खरीदा जाएगा गेंहू

मेरठ में 1 अप्रैल से 2015 रुपए प्रति कुंतल मूल्य पर किसानों से के 38 केंद्रों पर खरीदा जाएगा गेंहू

मेरठ सहित पूरे उत्तर प्रदेश में 1 अप्रैल से गेंहू की सरकारी खरीद शुरू हो रही है। मेरठ में गेंहू खरीद के लिए 38 क्रय केंद्र बनाए गए हैं। जहां किसानों से सरकार द्वारा गेंहू खरीदा जाएगा। किसानों से 2015 रुपए प्रति कुंतल की दर से गेंहू की खरीदी की जाएगी।

मेरठ सहित पूरे उत्तर प्रदेश में 1 अप्रैल से गेंहू की सरकारी खरीद शुरू हो रही है। मेरठ में गेंहू खरीद के लिए 38 क्रय केंद्र बनाए गए हैं। जहां किसानों से सरकार द्वारा गेंहू खरीदा जाएगा। किसानों से 2015 रुपए प्रति कुंतल की दर से गेंहू की खरीदी की जाएगी। खाद्य रसद विपणन विभाग ने जिले में गेंहू खरीद की तैयारी पूरी कर ली है। पोर्टल पर खरीद के लिए पंजीकरण भी हो रहा है। 1 अप्रैल से 15 जून तक गेंहू खरीद होगी।

मेरठ के जिला खाद्य विपणन अधिकारी सतेंद्र कुमार सिंह के अनुसार रबी फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य के अनुसार इस साल गेंहू की खरीद 2015 रुपए प्रति कुंतल पर होना है, जो सरकार ने तय किया है। 15मार्च से पोर्टल खुला हुआ है जहां पंजीकरण कराया जा सकता है। पिछले साल से 40 रुपए प्रति कुंतल की वृद्धि गेंहू खरीद के दामों में प्रति कुंतल पर हुई है, इसका फायदा किसानों को होगा। हमने किसानों से अपील की है कि छानकर ही गेंहू क्रय केंद्र पर लाएं। कृषि विभाग के अनुसार देखें तो मेरठ जिले में गेंहू का रकबा 87 हजार हेक्टेयर है। इसमें गेंहू का उत्पादन का अनुमान 48.98 कुंतल प्रति हेक्टेयर होता है। गेंहू खरीद के लिए किसानों का पंजीकरण ई-उपार्जन र 15 मार्च से ऑनलाइन ही पोर्टल पर चल रहा है। गेंहू खरीद नियंत्रित रूप से करने के लिए जिला प्रशासन ने एडीएमई को प्रभारी अधिकारी बनाया है। किसान किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर एडीएमई से 9454416681 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। सभी 38 गेंहू क्रय केंद्रों पर स्टाफ, कंप्यूटर, ई पॉप मशीन के जरिए खरीद की जाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।