जब हमारे साथ गठबंधन में थे, तब भाजपा ने साख पर सवाल नहीं उठाया: महबूबा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2018   18:56
जब हमारे साथ गठबंधन में थे, तब भाजपा ने साख पर सवाल नहीं उठाया: महबूबा

पीडीपी की राष्ट्रवादी छवि पर कटाक्ष करने को लेकर भाजपा पर सवाल उठाते हुए मुफ्ती ने देश के राजनीतिक संवाद में कमी आने पर दुख प्रकट किया।

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बृहस्पतिवार को भाजपा पर उसके इस आरोप को लेकर निशाना साधा कि क्षेत्रीय दल पाकिस्तान के इशारे पर काम कर रहे हैं।महबूबा ने कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की साख पर उस समय सवाल नहीं उठाया गया जब उनका भाजपा से गठबंधन था। महबूबा ने यह टिप्पणी भाजपा के महासचिव राम माधव के इस आरोप के बाद की कि पीडीपी और एनसी ने पाकिस्तान के निर्देश पर राज्य में स्थानीय निकाय चुनावों का बहिष्कार किया था।

हालांकि भाजपा नेता ने एनसी नेता उमर अब्दुल्ला की आरोप साबित करने की चुनौती के बाद अपने शब्द वापस ले लिये। पीडीपी प्रमुख मुफ्ती ने कई ट्वीट करके कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर के मुख्यधारा के दलों के खिलाफ राममाधव जी द्वारा पाकिस्तान के निर्देशों का पालन करने संबंधी बेबुनियाद आरोप देखकर हैरान हूं।’’ बुधवार को पीडीपी ने एनसी और कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश किया लेकिन उनके प्रयास नाकाम रहे और राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने 19 जून से निलंबित चल रही विधानसभा को भंग करने का फैसला किया। पीडीपी की राष्ट्रवादी छवि पर कटाक्ष करने को लेकर भाजपा पर सवाल उठाते हुए मुफ्ती ने देश के राजनीतिक संवाद में कमी आने पर दुख प्रकट किया।

उन्होंने कहा, ‘‘यह देखकर दुख हुआ कि हमारे देश का राजनीतिक संवाद कितना नीचे आ गया है। कोई किसी पार्टी की राष्ट्रवादी छवि को परिभाषित कैसे करता है? राष्ट्रवादी और देशभक्त केवल तब जब आप केन्द्र के साथ हैं, वरना आप पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित और गैरराष्ट्रवादी हैं?’’ मुफ्ती ने कहा कि जम्मू कश्मीर के सभी मुख्यधारा के दलों ने ‘‘देश और राज्य की जनता के बीच मौजूद विश्वास की कमी’’ को दूर करने के लिए ‘‘बहुत बड़ा जोखिम’’ लिया और यह अजीब स्थिति है कि जब एनसी या पीडीपी का भाजपा से गठबंधन था तो उनकी साख पर सवाल नहीं उठे।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘पीडीपी और एनसी दोनों कभी न कभी भाजपा के गठबंधन सहयोगी रहे हैं। अजीब है कि तब हमारी साख पर सवाल नहीं उठे। लेकिन चूंकि हमारे विधायकों में दल-बदल के आपके (भाजपा) नाकाम प्रयासों का सामना करने के लिए पर्याप्त ईमानदारी थी, अब वे गैरराष्ट्रवादी हो गये?’’।पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत एक महान देश है और लोकतंत्र विचारों की जंग है तथा ‘‘इन संस्थानों और जनता का मजाक मत बनाइए।’’।उन्होंने कहा, ‘‘हमने इस घातक मानसिकता को बदलने के लिए भाजपा के साथ गठबंधन किया था। निसंदेह पाकिस्तान का जम्मू कश्मीर की स्थिति पर असर होता है। लेकिन इसको नकारात्मक से सकारात्मक में बदलना और (पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी) वाजपेयी जी द्वारा अपनाए गए रास्ते पर आगे बढना हमारे देश के ऊपर है।’’।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...