भोपाल के थोक व्यापारी संघ का निर्णय, अगर वैक्सीन नहीं तो किराने का सामान नहीं

भोपाल के थोक व्यापारी संघ का निर्णय, अगर वैक्सीन नहीं तो किराने का सामान नहीं

भोपाल किराना व्यापारी महासंघ के महासचिव अनुपम अग्रवाल ने कहा कि पुराने भोपाल शहर के थोक किराना बाजार में अनिवार्य रूप से काम करने वाले कर्मचारियों, मजदूरों को करोना वैक्सीन के दोनों डोज लगवाना अनिवार्य कर दिया है।

भोपाल। राजधानी भोपाल के थोक किराना व्यापारियों ने कोरोना ने बढ़ते मामलों को लेकर एक बड़ा निर्णय लिया है। थोक किराना बाजार जुमेराती हनुमानगंज में ग्राहक को सामान खरीदने के लिए वैक्सीन के दोनों लगवाना जरूरी कर दिया है। और अब बिना मास्क नही मिलेगा प्रवेश भी नहीं मिलेगा।

आपको बता दें कि भोपाल किराना व्यापारी महासंघ के महासचिव अनुपम अग्रवाल ने कहा कि पुराने भोपाल शहर के थोक किराना बाजार में अनिवार्य रूप से काम करने वाले कर्मचारियों, मजदूरों को करोना वैक्सीन के दोनों डोज लगवाना अनिवार्य कर दिया है। इसके साथ ही सभी कर्मचारियों से लेकर व्यापारी तक मास्क पहन कर रहना अनिवार्य कर दिया है।

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से कोरोना पॉजिटिव के आंकड़ों में बढ़ोतरी हुई है। भोपाल और इंदौर शहरों में सबसे ज्यादा केस मिल रहे हैं। नए वैरिएंट ओमिक्रोन का खतरा भी ज्यादा बढ़ रहा है। इसे रोकने के लिए अभी से प्रयास और सावधानी बरतना जरूरी है।

आपको बता दें कि बीते 13 दिन में 200 केस आए हैं। भोपाल में 87 मामले अब तक है। इंदौर 72 केस मिले। रायसेन में 12, जबलपुर में 8 और होशंगाबाद, अशोकनगर, नरसिंहपुर और बैतूल में 1-1 केस शामिल हैं। फिलहाल प्रदेश में 128 एक्टिव केस हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।