क्या बिहार में होगा 5 डिप्टी CM? जाति और धर्म को आगे कर कांग्रेस ने ऐसे फंसाया महागठबंधन की सरकार में नया पेंच

Bihar
ANI
अभिनय आकाश । Aug 12, 2022 5:01PM
बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कहा है कि पिछड़ा, अति पिछड़ा, अनुसूचित जाति, मुस्लिम और सवर्ण से एक-एक उप मुख्यमंत्री बनाए जाने चाहिए।

बिहार के महागठबंधन सरकार में नया पेंच फंस गया है। कांग्रेस की तरफ से राज्य में पांच उपमुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की गई है। बिहार के पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की तरफ से ये मांग उठाई गई है। उनका कहना है कि जाति, धर्म के आधार पर हिस्सेदारी जरूरी है। इसलिए बिहार में एक नहीं बल्कि पांच डिप्टी सीएम होने चाहिए। इसको लेकर उन्होंने अपना फॉर्मूला भी दिया है। बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कहा है कि पिछड़ा, अति पिछड़ा, अनुसूचित जाति, मुस्लिम और सवर्ण से एक-एक उप मुख्यमंत्री बनाए जाने चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: NDA के साथ नाता तोड़ने पर खुलकर बोले नीतीश कुमार, हमारे लोगों को भाजपा ने हराया, पार्टी नेताओं ने हमको दी थी जानकारी

एकमात्र यादव कांग्रेसी विधायक होने के नाम पर मंत्री पद की मांग पहले ही की जा चुकी है। बिहार में कांग्रेस के विधायक छत्रपति यादव ने पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को लेटर लिखकर अपनी जाति बताते हुए मंत्री पद मांगा है। कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजित शर्मा ने नई सरकार में कम से कम चार मंत्री पद की मांग की है। फिलहाल कांग्रेस को चार मंत्री या फिर तीन मंत्री पद और एक स्पीकर का पद दिए जाने की चर्चा है। 

इसे भी पढ़ें: बिहार में नई सरकार, BJP का नीतीश पर वार, प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा- राजद-जेडीयू के साथ आने से अपराध बढ़ा

बिहार में नई सरकार बन गई। नीतीश कुमार ने सीएम पद की और तेजस्वी यादव ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ भी ले ली। लेकिन मंत्रालय पर अभी भी पेंच फंसा हुआ है। गृह मंत्रालय को लेकर मामला अभी भी फंसा हुआ है। यही बड़ा चेंज बताया जा रहा था। पिछली बार जब नीतीश और तेजस्वी साथ थे तो नीतीश कुमार के पास गृह मंत्रालय था। लेकिन इस बार कहा ये जा रहा है कि तेजस्वी गृह मंत्रालय का जिम्मा संभालना चाहते हैं। तेज प्रताप यादव पिछली बार की तरफ इस बार भी स्वास्थ्य मंत्रालय चाहते हैं। लेकिन उनको ये मिल पाएगी या नहीं इस पर संशय बना हुआ है। तेजस्वी इस बार स्वास्थ्य मंत्रालय किसी अनुभवी नेता को दिए जाने की बात कहते नजर आए। जीतन राम मांझी की हम ने 2 मंत्री पद की मांग की है। लेकिन फिलहाल 2015 के फॉर्मूले पर ही महागठबंधन में बात बन सकती है। 

अन्य न्यूज़