लखीमपुर खीरी की घटना में शामिल दोषियों को बेनकाब करेगी सरकार : योगी आदित्यनाथ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 4, 2021   08:42
लखीमपुर खीरी की घटना में शामिल दोषियों को बेनकाब करेगी सरकार : योगी आदित्यनाथ
प्रतिरूप फोटो

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को भरोसा दिलाया कि किसी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले मौके पर हो रही जांच तथा कार्यवाही का इंतजार करें। शासन द्वारा भेजे गये अपर मुख्‍य सचिव नियुक्ति, कार्मिक एवं कृषि, अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था), आयुक्त लखनऊ और पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ मौके पर मौजूद हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने लखीमपुर खीरी की घटना पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और सरकार इसके कारणों का पता लगाएगी और इसमें शामिल तत्वों को बेनकाब कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करेगी।

सरकार द्वारा रविवार की देर शाम जारी बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि घटना में संलिप्त व्यक्ति के खिलाफ सरकार सख्त कार्यवाही करेगी। उन्होंने क्षेत्र के सभी लोगों से अपील की है कि वे अपने घरों पर ही रहें और किसी के बहकावे में न आएं।

इसे भी पढ़ें: किसानों का भेष धरकर आंदोलन करने वाले कभी कामयाब नहीं होंगे - दिनेश शर्मा

उन्होंने लोगों से मौके पर शांति-व्यवस्था कायम रखने में योगदान देने का आह्वान किया है। योगी ने भरोसा दिलाया कि किसी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले मौके पर हो रही जांच तथा कार्यवाही का इंतजार करें। शासन द्वारा भेजे गये अपर मुख्‍य सचिव नियुक्ति, कार्मिक एवं कृषि, अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था), आयुक्त लखनऊ और पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ मौके पर मौजूद हैं।

अधिकारी स्थिति को नियंत्रण में रखते हुए घटना के कारणों की गहराई से जांच कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के खिलाफ रविवार को प्रदर्शन कर रहे केंद्र के कृषि कानून विरोधियों को कथित तौर पर दो एसयूवी वाहनों से कुचले जाने के बाद हिंसा भड़क गई।

तिकोनिया कोतवाली क्षेत्र के तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर रविवार को हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई। खीरी के जिलाधिकारी डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने तिकोनिया में मीडियाकर्मियों को बताया कि इस घटना में चार किसान और चार अन्य (एसयूवी के अंदर) मारे गए।

इसे भी पढ़ें: खीरी जाने पर अड़ा विपक्ष, पुलिस ने कहा वहां न जाएं

इस घटना को लेकर विपक्षी दलों के शीर्ष नेताओं ने सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधते हुए लखीमपुर खीरी का रुख किया है। संभावना है कि सोमवार को समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस और रालोद समेत राजनीतिक दलों के नेता वहां पहुंचकर पीड़ित किसानों से मुलाकात करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।