योगी सरकार ने बदला आगरा के 'घटिया आजम खां रोड' का नाम, जानें अजब नाम की गजब कहानी

योगी सरकार ने बदला आगरा के 'घटिया आजम खां रोड' का नाम, जानें अजब नाम की गजब कहानी

आगरा के मेयर नवीन जैन ने बताया कि सड़क का नाम बदलने का प्रस्ताव शहीद नगर वार्ड के पार्षद जगदीश पचौरी ने पेश किया और आगरा नगर निगम के 13वें सत्र में इसे स्वीकार कर लिया गया।

आगरा में एक सड़क है जिसका नाम घटिया आजम खान रोड है। यह रोड इन दिनों चर्चा में है क्योंकि इसका नाम अब योगी सरकार में बदल दिया है। घटिया आजम खान रोड का नया नाम विश्व हिंदू परिषद के दिवंगत नेता अशोक सिंघल के नाम पर रखा गया है। दरअसल, 27 सितंबर को अशोक सिंघल के जयंती थी और इस मौके पर सड़क का नाम बदल दिया गया। यानी कि अब यह सड़क घटिया आजम खान के स्थान पर अशोक सिंघल के नाम से जानी जाएगी। सबसे खास बात तो यह भी है कि अशोक सिंघल का जन्म उसी क्षेत्र में हुआ है जिस क्षेत्र में यह सड़क पड़ता है।

इसे भी पढ़ें: जनमत भाजपा के साथ,फिर बनेगी योगी सरकार- भाजपा जिला प्रभारी

राजनीति भी खूब हो रही

आगरा के मेयर नवीन जैन ने बताया कि सड़क का नाम बदलने का प्रस्ताव शहीद नगर वार्ड के पार्षद जगदीश पचौरी ने पेश किया और आगरा नगर निगम के 13वें सत्र में इसे स्वीकार कर लिया गया। जैन ने बताया कि दिवंगत नेता सिंघल का जन्म 27 सितंबर, 1926 को इसी रोड पर स्थित एक मकान में हुआ था। नाम बदले जाने को लेकर विपक्ष हमलावर हो गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हाजी जमीलुद्दीन ने कहा कि यह नाम मिटाने की सियासत हो रही है लेकिन जो लोग नाम मिटा रहे हैं उनको जनता मिटा देगी। वहीं समाजवादी पार्टी के नेता वाजिद निसार ने कहा कि नाम बदलने से जनता के मुद्दों का समाधान हो जा रहा हो तो समझ में भी आता है।

इसे भी पढ़ें: ओवैसी ने चारमीनार को बताया अपने अब्बा की इमारत, मोदी-योगी और राहुल को लेकर कही ये बात

नाम की गजब कहानी

लेकिन घटिया आजम खान नाम को सुनकर आप एक बार को जरूर चौक गए होंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है। यह बहुत कम ही देखने को मिलता है कि किसी नाम के आगे घटिया लिखा हो लेकिन यहां घटिया का जिक्र है। सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि आखिर आजम खान के नाम के सामने घटिया क्यों लिखा गया है? दरअसल, घटिया और आजम खान दोनों अलग-अलग शब्द है। इसमें घटिया शब्द का मतलब बेकार वाला घटिया नहीं है। यह घटिया शब्द घाटी से निकला हुआ है जिसका मतलब निचला इलाका है। यह शब्द देशज रूप लेता गया और धीरे-धीरे घटिया बन गया। यानी कि इसका नाम पहले घाटी आजम खान था लेकिन धीरे-धीरे इसे घटिया आजम खान रोड कहा जाने लगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...