CWG 2022: अचिंता शेउली ने रचा स्वर्णिम इतिहास, फाइनल में पहुंची भारतीय महिला लॉन बॉल्स टीम

achinta sheuli
Twitter
एकता । Aug 01, 2022 8:37PM
अचिंता शेउली ने राष्ट्रमंडल खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत का स्वर्णिम अभियान जारी रखते हुए पुरूषों के 73 किलो वर्ग में नये रिकॉर्ड के साथ बाजी मारकर देश को तीसरा पीला तमगा दिलाया। इसके अलावा भारतीय महिला लॉन बॉल्स टीम ने सोमवार को यहां महिला फोर्स स्पर्धा के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को 16-13 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में अपना एतिहासिक पहला पदक पक्का किया।

अचिंता शेउली ने राष्ट्रमंडल खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत का स्वर्णिम अभियान जारी रखते हुए पुरूषों के 73 किलो वर्ग में नये रिकॉर्ड के साथ बाजी मारकर देश को तीसरा पीला तमगा दिलाया। इसके अलावा भारतीय महिला लॉन बॉल्स टीम ने सोमवार को यहां महिला फोर्स (चार खिलाड़ियों की टीम) स्पर्धा के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को 16-13 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में अपना एतिहासिक पहला पदक पक्का किया।

CWG 2022: अचिंता शेउली ने भारत को दिलाया तीसरा गोल्ड, वेटलिफ्टिंग में शानदार प्रदर्शन

अचिंता शेउली ने राष्ट्रमंडल खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत का स्वर्णिम अभियान जारी रखते हुए पुरूषों के 73 किलो वर्ग में नये रिकॉर्ड के साथ बाजी मारकर देश को तीसरा पीला तमगा दिलाया। इससे पहले तोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चानू और जेरेमी लालरिननुंगा ने भारत को भारोत्तोलन में स्वर्ण दिलाये थे। पश्चिम बंगाल के 21 वर्ष के शेउली ने स्नैच में 143 किलो वजन उठाया जो राष्ट्रमंडल खेलों का नया रिकॉर्ड हैं। उन्होंने क्लीन एवं जर्क में 170 किलो समेत कुल 313 किलो वजन उठाकर राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड अपने नाम किया।

CWG 2022: तैराकी में इतिहास रचने की ओर भारत, श्रीहरि नटराजन ने की फाइनल में एंट्री, जानिए कौन हैं ये

भारतीय तैराक श्रीहरि नटराज ने शुक्रवार को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में पुरुषों की 100 मीटर बैकस्ट्रोक फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है। महज 54.55 सेकेंड के समय के साथ राष्ट्रमंडल खेलों के फाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाले श्रीहरि नटराज भारत के चौथे तैराक बन गए है। यह पहली बार है जब श्रीहरि ने फाइनल के लिए क्वालीफाई किया है और अब बेंगलुरु के श्रीहरि 21 साल की उम्र में टोक्यो ओलंपिक में जगह बनाना चाहते हैं।अब सवाल है कि क्या वह 2010 में दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों में पैरा-तैराकी स्पर्धा में प्रशांत कर्माकर के ऐतिहासिक कांस्य पदक के बाद राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने वाले केवल दूसरे भारतीय तैराक बन सकते हैं?

CWG 2022: मुक्केबाज निकहत जरीन पदक के करीब, शिव थापा और सुमित हुए बाहर

विश्व चैम्पियन मुक्केबाज निकहत जरीन ने रविवार को यहां राष्ट्रमंडल खेलों के महिला लाइटवेट 50 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया जबकि शिव थापा (63.5 किलो) और सुमित कुंडू (75 किलो) राउंड 16 में हारकर बाहर हो गये। जरीन ने आरएससी (रैफरी द्वारा मुकाबला रोकना) से महिलाओं के लाइटवेट वर्ग में मोजांबिक की हेलेना इस्माइल बागाओ पर जीत दर्ज कर अंतिम आठ में जगह बनायी लेकिन थापा को विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता स्कॉटलैंड के रीस लिंच से मिली 1-4 की हार से खेलों से निराशाजनक तरीके से बाहर होना पड़ा।

CWG 2022: साइकिलिंग में मयूरी लुटे महिलाओं की 500 मीटर टाइम ट्रायल फाइनल में 18वें स्थान पर रही

भारत की मयूरी लुटे राष्ट्रमंडल खेलों की साइकिलिंग स्पर्धा में महिलाओं के 500 मीटर टाइम ट्रायल फाइनल में 18वें स्थान पर रही। लुटे ने 36 . 868 सेकंड का समय निकाला और वह 20 साइकिलिस्टों के फाइनल में 18वें स्थान पर रहीं। आस्ट्रेलिया की क्रिस्टीना क्लोनान ने 33 . 234 सेकंड के साथ स्वर्ण पदक जीता। भारत के विश्वजीत सिंह पुरूषों की 15 किलोमीटर स्क्रैच रेस फाइनल पूरी नहीं कर सके। इससे पहले भारत के शीर्ष साइकिलिस्ट रोनाल्डो लेइतोनजैम को पुरुष स्प्रिंट स्पर्धा के प्री क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के मैथ्यू ग्लेट्जर के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।

CWG 2022: भारतीय टेबल टेनिस में नया विवाद, महिलाओं के मैचों में मौजूद रहा पुरुष कोच

भारतीय टेबल टेनिस टीम में फिर से नया विवाद पैदा हो गया है और इस बार यह उसके राष्ट्रमंडल खेलों के अभियान के बीच में सामने आया है। महिला टीम स्पर्धा में मौजूदा चैंपियन के रूप में टूर्नामेंट में भाग ले रहे भारत को क्वार्टर फाइनल में मलेशिया ने उलटफेर का शिकार बनाया। दोनों टीमों में इतना अंतर था मलेशिया के कुछ खिलाड़ी तो विश्व रैंकिंग में भी शामिल नहीं हैं। भारतीय टीम की नामित महिला कोच अनिंदिता चक्रवर्ती नॉकआउट चरण के इस मैच के दौरान अनुपस्थित रही, जिससे कई सवाल उठने लगे। उनके बजाय पुरुष टीम के कोच एस रमन कोर्ट के पास में बैठे हुए थे। भारतीय टेबल टेनिस संघ का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति के एक सदस्य एसडी मुदगिल ने कहा, ‘‘ऐसा नहीं होना चाहिए था।"

लॉन बॉल्स: भारतीय महिला टीम ‘फोर्स’ स्पर्धा के फाइनल में, राष्ट्रमंडल खेलों में पहला पदक पक्का किया

भारतीय महिला लॉन बॉल्स टीम ने सोमवार को यहां महिला फोर्स (चार खिलाड़ियों की टीम) स्पर्धा के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को 16-13 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में अपना एतिहासिक पहला पदक पक्का किया। भारतीय टीम पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में महिला फोर्स प्रारूप के फाइनल में पहुंची है।

राष्ट्रमंडल महिला हॉकी: इंग्लैंड के खिलाफ होगी भारत की असली परीक्षा

भारतीय महिला हॉकी टीम मंगलवार को यहां जब इंग्लैंड से भिड़ेंगी तो उसकी नजरें बदला चुकता करने पर टिकी होंगी जबकि राष्ट्रमंडल खेलों में यह टीम की पहली बड़ी परीक्षा होगी। भारतीय टीम ने पूल ए के अपने शुरुआती दो मैच में घाना पर 5-0 और वेल्स के खिलाफ 3-1 से जीत दर्ज की है लेकिन सविता पूनिया की अगुवाई वाली टीम दबदबे वाला प्रदर्शन करने में नाकाम रही है।

अन्य न्यूज़