• कौन हैं लवलिना बोरगोहेन ? जिनके हौसले को बढ़ाने के लिए असम के मुख्यमंत्री ने 'साइकिल रैली' में लिया हिस्सा

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि मैंने एक सद्भावना अभियान 'गो फॉर ग्लोरी, लवलीना' शुरू किया है। जो आज गुवाहाटी में एक साइकिल रैली के साथ शुरू हुआ।

गुवाहाटी। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने गुवाहाटी में टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने जा रहीं बॉक्सिंग खिलाड़ी लवलिना बोरगोहेन के समर्थन में एक साइकिल रैली में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने बताया कि वे ओलंपिक में पदक जीतें इसलिए हमने उनके लिए साइकिल रैली का आयोजन किया।

उन्होंने कहा कि मैंने एक सद्भावना अभियान 'गो फॉर ग्लोरी, लवलीना' शुरू किया है। जो आज गुवाहाटी में एक साइकिल रैली के साथ शुरू हुआ। इस बीच मुख्यमंत्री ने लवलिना के पिता टिकेन बोर्गोहिन को सम्मानित किया और लोगों से एक साथ आकर लवलीना को प्रोत्साहित करने का आग्रह किया।

आपको बता दें कि प्रदेश की बेटी का हौसला बढ़ाने और उसके प्रति एकजुटता दिखाते हुए सत्तारूढ़ पार्टी और विपक्षी दलों के लोगों ने एकसाथ मिलकर 7 किमी की साइकिल रैली में हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें लवलिना पर गर्व है। जो असम की पहली महिला एथलीट हैं और जिन्होंने ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने बताया कि लवलिना, शिव थापा के बाद बॉक्सिंग में हिस्सा लेने वाली राज्य की दूसरी खिलाड़ी हैं।

कौन हैं लवलिना बोरगोहेन ?

लवलिना बोरगोहेन एक बॉक्सिंग खिलाड़ी हैं। जिनका जन्म असम के गोलाघाट में हुआ। उन्होंने 2018 और 2019 के एइबीए विश्व महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। 65 किलोग्राम वेट कैटेगरी में हिस्सा लेने वाली लवलिना ओलंपिक में हिस्सा लेने वाली प्रदेश की पहली महिला बॉक्सिंग खिलाड़ी हैं और टोक्यो में मेडल जीतने की मजबूत दावेदार बताई जा रही हैं।

इसके अलावा दिल्ली में आयोजित पहले इंडियन ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल हासिल किया और फिर गुवाहाटी में हुए दूसरे इंडियन ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। आपको बता दें कि लवलिना शिव थापा के बाद राज्य की दूसरी बॉक्सिंग खिलाड़ी हैं, जिसने देश का प्रतिनिधित्व किया है।

लवलिना को साल 2020 में अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है। यह अवॉर्ड पाने वाली वह असम की छठी खिलाड़ी हैं। उम्मीद है कि वो इस बार के टोक्यो ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए मेडल हासिल करेंगी। उनके हौसले को बढ़ाने के लिए ही प्रदेश के मुख्यमंत्री ने साइकिल रैली में हिस्सा लिया।