हरमीत और सुतिर्था ने एकल खिताब जीते, शाह-कृत्विका को मिश्रित स्पर्धा का स्वर्ण

Harmeet and Sutirtha
प्रतिरूप फोटो
OrissaPost.com
गुजरात के हरमीत देसाई ने शनिवार को यहां शानदार प्रदर्शन की बदौलत पुरूष एकल टेबल टेनिस स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता जबकि पश्चिम बंगाल की सुतिर्था मुखर्जी ने दबदबे भरी जीत से महिला एकल खिताब अपने नाम किया।

गुजरात के हरमीत देसाई ने शनिवार को यहां शानदार प्रदर्शन की बदौलत पुरूष एकल टेबल टेनिस स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता जबकि पश्चिम बंगाल की सुतिर्था मुखर्जी ने दबदबे भरी जीत से महिला एकल खिताब अपने नाम किया। स्थानीय नायक हरमीत ने फाइनल में हरियाणा के सौम्यजीत घोष को 4-0 से और ओलंपियन सुतिर्था ने महिलाओं के फाइनल में राष्ट्रीय चैम्पियन श्रीजा अकुला को 4-1 से मात दी। सुतिर्था ने इस तरह राष्ट्रीय खेलों का समापन तीन स्वर्ण पदक से किया, उन्होंने महिला एकल के अलावा युगल और टीम स्पर्धा में सोने का पदक जीता।

हरमीत और एक अन्य गुजराती टेबल टेनिस खिलाड़ी मानुष शाह ने दो दो स्वर्ण पदक जीते। गुजरात के पुरूषों ने टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता था। मानुष शाह ने कृत्विका सिन्हा रॉय के साथ मिलकर गुजरात के लिये मिश्रित युगल स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया जिससे खचाखर्च भरे स्टेडियम में दर्शकों ने उनके लिये खड़े होकर तालियां बजायीं। पश्चिम बंगाल टेबल टेनिस स्पर्धा में चैम्पियन रहा, जिसके नाम चार स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक रहे। गुजरात तीन स्वर्ण और तीन रजत पदक से दूसरे जबकि महाराष्ट्र एक रजत और चार कांस्य पदक से तीसरे स्थान पर रहा।

अंतिम दिन हरमीत और सुतिर्था के नाम रहा जो सेमीफाइनल में क्रमश: शीर्ष वरीय जी साथियान और मनिका बत्रा को हराकर उलटफेर करते हुए स्वर्ण पदक मैच में पहुंचे। सात साल पहले केरल में रजत पदक जीतने वाले हरमीत ने पोडियम पर शीर्ष पर पहुंचने का मौका जाया नहीं होने दिया, उन्होंने आक्रामक शुरूआत करते हुए फाइनल में घोष को 11-8, 11-4, 11-7, 11-8 से मात दी। सुतिर्था भी 2022 राष्ट्रमंडल खेलों की मिश्रित युगल चैम्पियन श्रीजा को हराने में इतनी ही आक्रामक रहीं। श्रीजा को मिश्रित युगल फाइनल में भी हार का सामना करना पड़ा जिसमें उन्हें और उनके जोड़ीदार एफआर स्नेहित को शाह और कृत्विका से सीधे गेम में पराजय मिली।

इससे पहले सुतिर्था ने अयहिका के साथ मिलकर महिला युगल फाइनल में कर्नाटक की यशस्विनी घोरपाडे और कुशी वी को सीधे गेम में शिकस्त दी। पश्चिम बंगाल के जीत चंद्रा और रोनित भांजा ने अपने ही राज्य के अर्जुन घोष और अनिर्बान घोष को सीधे गेम में मात देकर पुरूष युगल स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता। इससे पहले हरमीत ने अंतिम चार में साथियान को 4-2 और सुतिर्था ने भी इसी अंतर से मनिका को पराजित किया। शाह और कृत्विका सिन्हा राय ने मिश्रित युगल फाइनल में तेलंगाना की श्रीजा और एफआर स्नेहित पर सीधे गेमों में 11-8, 11-5, 11-6 से जीत दर्ज की। इस स्पर्धा के दोनों कांस्य पदक पश्चिम बंगाल के नाम रहे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़