FIH प्रो लीग के जरिये ओलंपिक तैयारियां शुरू करेगी भारतीय हॉकी टीम

indian-team-to-start-olympic-preparations-through-fih-pro-league
भारतीय हॉकी टीम दुनिया की तीसरे नंबर की टीम नीदरलैंड के खिलाफ खेलेगी। नीदरलैंड के बाद भारत को आठ और नौ फरवरी को विश्व चैम्पियन बेल्जियम से खेलना है। इसके बाद 22 और 23 फरवरी को ऑस्ट्रेलिया से मुकाबला होगा। भारत इसके बाद जर्मनी (25 और 26 अप्रैल) और ब्रिटेन (दो और तीन मई) में खेलेगा।

भुवनेश्वर। भारतीय हॉकी टीम दुनिया की तीसरे नंबर की टीम नीदरलैंड के खिलाफ शनिवार को होने वाले एफआईएच प्रो लीग मुकाबले के जरिये तोक्यो ओलंपिक की अपनी तैयारियों की शुरूआत करेगी। भारत ने पिछली बार प्रो लीग नहीं खेला था लेकिन इस बार उसकी शुरूआत 2019 के प्रो लीग और यूरोपीय चैम्पियनशिप कांस्य पदक विजेता नीदरलैंड से होगी। पहला मैच शनिवार को और दूसरा रविवार को यहां कलिंगा स्टेडियम पर खेला जायेगा। 

इसे भी पढ़ें: न्यूजीलैंड दौरे के लिए भारतीय हॉकी टीम का ऐलान, रानी रामपाल को सौंपी गई बड़ी जिम्मेदारी

दुनिया की शीर्ष टीमों की भागीदारी में‘अपनी सरजमीं पर और बाहर ’आधार पर खेले जा रहे टूर्नामेंट से भारत की ओलंपिक तैयारी पुख्ता होगी। नीदरलैंड के बाद भारत को आठ और नौ फरवरी को विश्व चैम्पियन बेल्जियम से खेलना है। इसके बाद 22 और 23 फरवरी को ऑस्ट्रेलिया से मुकाबला होगा। भारत इसके बाद जर्मनी (25 और 26 अप्रैल) और ब्रिटेन (दो और तीन मई) में खेलेगा। स्वदेश लौटने पर 23 और 24 मई को न्यूजीलैंड से खेलना है और फिर पांच और छह जून को अर्जेंटीना में खेलना होगा। मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली टीम प्रो लीग राउंड राबिन चरण का आखिरी मैच 13 और 14 जून को स्पेन के खिलाफ खेलेगी। 

इसे भी पढ़ें: कैंप ट्रेनिंग का स्तर बढ़ाने पर करेंगे फोकस: कोच शोर्ड मारिन

भारत के मुख्य कोच ग्राहम रीड को इस टूर्नामेंट में मिलने वाली चुनौती का बखूबी इल्म है। नीदरलैंड टीम के पूर्व सहायक कोच रहे रीड को पता है कि उसके खिलाफ कैसा प्रदर्शन करना होगा। नीदरलैंड ने 2018 विश्व कप क्वार्टर फाइनल में भारत को 2.1 से हराया था। दोनों टीमों के बीच पिछले पांच मैचों में से भारत ने चार जीते और एक ड्रा रहा। रीड ने कहा कि वह इस टूर्नामेंट को ओलंपिक तैयारी की शुरूआत के रूप में देख रहे हैं। उन्होंने कहा ,‘‘दमदार शुरूआत जरूरी है। हमारे पहले तीन मैच दुनिया की शीर्ष तीन टीमों के खिलाफ हैं।’’ उन्होंने कहा ,‘‘हम अपना ढांचा दुरूस्त रखने की कोशिश करेंगे। खिलाड़ी अपनी तकनीक को और निखारने उतरेंगे।’’

इसे भी पढ़ें: भारतीय हॉकी में उम्मीद की नयी किरण जगा गया साल 2019

भारत को कलिंगा स्टेडियम पर खेलने का फायदा मिलेगा क्योंकि यहां उसने अनगिनत मैच खेले हैं। इसी मैदान पर पिछले साल नवंबर में एफआईएच क्वालीफायर में रूस को 11 . 3 से हराकर भारत ने ओलंपिक के लिये क्वालीफाई किया। नीदरलैंड के कोच मैक्स कालडास ने कहा ,‘‘भारत के खिलाफ मैच काफी अहम है। भारत के सामने उसकी धरती पर खेलना काफी कठिन है लेकिन हमें भुवनेश्वर में खेलने में मजा आता है। ओलंपिक से पहले खिलाड़ियों को आजमाने का यह सुनहरा मौका है।’’ भारत अपनी पूरी मजबूत टीम उतारेगा जिसमें मिडफील्डर चिंगलेनसना सिंह और सुमित की वापसी हुई है जो चोट के कारण बाहर थे।

इसे भी देखें- खेलों के लिहाज से कैसा रहा 2019, यहां देखें पूरी रिपोर्ट

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़