Eng Vs WI: नाबाद शतकीय साझेदारी से जोस बटलर और ओली पोप ने संभाली इंग्लैंड की पारी

wi vs eng
खराब रोशनी के कारण जब पहले दिन का खेल समाप्त घोषित किया गया तब तक इन दोनों ने पांचवें विकेट के लिये 136 रन जोड़े थे। इन दोनों ने तीसरे सत्र में वेस्टइंडीज को एक भी सफलता नहीं मिलने दी जिसने पहले दो सत्र में दो-दो विकेट लेकर इंग्लैंड को दबाव में ला दिया था।

मैनचेस्टर। मध्यक्रम के बल्लेबाज ओली पोप और जोस बटलर के बीच अटूट शतकीय साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में शुक्रवार को यहां शुरुआती झटकों से उबरकर चार विकेट पर 258 रन बनाये। सलामी बल्लेबाज रोरी बर्न्स के 57 रन के बावजूद इंग्लैंड टास गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए एक समय चार विकेट पर 122 रन बनाकर संघर्ष कर रहा था लेकिन इसके बाद पोप (नाबाद 91) और बटलर (नाबाद 56) ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली। खराब रोशनी के कारण जब पहले दिन का खेल समाप्त घोषित किया गया तब तक इन दोनों ने पांचवें विकेट के लिये 136 रन जोड़े थे। इन दोनों ने तीसरे सत्र में वेस्टइंडीज को एक भी सफलता नहीं मिलने दी जिसने पहले दो सत्र में दो-दो विकेट लेकर इंग्लैंड को दबाव में ला दिया था।

इसे भी पढ़ें: IOC ने मांगी माफी, बर्लिन 1936 ओलंपिक से जुड़ा ट्वीट हटाया

इंग्लैंड ने सलामी बल्लेबाज डॉम सिबले (शून्य)और रूट (17) के विकेट पहले सत्र में जबकि दूसरे टेस्ट मैच में 176 और नाबाद 78 रन की पारी खेलने वाले बेन स्टोक्स (20) और बर्न्स के विकेट दूसरे सत्र में गंवाये। पोप और बटलर ने तीसरे सत्र में प्रभावशाली बल्लेबाजी की। पोप ने कुछ आकर्षक शॉट लगाये और जैसन होल्डर पर अपने छठे चौके से अर्धशतक पूरा किया जबकि पिछले लंबे समय से रन बनाने के लिये जूझ रहे बटलर ने राहकीम कोर्नवॉल के एक ओवर में दो छक्के जड़कर अपना आत्मविश्वास जगाया। उन्होंने इसके बाद पिछले साल सितंबर के बाद अपना पहला अर्धशतक भी पूरा किया जो टेस्ट मैचों में उनका 16वां पचासा है। वेस्टइंडीज की तरफ से केमार रोच ने दो और रोस्टन चेज ने एक विकेट लिया है। स्टोक्स का मांसपेशियों में खिंचाव के कारण इस मैच में गेंदबाजी करना मुश्किल है और इसलिए इंग्लैंड चार तेज गेंदबाजों और एक स्पिनर के साथ उतरा। उसने एक बल्लेबाज कम रखा और ऐसे में स्टोक्स को चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरना पड़ा। स्टोक्स ने दो चौके लगाकर अपनी फार्म दिखायी लेकिन रोच ने बेहतरीन इनस्विंगर पर उनका विकेट उखाड़कर इंग्लैंड में खेमे में चिंता बढ़ा दी।

इसे भी पढ़ें: लीजेंड्स ऑफ चेस टूर्नामेंट में विश्वनाथन आनंद की लगातार तीसरी हार

सलामी बल्लेबाज बर्न्स ने इसके बाद भी एक छोर संभाले रखा और टेस्ट क्रिकेट में अपना सातवां अर्धशतक पूरा किया। ऐसे में राहकीम कोर्नवॉल ने चेज की गेंद पर स्लिप में उनका एक हाथ से बेहतरीन कैच लपका। बर्न्स ने 147 गेंदें खेली और चार चौके लगाये। इंग्लैंड ने पहले दो सत्र में धीमी बल्लेबाजी की। उसने पहले सत्र में 66 और दूसरे सत्र में 65 रन बनाये। बादल छाये होने के कारण वेस्टइंडीज ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला किया तथा रोच ने पारी के पहले ओवर की छठी गेंद पर ही सिबले को पगबाधा आउट कर दिया। दूसरे टेस्ट में शतक जड़ने वाले सिबले इस बार खाता भी नहीं खोल पाये। रूट ने परिस्थितियों के अनुरूप बल्लेबाजी की और 59 गेंदों पर 17 रन बनाये। जब लग रहा था कि उन्होंने बड़ी पारी खेलने के लिये क्रीज पर अच्छी तरह से पांव जमा दिये हैं तब बर्न्स ने स्पिनर कोर्नवॉल की गेंद थर्ड मैन पर खेली। चेज ने विकेटकीपर के छोर पर सीधे थ्रो से गिल्लियां गिरा दी और रूट रन आउट हो गये। वेस्टइंडीज ने तेज गेंदबाज शैनोन गैब्रियल को एकादश में रखा। अपने चौथे ओवर के दौरान उनकी मांसपेशियों में खिंचाव आ गया जिससे उन्हें मैदान छोड़ना था। कप्तान होल्डर के लिये यह राहत की बात रही कि वह लंच से पहले मैदान पर लौट आये और उन्होंने गेंदबाजी भी की। तीन मैचों की श्रृंखला अभी 1-1 से बराबरी पर है। वेस्टइंडीज 1988 के बाद पहली बार इंग्लैंड में श्रृंखला जीतने की कवायद में है। इंग्लैंड ने सैम कुर्रेन और शीर्ष क्रम के बल्लेबाज जॉक क्राउली की जगह तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर और जेम्स एंडरसन को टीम में रखा है। वेस्टइंडीज ने एक बदलाव करके अलजारी जोसेफ की जगह कोर्नवॉल को अंतिम एकादश में रखा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़