भारतीय पैरा-ओलपिंक कमेटी ने विजेता खिलाडियों के लिए पुरस्कार के ऐलान की मांग उठाई

भारतीय पैरा-ओलपिंक कमेटी ने विजेता खिलाडियों के लिए पुरस्कार के ऐलान की मांग उठाई

पैरा-ओलपिंक गेम्स दिव्यांग खिलाडियों के लिए अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए यह सबसे बड़ा मंच है। यह गेमज इस वर्ष 24 अगस्त से 5 सितंबर तक हो रहे हैं।

भारतीय पैरा-ओलपिंक कमेटी (पीसीआई) ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से अपील की है कि वह टोक्यो पैरा-ओलपिंक 2020 में हिस्सा लेने वाले संभावित विजेता खिलाडियों के लिए नकद पुरस्कार सहित इनामों का ऐलान करें। यह अपील कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा पैरा-ओलपिंक खिलाडियों के पुरस्कारों का ऐलान करने के उपरांत की गई है, जिसमें नकद पुरस्कार के अलावा नौकरी व मैडल भी शामिल हैं। पैरा-ओलपिंक गेम्स दिव्यांग खिलाडियों के लिए अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए यह सबसे बड़ा मंच है। यह गेमज इस वर्ष 24 अगस्त से 5 सितंबर तक हो रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश टैनीकोइट एसोसिएशन के अध्यक्ष बने राज्यमंत्री जय कुमार सिंह, डा. रफत बने महासचिव

पीसीआई के सरप्रस्त अविनाश राय खन्ना ने मुख्य मंत्रियों को लिखे एक पत्र में कहा है कि पैरा-ओलपिंक गेम्स, ओलपिंक गेम्स वाले स्थान पर ही, उन्हीं स्तर व नियमों के तहत करवाई जाती हैं। उन्होंने बताया कि पीसीआई द्वारा इन खेलों में 53 दिव्यांग खिलाड़ी भेजे जा रहे हैं, जो अलग-अलग गेम्स से संबंधित हैं। उन्होंने आशा जाहिर की कि भारतीय पैरा-ओलपिंक खिलाड़ी इन खेलों में उत्तम कारगुजारी दिखाएंगे। पीसीआई ने मुख्यमंत्रियों को अपील की कि इन गेम्स में हिस्सा लेने तथा इन विजेता खिलाडिय़ों के लिए स्टेट अवार्डों का ऐलान किया जाए। खन्ना ने कहा कि पुरस्कारों के ऐलान के साथ इन खिलाडिय़ों को प्रेरणा व हौंसला ही नहीं मिलेगा, बल्कि समाज में उनका सम्मान भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि बिना किसी पक्षपात के दिव्यांग खिलाडिय़ों के लिए भी ओलपिंक खिलाडिय़ों की तर्ज पर पुरस्कार देने का ऐलान किया जाए।