फिलीपींस ने चीनी ताइपे को हराकर एएफसी एशियाई कप सेमीफाइनल में जगह बनाई, फीफा विश्व कप का टिकट पक्का किया

AFC Asian Cup
प्रतिरूप फोटो
कोरिया और फिलीपींस ने एशियाई कप के सेमीफाइनल और फीफा विश्व कप का टिकट पक्का किया।फिलीपींस की टीम में मैच 49वें मिनट में क्विनले क्वेजदा के गोल से बढ़त बना ली थी लेकिन चीनी ताइपे की झुओ ली-पिंग ने मैच के 82वें मिनट में गोलकर स्कोर 1-1 से बराबर करने में सफल रही।

पुणे। दक्षिण कोरिया ने महिला एशियाई कप फुटबॉल के क्वार्टर फाइनल में रविवार को खिताब की दावेदार आस्ट्रेलिया को हराकर उलटफेर किया तो वहीं फिलीपींस ने अतिरिक्त समय के बाद भी मैच बराबरी पर छूटने के बाद पेनल्टी शूटआउट में चीनी ताइपे को मात दी। फिलीपींस की टीम में मैच 49वें मिनट में क्विनले क्वेजदा के गोल से बढ़त बना ली थी लेकिन चीनी ताइपे की झुओ ली-पिंग ने मैच के 82वें मिनट में गोलकर स्कोर 1-1 से बराबर करने में सफल रही। निर्धारित 90 मिनट के बाद अतिरिक्त समय में भी मैच का स्कोर यही रहा।

इसे भी पढ़ें: बार्टी ने आस्ट्रेलियन ओपन जीतकर घरेलू देश के 44 साल के सूखे को खत्म किया

इसके बाद पेनल्टी शूटआउट में फिलीपींस ने 4-3 से जीत दर्ज की। सेमीफाइनल में फिलीपींस का सामना दक्षिण कोरिया से होगा। दोनों टीमों ने 2023 फीफा विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर लिया। इससे पहले जी सो-यून की आखिरी क्षणों में लंबी दूरी से किये गोल के दम पर दक्षिण कोरिया ने आस्ट्रेलिया को हराया। कोरिया की चो सो-ह्यून इससे पहले  2010 की विजेता आस्ट्रेलिया के खिलाफ पेनल्टी को गोल में बदलने से चूक गयी थी लेकिन इसके दो मिनट के बाद ही चेल्सी की मिडफील्डर ने 25 गज की दूरी से गोल कर मैच को अपनी टीम के लिए यादगार बना दिया। खिताब की दावेदार और पिछले दो बार की उपविजेता आस्ट्रेलिया की टीम ग्रुप चरण में तीन बड़ी जीत के साथ क्वार्टर फाइनल में पहुंची थी लेकिन दक्षिण कोरिया की खिलाड़ियों ने उनकी आक्रामक अग्रिम पंक्ति को गोल करने का मौका नहीं दिया।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा ओपन बैडमिंटन : मालविका बंसोड़ को हराकर उन्नति हुड्डा ने फाइनल में किया प्रवेश

जी सो-यून के गोल ने क्लब (चेल्सी) की साथी खिलाड़ी और आस्ट्रेलिया की दिग्गज सैम केर के खेल को फीका कर दिया। आस्ट्रेलिया पहले ही न्यूजीलैंड के साथ सह-मेजबान के रूप में 2023 विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर चुका है। केर के पास मैच के सातवें मिनट में गोल करने का मौका था लेकिन उनकी किक से निकली गेंद गोल पोस्ट के ऊपर से निकल गयी। इसके 12 मिनट बाद केर ने एक और मौका बनाकर गेंद मैरी फॉवलर को दी लेकिन कोरिया की रक्षापंक्ति ने उनके प्रयास को विफल कर दिया। मैच खत्म होने से कुछ मिनट पहले जी सो-योन 30 गज की दूरी से गेंद को अपने नियंत्रण में लेकर आगे बढ़ी और फिर दायें पैर से शानदार किक लगाकर उसे गोल में बदल दिया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़