महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर खेल जगत ने दी श्रद्धांजलि

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 25, 2020   16:29
महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर खेल जगत ने दी श्रद्धांजलि

ओलंपिक व्यक्तिगत स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतने वाले इकलौते भारतीय अभिनव बिंद्रा ने कहा ,‘‘ भारत के सबसे महान ओलंपियनों में से एक बलबीर सिंह सीनियर के निधन से दुखी हूं। उनके जैसे खिलाड़ी और आदर्श दुर्लभ होते हैं। वह आने वाली पीढी के खिलाड़ियों के प्रेरणास्रोत रहेंगे।

नयी दिल्ली। भारतीय खेल जगत ने महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक जताते हुए उन्हें ऐसा दुर्लभ आदर्श बताया जिनकी उपलब्धियां कई पीढियों तक खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करती रहेंगी। तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता बलबीर सीनियर का सोमवार को 96 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उनके निधन पर हॉकी ही नहीं क्रिकेट जगत और राजनीतिज्ञों ने भी शोक जताया है। ओलंपिक व्यक्तिगत स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतने वाले इकलौते भारतीय अभिनव बिंद्रा ने कहा ,‘‘ भारत के सबसे महान ओलंपियनों में से एक बलबीर सिंह सीनियर के निधन से दुखी हूं। उनके जैसे खिलाड़ी और आदर्श दुर्लभ होते हैं। वह आने वाली पीढी के खिलाड़ियों के प्रेरणास्रोत रहेंगे।’’ अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘ एक खिलाड़ी की महानता सिर्फ हॉकी पिच पर उसके कौशल से ही नहीं होती बल्कि उनके लगाव और स्नेह से भी होती है जिसके लिये उन्हें खेल को छोड़ने के इतने वर्षों तक याद किया जाता रहा। बलबीर सिंह दोसांज की जिंदगी उनकी महानता की गवाह है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैं उनकी सादगी, विन्रमता और गर्व को याद रखूंगा जिसे वह मनमोहक अंदाज में पेश करते थे। वह अपने अपार ज्ञान को साझा करने की वजह से सबसे अलग थे। ’’

इसे भी पढ़ें: 'उत्तराखंड पैंथर्स' टीम ने की प्रवासी लोगों की मदद, कोहली ने भेजा ये खास वीडियो मैसेज

महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘‘ बलबीर सिंह सीनियर के परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनायें। ’’ उन्होंने लिखा, ‘‘वह हॉकी के महान खिलाड़ियों में से एक थे। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ’’ पूर्व हॉकी कप्तान वीरेन रासकिन्हा और सरदार सिंह ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी। रासकिन्हा ने ट्वीट किया ,‘‘ तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता बलबीर सिंह सीनियर के निधन से दुखी हूं। वह हमेशा मुस्कुराते रहते थे और मानसिक रूप से काफी सजग थे। वह प्रेरणास्रोत थे।’’ सरदार ने कहा ,‘‘ हॉकी के लिये यह बहुत दुखद दिन है।वह मेरे लिये और दुनिया भर के कई हॉकी खिलाड़ियों के लिये आदर्श थे। उनसे जब भी मिलता था, तब वह देश के लिये पदक जीतने के लिये प्रेरित करते थे।’’ पूर्व हॉकी कप्तान और चार बार के ओलंपियन धनराज पिल्लै ने कहा ,‘‘बलबीर सर के जाने से हुए दुख को मैं शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता। उन्होंने अपनी सादगी से सभी के दिलों को छुआ। उनके परिवार के प्रति संवेदनायें।’’ पूर्व हॉकी कोच हरेंद्र सिंह ने उन्हें हॉकी का भीष्म पितामह कहते हुए लिखा ,‘‘ उनकी खेल भावना और उपलब्धियों ने भारतीय खेलों के इतिहास के कई सुनहरे पन्ने लिखे। भारतीय हॉकी के लिये उनके योगदान का ऋण हम कभी नहीं चुका सकते।’’ पूर्व हॉकी कप्तान अजित पाल सिंह और हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के बेटे अशोक कुमार ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी।

इसे भी पढ़ें: विराट कोहली और स्टीव स्मिथ जैसा बल्लेबाज बनने के करीब है बाबर आजम: मिसबाह

अजीत पाल सिंह ने कहा, ‘‘हॉकी के प्रति उनका समर्पण और खिलाड़ियों के प्रबंधन के उनके कौशल की तुलना ही नहीं की जा सकती। अगर स्वतंत्रता से पहले दादा ध्यानचंद भारतीय हॉकी के स्तंभ थे तो बलबीर सिंह सीनियर आजादी के बाद के युग के अन्य स्तंभ थे। ’’ वहीं अशोक कुमार ने कहा, ‘‘ वह भारतीय हॉकी के सबसे चमकते सितारे थे, ऐसे खिलाड़ी जिनसे हम सभी प्रेरणा लेते थे। मुझे अब भी याद है कि जब 1971 विश्व कप में हम सेमीफाइनल में पाकिस्तान से हार गये थे तो वह अपने होटल के कमरे में कितनी बुरी तरह रोये थे। ’’ अशोक कुमार ने अपने पिता और बलबीर की तुलना करने से इनकार करते हुए कहा, ‘‘दोनों की तुलना करना सही नहीं है। दोनों भारतीय हॉकी के नगीने हैं और उनकी विरासत जारी रहेगी। ’’ भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा ,‘‘ बलबीर सर के निधन से दुखी हूं। हॉकी में उनका योगदान भुलाया नहीं जा सकता। वह हम सभी के प्रेरणास्रोत बने रहेंगे।’’ भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने लिखा ,‘‘ महान हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर के निधन से दुखी हूं। उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनायें।’’ वहीं पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने कहा ,‘‘भारतीय हॉकी के युगपुरूष बलबीर सिंह सीनियर का निधन। उनकी उपलब्धियां आपको हैरान कर देती हैं। तीन ओलंपिक स्वर्ण और ओलंपिक फाइनल में पांच गोल। विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के मैनेजर। भारत के महानतम खिलाड़ियों में से एक। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।’’ पूर्व हाकी कप्तान और मौजूदा पुरूष टीम के गोलकीपर पी आर श्रीजेश, भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री, पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण, महान ट्रैक एवं फील्ड एथलीट पीटी ऊषा, निशानेबाज हीना सिद्धू, ओलंपिक में दो पदक जीतने वाले पहलवान सुशील कुमार, ओलंपिक कांस्य पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त, राष्ट्रमंडल खेलो के स्वर्ण पदक विजेता मुक्केबाज अखिल कुमार ने भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।