कोरोना की चौथी लहर से पहले वैज्ञानिकों ने अध्ययन में बताया, ओमिक्रॉन और डेल्टा बचा सकती हैं ये सब्जियां

कोरोना की चौथी लहर से पहले वैज्ञानिकों ने अध्ययन में बताया, ओमिक्रॉन और डेल्टा बचा सकती हैं ये सब्जियां

यह स्टडी अमेरिका जॉन्स हॉपकिन्स चिल्ड्रन के शोधकर्ताओं द्वारा की गई है। उन्होंने अपनी जो रिपोर्ट दी है उसमें कहा गया है कि ब्रोकली और दूसरे क्रुसिफेरस में पाए जाने वाला एक योगिक रसायन कोविड को हराने में एक मजबूत हथियार साबित हो सकता है।

विश्व के कई देशों में कोरोना वायरस के मामलों में फिर उछाल देखा जा रहा है और यह आशंका जताई जा रही है कि कोविड के चौथी लहार भी आ सकती है। अभी तक इस महामारी का कोई स्थाई इलाज नहीं मिला है। दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोना का इलाज तलाश रहे हैं, लेकिन अभी फिलहाल वैक्सीन को ही इसका एकमात्र इलाज बताया जा रहा है।

जहां एक ओर कोरोना की चौथी लहर का डर लोगों को सता रहा है, वहीं दूसरी ओर अमेरिका के वैज्ञानिकों द्वारा कोरोना का एक मजबूत हथियार तलाशा गया है। वैज्ञानिकों के लम्बी स्टडी के बाद ये पाया कि ब्रोकली और गोभी जैसी सब्जियों में कुछ ऐसा रसायन पाया जाता है, जिसमें कोरोना और सामान्य सर्दी का कारण बनने वाले वायरस को हराने की ताकत होती है।

यह स्टडी अमेरिका जॉन्स हॉपकिन्स चिल्ड्रन के शोधकर्ताओं द्वारा की गई है। उन्होंने अपनी जो रिपोर्ट दी है उसमें कहा गया है कि ब्रोकली और दूसरे क्रुसिफेरस में पाए जाने वाला एक योगिक रसायन कोविड को हराने में एक मजबूत हथियार साबित हो सकता है। नेचर जॉर्नल कम्युनिकेशंस में 18 मार्च को प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक एक रसायन जो सल्फोराफेन (Sulforaphane) पौधे में मिलता है उसमें कोविड को रोकने की ताकत होती है।

इन सब्जियों में पाया जाता है सल्फोरफेन

जिन सब्जियों में सल्फोराफेन होता है उसमें ब्रोकली, गोभी, केल और ब्रेसेल्स, स्प्राउट्स आदि शामिल है। जो स्टडी की गई है उसके परिणाम उमीद तो जगाते हैं, लेकिन शोधकर्ताओं ने दुकानों से सल्फोराफेन खरीदने को लेकर चेताया भी है। उन्होंने कहा है कि रसायन के प्रभावी साबित होने से पहले मनुष्यों पर इसकी स्टडी की जानी जरूरी है।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

ट्रेंडिंग

झरोखे से...