पचास के बाद रुक जाता है यौन जीवन? इससे जुड़ी हर वो बात जो आपको पता होनी चाहिए

Romantic Couple
Prabhasakshi
एकता । Sep 29, 2022 6:36PM
सेक्स को लेकर लोगों की सोच में बदलाव आ रहा है, धीरे-धीरे ही सही मगर पहले की तुलना में अब इस टॉपिक पर खुलकर बात होने लगी हैं। सेक्स जुड़े कई ऐसे मुद्दे हैं, जिनको लेकर हमारी सोसायटी ने अलग-अलग धारणा बनाई हुई हैं। इन्हीं में पचास साल के बाद सेक्स लाइफ खत्म हो जाने वाला मुद्दा भी शामिल है।

सेक्स को लेकर लोगों की सोच में बदलाव आ रहा है, धीरे-धीरे ही सही मगर पहले की तुलना में अब इस टॉपिक पर खुलकर बात होने लगी हैं। सेक्स जुड़े कई ऐसे मुद्दे हैं, जिनको लेकर हमारी सोसायटी ने अलग-अलग धारणा बनाई हुई हैं। इन्हीं में पचास साल के बाद सेक्स लाइफ खत्म हो जाने वाला मुद्दा भी शामिल है। सोसाइटी की मानें तो लोगों को पचास साल के बाद सेक्स करना छोड़ देना चाहिए क्योंकि ये बढ़ती उम्र के लिए और संस्कृति एवं समाज के हिसाब से सही नहीं हैं। लेकिन ऐसा क्यों? डिजिटल होते इस जमाने ने पचास की उम्र के बाद सेक्स की जरूरतों पर बहस तेज कर दी है।

इसे भी पढ़ें: सच्चा प्यार होने के बाद लड़कों का हो जाता है ऐसा हाल, दिनरात गर्लफ्रेंड के ख्यालों में रहते हैं डूबे

ज्यादातर लोग अपने जीवन के अधिकांश साल सेक्स के जरिये अपनी जरूरतों को पूरा करने में गुजारते हैं। सेक्स सिर्फ शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक और भावनात्मक जरूरतों को भी पूरा करता है। बढ़ती उम्र के साथ जरूरते पूरी करने में दिक्कतें हो सकती हैं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि लोग सेक्स करना ही बंद कर दें। बढ़ती उम्र में लोगों को सेक्स की उतनी ही जरूरत है जैसे बढ़ते रिश्तो को प्यार की जरूरत होती है। आज के इस आर्टिकल में हम बताने जा रहे हैं कि बढ़ती उम्र में संबंध बनाना कितना जरुरी है और इस दौरान लोगों को क्या चुनौतियां झेलनी पड़ सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: Relationship Advice: पार्टनर की छोटी-छोटी गलतियों पर भड़क जाते हैं आप? इन टिप्स से गुस्सा कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

पचास के बाद सेक्स के दौरान झेलनी पड़ सकती है ये चुनौतियां

बढ़ती उम्र में लोगों के शरीर में कई बदलाव आते हैं और इनका असर यौन जीवन पर पड़ता हैं। अगर आप इन बदलावों को जान लें तो पचास की उम्र के बाद भी आप अपने यौन जीवन के मजे ले सकते हैं।

पुरुषों को होती हैं ये समस्याएं

- इरेक्शन प्राप्त करने में अधिक समय लग सकता है, और इरेक्शन को बनाए रखना अधिक कठिन हो जाता है

- एजाकुलेशन के दौरान कम सीमेन या बिल्कुल भी नहीं

- कम समय के लिए ओगाज़्म

महिलाओं जो होती हैं ये समस्याएं

- सेक्स के दौरान दर्द महसूस हो सकता है

- सेक्स में रुचि कम हो सकती है

- उत्तेजना में कमी आ सकती है

इसे भी पढ़ें: Relationship Advice: शादी का पहला साल हो सकता है मुश्किलों भरा, नए शादीशुदा जोड़ों के सामने आती हैं ये दिक्कतें

पचास के बाद सेक्स लाइफ के मजे लेने हैं, मदद करेंगी ये टिप्स

पार्टनर से बात करें- पचास की उम्र के बाद शरीर में अलग तरीके के बदलाव आते हैं और इनके साथ आपकी सेक्स की जरूरतें भी बदल जाती हैं। इसलिए अगर आप सेक्स के मजे लेना चाहते हैं तो पार्टनर से बात करें और उन्हें अपनी सेक्स से जुड़ी जरूरतों के बारे में बताएं।

सेक्स के अन्य तरीके ट्राई करें- सेक्स करने के कई तरीके होते हैं। अगर आपका शरीर पचास के बेड पर सेक्स करने की अनुमति नहीं दे रहा है तो आप फोरप्ले, ओरल सेक्स और हस्तमैथुन जैसे अन्य तरीके आजमा सकते हैं।

नई पोजीशन और सेक्स टॉयज ट्राई करें- पचास के बाद अगर आपके घुटने और पीठ में दर्द आपको सेक्स करने से रोक रहे हैं तो आप नई पोजीशन ट्राई कर सकते हैं। आपको बहुत सी ऐसी पोजीशन मिल जाएगी जिनमें आप सेक्स का आनंद भी उठा पायेगा और आपको कोई तकलीफ भी नहीं होगी। इसके अलावा आप सेक्स टॉयज भी ट्राई कर सकते हैं, ये भी एक अच्छा ऑप्शन है।

अन्य न्यूज़