सावधान! खतरनाक साबित हो सकता है कार में सैनिटाइजर रखना

सावधान! खतरनाक साबित हो सकता है कार में सैनिटाइजर रखना

ऐसा नहीं है कि कोरोना महामारी के कारण ही हम अपने कार में सैनिटाइजर रखते हैं। इससे पहले भी कुछ लोग अपने बैग या कार में सैनिटाइजर की बोतल जरूर रखते थे।

नई दिल्ली। जब से लॉक डाउन में ढील दी गई है लोग धीरे-धीरे अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं हम घर से बाहर निकलने के दौरान सामाजिक दूरी और चेहरे पर मास्क का जरूर ध्यान रखते हैं साथ ही साथ हम अपने हाथ के सैनिटाइजर को भी अपने साथ रखते हैं फिलहाल के वक्त में यह सबसे ज्यादा जरूरी है लग्न में ढील देने के बाद आधिकारिक तौर पर यह भी बताया गया है कि हमें क्या करना है और हमें क्या नहीं करना है इसी का एक हिस्सा है सैनिटाइजर से हाथ साफ करते रहना हम यह मानते हैं हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करते रहने के लिए हमें इसे अपने पास रखना होगा ऐसे में हम यात्रा करने के दौरान इसे अपने कार में भी रखते हैं

इसे भी पढ़ें: भगवान गणेश की तरफ देखकर व्यक्ति को बता देते थे उसका भविष्य, जानें बेजन दारूवाला की 10 रोचक बातें

हालांकि ऐसा नहीं है कि कोरोना महामारी के कारण ही हम अपने कार में सैनिटाइजर रखते हैं। इससे पहले भी कुछ लोग अपने बैग या कार में सैनिटाइजर की बोतल जरूर रखते थे। आपको यह जानना जरूरी है कि कार में सैनिटाइजर रखना जोखिम भरा कदम हो सकता है इससे आसानी से आग पकड़ सकता है। हैंड सैनिटाइज़र शक्तिशाली रासायनिक कणों से बने होते हैं और एक उच्च-ग्रेड, रोगाणु-मारने वाले सैनिटाइज़र में अल्कोहल का अच्छा-खासा मात्रा रहता है। यद्यपि यह वायरस फैलने से रोकने के लिए अच्छा है, सैनिटाइज़र में अल्कोहल की मात्रा ज्वलनशील हो सकती है, विशेष रूप से जब लंबे समय तक इसे गर्मी में छोड़ दिया जाता है। ऐसा कुछ तब हो सकता है जब आप इसे कार में घंटों या दिनों तक स्टोर करके रखते हैं। उसी कारण से, जब आप रसोई में भी खाना बना रहे हों तो सैनिटाइज़र का उपयोग करने से मना किया जाता है। यहीं कारण है कि जैसा कि तापमान का स्तर बढ़ता है, स्वास्थ्य अधिकारी भी लोगों को कार में या ऐसे स्थान पर सेनिटाइज़र छोड़ने से मना करते हैं जहां आग लगने का खतरा रहता है। यह लोगों के लिए चिंता का विषय हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: UP में अबतक 1550 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 21 लाख से अधिक प्रवासी आए वापस

गर्मियों में गाड़ियों के अंदर वास्तव में गर्मी हो जाती है। ऐसे में अगर हम सैनिटाइजर को उसमें छोड़ कर आते हैं तो आग लगने का खतरा बढ़ जाता है। भले ही इसे लेकर कई तरह के दावे किए जा रहे हो परंतु ऐसा कोई भी कारण नहीं मिल पाया है जिससे कि यह पता चल पाए कि सैनिटाइजर तेज गर्मी में ज्वलनशील नहीं होते हैं। यह आग नहीं लगा सकते हैं। किसी खतरे को टालने के लिए इसे दूर ही रखना ज्यादा जरूरी है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के अनुसार, शराब आधारित सैनिटाइज़र प्रकृति में ज्वलनशील होते हैं और गर्मी के संपर्क में आने पर कमरे के तापमान पर आसानी से वाष्पित हो सकते हैं। इसके अलावा, अधिकांश सैनिटाइज़र प्लास्टिक की बोतलों में आते हैं, जो फिर से जोखिम को और बड़ा करते हैं। कुछ शोध कहते हैं कि कार में एक सैनिटाइज़र रखने से, जहाँ यह सीधे ऊष्मा के संपर्क में आता है (विशेषकर जब सामने की ओर रखा जाता है) इसकी प्रभावकारिता को नष्ट कर सकता है, यह वास्तव में चलने योग्य नहीं रहता और बेकार हो जाता है।