• अनियमित पीरियड्स की समस्या को दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

कभी-कभी पीरियड्स समय पर ना आना भी एक समस्या बन जाती है। सही समय पर पीरियड्स ना होने के कारण महिलाओं को काफी ज्यादा दर्द होता है। कुछ महिलाऐं अनियमित पीरियड्स के लिए दवाओं का सेवन करती हैं। लेकिन आप इस समस्या से निजात पाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी अपना सकती हैं।

पीरियड्स महिलाओं में होने वाला एक नेचुरल प्रोसेस है। लड़कियों को आमतौर पर उनका फर्स्ट पीरियड 10-12 साल की उम्र के आसपास होता है। लेकिन कई लड़कियों को पहली बार पीरियड 14-15 साल की उम्र में भी आ सकता है। पीरियड्स के बाद लड़की के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। पीरियड्स के दौरान हर महिला को पेट दर्द, थकान, मूड स्विंग्स जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हालांकि, कभी-कभी पीरियड्स समय पर ना आना भी एक समस्या बन जाती है। सही समय पर पीरियड्स ना होने के कारण महिलाओं को काफी ज्यादा दर्द होता है। कुछ महिलाऐं अनियमित पीरियड्स के लिए दवाओं का सेवन करती हैं। लेकिन आप इस समस्या से निजात पाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी अपना सकती हैं। आज के इस लेख में हम आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या के कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं-

इसे भी पढ़ें: मिनटों में खुल जाएगी बंद नाक, बस करें ये आसान घरेलू उपाय

सौंफ

सौंफ के सेवन से पीरियड्स की अनियमिता में लाभ होता है। सौंफ के सेवन से गर्भाशय में संकुचन पैदा होती है जिससे पीरियड्स सही समय पर होने में मदद करता है। इसके लिए एक बर्तन में पानी और सौंफ डालकर पांच से दस मिनट तक उबालें। फिर इस पानी को छानकर ठंडा कर लें। इस मिश्रण को दिन भर में थोड़ी-थोड़ी देर बाद पिएं। इससे पीरियड्स रेगुलर होंगे और यह पीरियड्स के दर्द को भी कम करने में मदद करता है।

दालचीनी

दालचीनी के सेवन करने से  शरीर का तापमान बढ़ता है जिसके कारण पीरियड्स समय पर होते हैं। दालचीनी से पीरियड्स रेगुलर होते हैं। इसके लिए एक गिलास दूध में आधा या एक चम्मच दालचीनी मिलाकर पिएँ। इसके अलावा आप दालचीनी की चाय का सेवन भी कर सकती हैं। इससे पीरियड्स सही समय पर आएंगे। 

अदरक

पीरियड्स की अनियमिता दूर करने के लिए अदरक का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। अदरक के सेवन से शरीर की गर्मी बढ़ती है जिसके कारण पीरियड्स समय पर आ जाते हैं। इसके लिए आप अदरक की चाय बनाकर पी सकते हैं या अदरक के रस को शहद के साथ मिलाकर ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हैं इन फलों के छिलके, न करें इन्हें फेंकने की भूल

पपीता

पपीता खाने से भी पीरियड्स रेगुलर होते हैं। पपीता खाने से एस्ट्रोजन हार्मोन उत्तेजित होता है जिससे पीरियड्स सही समय पर आते हैं। आप नियमित रूप से या पीरियड्स आने से कुछ दिनों पहले पपीता खाना शुरू कर दें। इससे आपको पीरियड्स की अनियमिता से छुटकारा मिलेगा। 

कॉफ़ी

कॉफ़ी भी पीरियड्स को सही समय पर लाने में बहुत मदद करती है। मासिकधर्म की डेट से करीब दो हफ्ते पहले से इसका नियमित रूप से सेवन करें। इसके सेवन के करण आपको देर से होने वाले मासिकधर्म से छुटकारा मिल जएगा। यह सही समय पर पीरियड्स लाने का बहुत ही आसान उपाय है।

- प्रिया मिश्रा