• अगर आप भी होठों पर पिंपल्स से परेशान हैं तो आजमाएं यह घरेलू नुस्खे

लिप पर पिंपल से छुटकारा पाने के लिए आप नींबू के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं। नींबू में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। नींबू का रस इस्तेमाल करने से लिप्स पर मौजूद गंदगी और तेल को साफ किया जा सकता है।

मुँहासों से चेहरे की सुंदरता तो कम होती ही है लेकिन यह बहुत पीड़ादायक भी होते हैं। चेहरे पर पिंपल्स कहीं भी हो सकते हैं और ट्रीटमेंट से यह सही भी हो जाते हैं। लेकिन अगर लिप्स पर पिंपल हो जाए तो यह देखने में भद्दा लगता है और इसका ट्रीटमेंट भी आसान नहीं होता है। मुंह के आसपास पिंपल निकल जाए तो इसकी अधिक देखभाल करनी होती है। होठों पर पिंपल्स का इलाज करने के लिए आप घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन नेचुरल तरीकों की मदद से आप इस समस्या से बच सकते हैं और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। आज के इस लेख में हम आपको होठों के पिंपल्स से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं -

इसे भी पढ़ें: जानिए क्यों होता है मेलाज्मा और इससे निपटने के कुछ घरेलू उपाय

नींबू 

लिप पर पिंपल से छुटकारा पाने के लिए आप नींबू के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं। नींबू में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। नींबू का रस इस्तेमाल करने से लिप्स पर मौजूद गंदगी और तेल को साफ किया जा सकता है। इसके लिए होंठ पर नींबू का रस लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें फिर से साफ पानी से धो लें।

तुलसी 

तुलसी के पत्ते हमारी सेहत और त्वचा के लिए कितने फायदेमंद है यह तो आप जानते ही होंगे। तुलसी के पत्तों में बहुत से आयुर्वेदिक गुण मौजूद होते हैं जो त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। तुलसी में मौजूद तत्व लिप पर पिंपल को दूर करने में बेहद कारगर हैं। इसके लिए तुलसी के ताजे पत्तों का रस निकालकर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।

एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर यानी सेब के सिरके का इस्तेमाल आमतौर पर लोग वेट लॉस के लिए करते हैं। लेकिन आप इसका इस्तेमाल होठों पर पिंपल को कम करने के लिए भी कर सकते हैं। एप्पल साइडर विनेगर में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो त्वचा पर बैक्टीरिया को पनपने से रोकते हैं। इसके इस्तेमाल से लिप्स पर पिंपल जल्दी दब जाते हैं। हालांकि, एप्पल साइडर विनेगर को कभी भी त्वचा पर सीधे नहीं लगाना चाहिए। इसे हमेशा पानी में मिलाकर ही त्वचा पर लगाएं अन्यथा आपकी त्वचा जल सकती है।

इसे भी पढ़ें: बढ़ती उम्र के साथ त्वचा की ऐसे करें देखभाल, जल्दी नहीं दिखेंगी झुर्रियां

नीम 

मुहांसों के इलाज के लिए नीम के पत्तों का इस्तेमाल काफी पुराना नुस्खा है। नीम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा पर बैक्टीरिया को पनपने से रोकते हैं। नीम को पीसकर प्रभावित हिस्से पर लगा सकते हैं या नीम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। नीम के तेल को नारियल या जैतून के तेल के साथ मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं।

एलोवेरा 

लिप पर पिंपल निकल आया है तो एलोवेरा का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। एलोवेरा में एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटी वायरल गुण होते हैं जो पिंपल के आकार को छोटा करने में मदद करते हैं। इसके लिए प्रभावित हिस्से पर एलोवेरा जेल लगाएं।

ग्रीन टी 

लिप पर पिंपल का इलाज आप ग्रीन टी से भी कर सकते हैं। ग्रीन टी में पॉलिफिनॉल्स की अच्छी मात्रा पाई जाती है जो त्वचा पर सीबम के उत्पादन को रोकने में मदद करता है। आप रोजाना दो से तीन कप ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं। इससे शरीर में हार्मोन संतुलित होंगे और शरीर से हानिकारक तत्व बाहर निकलेंगे। इसके अलावा आप ग्रीन टी की पत्तियों को पानी में उबालकर प्रभावित हिस्से पर लगा सकते हैं।

बर्फ 

बर्फ के इस्तेमाल से भी पिंपल और त्वचा की लालिमा और सूजन को कम किया जा सकता है। पिंपल पर आइस पैक लगाने से त्वचा में रक्त संचार धीमा हो जाता है जिससे सूजन और दर्द कम करने में मदद मिलती है। इसके लिए किसी नरम कपड़े या टिश्यू में बर्फ के टुकड़े लपेटें और होठों पर लगाएं।

- प्रिया मिश्रा