दिव्या खोसला ने कहा, मुझे एक अभिनेत्री के रूप में खुद को साबित करने का मौका नहीं मिला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 20, 2021   18:05
दिव्या खोसला ने कहा,  मुझे एक अभिनेत्री के रूप में खुद को साबित करने का मौका नहीं मिला

अभिनेत्री-फिल्म निर्माता दिव्या खोसला कुमार का कहना है कि उन्हें एक अभिनेत्री के रूप में खुद को साबित करने का मौका नहीं मिला। उन्होंने कहा कि वह ‘‘रचनात्मक रूप से असंतुष्ट’’ महसूस करती हैं क्योंकि उन्हें एक ‘ऑन-स्क्रीन’ कलाकार के रूप में अपनी पूरी क्षमता का पता लगाना बाकी है।

अभिनेत्री-फिल्म निर्माता दिव्या खोसला कुमार का कहना है कि उन्हें एक अभिनेत्री के रूप में खुद को साबित करने का मौका नहीं मिला। उन्होंने कहा कि वह ‘‘रचनात्मक रूप से असंतुष्ट’’ महसूस करती हैं क्योंकि उन्हें एक ‘ऑन-स्क्रीन’ कलाकार के रूप में अपनी पूरी क्षमता का पता लगाना बाकी है। दिव्या ने 2004 में फिल्म ‘‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो’’ में एक अभिनेत्री के रूप में अपनी शुरुआत की थी। हालांकि उन्होंने इसके बाद किसी अन्य फिल्म में अभिनय नहीं किया, लेकिन उन्होंने एक दशक बाद ‘‘यारियां’’ के जरिये एक निर्देशक के रूप में शुरुआत की।

इसे भी पढ़ें: बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का प्रियंका गांधी पर प्रहार, पूछा- आखिर चाहती क्या हैं?

उन्होंने ‘‘सनम रे’’ का भी निर्देशन किया जिसमें पुलकित सम्राट और यामी गौतम ने अभिनय किया था। वह ‘‘सत्यमेव जयते 2’’ के जरिये एक अभिनेत्री के रूप में एक बार फिर पर्दे पर लौटने के लिए तैयार हैं। दिव्या ने ‘पीटीआई-भाषा’ के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि वह अभिनय के क्षेत्र में वापसी की तलाश में थी, लेकिन सही परियोजनाके लिए संघर्ष कर रही थी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सनम रे के बाद अभिनय में वापस आना चाह रही थी। चीजें मेरे पास आसानी से नहीं आई। मैंने कोशिश की लेकिन कुछ नहीं हो रहा था ... ज्यादातर महिला प्रधान फिल्में मेरे रास्ते में आ रही थीं, जिन्हें मैं नहीं करना चाहती थी। मुझे वास्तव में एक अभिनेत्री के रूप में खुद को साबित करने का मौका नहीं मिला।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सोचा कि दर्शक मुझे सिनेमाघरों में देखने क्यों आएंगे? मुझे पहले खुद को एक अभिनेत्री के रूप में स्थापित करने की आवश्यकता है।’’ दिव्या (34) ने कहा, ‘‘मैंने अपनी पहली फिल्म 17 साल की उम्र में की थी। मुझे तब कुछ भी नहीं पता था।

इसे भी पढ़ें: प्यार करने का अर्थ ये नहीं है शारीरिक संबंध बनाने का लाइसेंस मिल गया है: केरल हाई कोर्ट

लेकिन इन वर्षों में, मैंने दो बड़ी फिल्मों और संगीत वीडियो का निर्देशन किया और सेट पर बहुत कुछ सीखा। इससे आपको बहुत आत्मविश्वास भी मिलता है। मैं इन वर्षों में बहुत बड़ी हो गयी हूंलेकिन मैं अभी भी रचनात्मक रूप से असंतुष्ट महसूस करती हूं। यह मुझे शांत नहीं बैठने देता है।’’ दिव्या को ‘‘सत्यमेव जयते 2’’ में एक मजबूत भूमिका निभाने का अवसर मिला, जिसमें अभिनेता जॉन अब्राहम भी हैं। उन्होंने कहा कि वह फिर से कैमरे के पीछे जाने से पहले अपने अभिनय करियर पर ध्यान देना चाहेगी। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे निर्देशन पर पूर्ण विराम लगाना पड़ा। इसके अलावा, मैं वास्तव में निर्देशन करना चाहूंगी लेकिन अभी मैं पूरी तरह से अभिनय पर ध्यान केंद्रित कर रही हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।