NCB ने माना वानखेड़े की टीम से हुई गलती, पूर्व जोनल डायरेक्टर ने मामले पर कहा- नो कमेंट, रेड में शामिल अफसरों के खिलाफ हो सकती है जांच

Wankhede
ANI
अभिनय आकाश । May 27, 2022 3:33PM
वानखेड़े ने कहा कि क्षमा करें, मैं टिप्पणी नहीं कर सकता। मैं एनसीबी में नहीं हूं, एनसीबी अधिकारियों से बात करो। बता दें कि एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने छापे का नेतृत्व किया था और आर्यन खान को गिरफ्तार कर लिया था।

मुंबई क्रूज केस में आर्यन खान को नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने  क्लीनचिट दे दी है। आर्यन खान को मुंबई क्रूज ड्रग्स में गिरफ्तार करने वाले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के पूर्व जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने इस मामले में स्टार किड को क्लीन चिट दिए जाने के बाद सवालों से बचते दिखे। इंडिया टुडे से बोलते हुए वानखेड़े ने कहा कि क्षमा करें, मैं टिप्पणी नहीं कर सकता। मैं एनसीबी में नहीं हूं, एनसीबी अधिकारियों से बात करो। बता दें कि एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने छापे का नेतृत्व किया था और आर्यन खान को गिरफ्तार कर लिया था। कई अदालती सुनवाई, बहुत सारे नाटक और 26 दिनों की लंबी हिरासत के बाद, बॉम्बे हाईकोर्ट ने 28 अक्टूबर को आर्यन खान को जमानत दे दी। आखिरकार वह 30 अक्टूबर को जेल से बाहर आ गए थे।

इसे भी पढ़ें: क्रूज ड्रग्स केस में आर्यन खान को बड़ी राहत, NCB को नहीं मिले कोई सबूत

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को एनसीबी ने शुक्रवार को ड्रग्स-ऑन-क्रूज मामले में 6,000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल करते हुए बरी कर दिया। पिछले साल अक्टूबर में मुंबई के तट पर कॉर्डेलिया क्रूज जहाज पर छापेमारी के बाद एनसीबी द्वारा गिरफ्तार किए गए 23 लोगों में आर्यन खान भी शामिल था। लेकिन आज एनसीबी की तरफ से दाखिल की गई चार्जशीट में आर्यन खान का नाम नहीं था।

इसे भी पढ़ें: कंगना रनौत की फिल्म धाकड़ का बॉक्स ऑफिस पर निकला दम, भूल भुलैया-2 को मिल रहा दर्शकों का प्यार

कॉर्डेलिया क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने क्लीन चिट दे दी है। एजेंसी द्वारा इस मामले में पांच अन्य लोगों के साथ दायर आरोपपत्र में उनका नाम नहीं है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के उप महानिदेशक संजय सिंह ने कहा कि हमारी जांच निष्पक्ष है, हमने संदेह से परे सबूत लागू किया है। पहली जांच टीम ने गलती की। सूत्रों की मानें तो  रेड में शामिल अफसरों के खिलाफ  जांच भी हो सकती है।

अन्य न्यूज़