अपने खास दोस्त अमर सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए अमिताभ बच्चन ने कहा- केवल प्रार्थनाएं बची हैं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 2, 2020   11:20
  • Like
अपने खास दोस्त अमर सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए अमिताभ बच्चन ने कहा- केवल प्रार्थनाएं बची हैं

अभिनेता अमिताभ बच्चन ने अपने करीबी मित्र एवं राज्यसभा सदस्य अमर सिंह को श्रद्धांजलि दी और उनके साथ अपने मित्रतापूर्ण संबंधों को याद किया। सिंह (64) का सिंगापुर के एक निजी अस्पताल में लंबी बीमारी के बाद शनिवार को निधन हो गया था।

मुंबई। अभिनेता अमिताभ बच्चन ने अपने करीबी मित्र एवं राज्यसभा सदस्य अमर सिंह को श्रद्धांजलि दी और उनके साथ अपने मित्रतापूर्ण संबंधों को याद किया। सिंह (64) का सिंगापुर के एक निजी अस्पताल में लंबी बीमारी के बाद शनिवार को निधन हो गया था। उनका 2011 में गुर्दा प्रतिरोपण हुआ था और लंबे समय से उनकी तबियत खराब चल रही थी। बीते कई महीनों से उनका सिंगापुर के अस्पताल में इलाज चल रहा था। बच्चन और सिंह की दोस्ती करीब दो दशक पुरानी थी। बच्चन (77) ने अपने ब्लॉग पर सिर झुकाए हुए श्वेत-श्याम तस्वीर साझा की और लिखा, ‘‘शोक में डूबे, सिर झुकाए, केवल प्रार्थनाएं बची हैं।

इसे भी पढ़ें: सियासी गलियारे में शोक की लहर, पूर्व सपा नेता और राज्यसभा सदस्य अमर सिंह का निधन

करीबी जीवन, करीबी संबंध और आत्मा नहीं रही।’’ ऐसा माना जाता है कि जब अमिताभ बच्चन का प्रोडक्शन हाउस अमिताभ बच्चन कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एबीसीएल) दिवालिया होने के कगार पर था तब सिंह ने उनकी मदद की थी और इस तरह उन दोनों के बीच मित्रता की शुरुआत हुई। जया बच्चन को राजनीति में लाने का श्रेय भी अमर सिंह को जाता है। वह 2004 में समाजवादी पार्टी की ओर से राज्यसभा सदस्य बनी थीं। लेकिन बच्चन और सिंह की मित्रता में तब खटास आई जब सिंह को सपा से निकाल दिया गया और जया बच्चन ने पार्टी में बने रहने का फैसला किया।

इसे भी पढ़ें: अमर सिंह ने किससे लिया था सियासी पंगा, जानिए उनके जीवन की राजनीतिक उठापटक

इस वर्ष फरवरी में सिंह ने बच्चन परिवार से अपने मतभेदों को भुलाते हुए ट्विटर पर लिखा था, ‘‘आज मेरे पिता की पुण्यतिथि है और मुझे सीनियर बच्चन जी से इस बारे में संदेश मिला है। जीवन के इस पड़ाव पर जब मैं जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहा हूं, मैं अमित जी और उनके परिवार के लिए मेरी अत्यधिक प्रतिक्रियाओं पर खेद प्रकट करता हूं। ईश्वर उन सभी का भला करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




'तांडव' की टीम की माफी के बाद भी नहीं थम रहा विवाद, कई शहरों में वेब सीरीज के खिलाफ FIR दर्ज

  •  रेनू तिवारी
  •  जनवरी 19, 2021   17:41
  • Like
'तांडव' की टीम की माफी के बाद भी नहीं थम रहा विवाद, कई शहरों में वेब सीरीज के खिलाफ FIR दर्ज

लॉकडाउन के दौरान ओटीटी प्लेटफॉर्म मनोरंजन के क्षेत्र में तीसरे पर्दे के तौर पर उभरा है। इस प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने वाली फिल्मों या वेब सीरीजों का सेंसर नहीं किया जाता, यानी कि ओटीटी के लिए किसी तरह का कोई सेंसर बोर्ड नहीं है जिसके कारण ओटीटी के काफी कंटेंट विवादों में घिरे रहते हैं।

लॉकडाउन के दौरान ओटीटी प्लेटफॉर्म मनोरंजन के क्षेत्र में तीसरे पर्दे के तौर पर उभरा है। इस प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने वाली फिल्मों या वेब सीरीजों का सेंसर नहीं किया जाता, यानी कि ओटीटी के लिए किसी तरह का कोई सेंसर बोर्ड नहीं है जिसके कारण ओटीटी के काफी कंटेंट विवादों में घिरे रहते हैं। पिछले साल अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन हाउस में बनीं वेब सीरीज पाताल लोक अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई थी। जिसमें पालतू कुतिया का नाम सावित्री रखा गया था जिसे लेकर काफी विवाद हो गया था। अब सैफ अली खान की हाल ही में रिलीज हुई वेब सीरीज 'तांडव' को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कुछ हिंदू संगठनों ने सैफ अली खान की फिल्म 'ताडंव' पर पूजनीय देवी-देवताओं का अपमान करने का आरोप लगाया है। लगातार ओटीटी प्लेटफॉर्म पर विवादित कंटेंट आने के बाद आपत्तिजनक कंटेंट को लेकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय अलर्ट हो गया है। वह जल्द ही ओटीटी के लिए नयी गाइडलाइंस जारी करेगा।  

इसे भी पढ़ें: शाहिद कपूर का फिल्म जर्सी की रिलीज डेट की घोषणा, जानें कब होगी रिलीज  

तांडव के निर्माताओं  ने मांगी माफी

अमेजन प्राइम वीडियो पर प्रसारित ‘तांडव’ वेब सीरीज के एक दृश्य को लेकर शुरू हुए विवाद के मामले में इसके निर्माताओं ने सोमवार को कहा कि अगर गैर-इरादतन तरीके से इससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं तो वे बिना शर्त माफी मांगते हैं। इस सीरीज में हिंदू देवताओं के चित्रण को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। वेब सीरीज के निर्देशक अली अब्बास जफर ने सोशल मीडिया पर एक ट्वीट किया और पूरी टीम की तरफ से मांफी मांगी। ट्वीट के कैप्शन में उन्होंने लिखा- ‘हमारी ओर से गंभीरता के साथ माफी’ इस बयान को ‘तांडव’ के कास्ट और क्रू की ओर से आधिकारिक बयान बताया गया। इसमें कहा गया कि ‘तांडव’ की टीम सीरीज पर दर्शकों की प्रतिक्रियाओं पर करीब से नजर रख रही है। 

अली अब्बास जफर ने जारी किया बयान 

उन्होंने एक नोट जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा- ‘‘आज एक चर्चा के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने हमें बताया कि उन्हें वेब सीरीज के विभिन्न पहलुओं को लेकर बड़ी संख्या में शिकायतें और अर्जियां मिली हैं जो इसकी सामग्री द्वारा लोगों की भावनाओं को आहत करने संबंधी गंभीर चिंताओं और आशंकाओं के बारे में हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: शूटिंग से पहले आलिया भट्ट को अस्पताल में कराया गया भर्ती, जानें क्या है वजह 

नोट में आगे कहा गया कि ‘‘तांडव काल्पनिक कहानी पर आधारित है और किसी भी गतिविधि, व्यक्ति या घटना से इसकी समानता होना विशुद्ध संयोग है। इसके निर्माताओं और कलाकारों का किसी व्यक्ति, जाति, समुदाय, धर्म की भावनाओं या धार्मिक आस्थाओं को आहत करने या किसी संस्था, राजनीतिक दल अथवा व्यक्ति (जीवित या मृत) का अपमान करने का कोई इरादा नहीं था। तांडव की पूरी यूनिट, लोगों द्वारा जताई गयी चिंताओं पर संज्ञान लेती है और यदि इससे गैर-इरादतन तरीके से किसी व्यक्ति की भावनाओं को चोट पहुंची है तो हम बिना शर्त माफी मांगते हैं।

क्यों हुआ विवाद

शो पर शुरू हुए विवाद के केंद्र में एक दृश्य है जिसमें कॉलेज छात्र शिवा का किरदार अदा कर रहे मोहम्मद जीशान अय्यूब को एक नाटक में भगवान महादेव का चित्रण करते हुए दिखाया गया है। शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने रविवार को इस विषय पर अमेजन प्राइम वीडियो से स्पष्टीकरण मांगा था। मंत्रालय में एक सूत्र ने कहा था, ‘‘मंत्रालय ने शिकायतों पर संज्ञान लिया है और अमेजन प्राइम वीडियो से स्पष्टीकरण देने को कहा है।’’ 

तांडव पर हो रही है सियासत

मुंबई उत्तर-पूर्व से भाजपा सांसद मनोज कोटक, मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री विश्वास सारंग तथा राज्य विधानसभा के प्रोटेम अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा समेत कुछ नेताओं ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर से वेब सीरीज पर रोक लगाने की मांग की थी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शल-भमणि त्रिपाठी ने कहा कि ‘तांडव’ के निर्माताओं को धार्मिक भावनाएं आहत करने की कीमत चुकानी होगी। इस मामले में लखनऊ के हजरतगंज थाने, ग्रेटर नोयडा, भोपाल में प्राथमिकी दर्ज की गयी है। उत्तर प्रदेश पुलिस के चार सदस्य मामले में विस्तृत जांच के लिए मुंबई रवाना हो चुके हैं। त्रिपाठी ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश पुलिस एक कार में मुंबई के लिए रवाना हो गयी है। प्राथमिकी में कठोर धाराएं हैं। तैयार रहो, धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए कीमत अदा करनी होगी।

ओटीटी प्लेटफार्म्स लगाम लगाने की जरुरत

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस वेब सीरीज की विषय वस्तु पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हमारी आस्था पर चोट और हमारे देवी-देवताओं का अपमान करने का अधिकार किसी को नहीं है। ओटीटी प्लेटफार्म्स पर परोसी जा रही अश्लीलता हमारे किशोरों के लिये ठीक नहीं है इसलिये इन मंचों पर कड़ी निगरानी रखने की आवश्यकता है। केंद्र सरकार इस पर स्वत: संज्ञान ले रही है।’’







पेशी वारंट जारी होने के बाद हास्य कलाकार मुनव्वर फारूकी की मुश्किलें बढ़ीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 19, 2021   11:40
  • Like
पेशी वारंट जारी होने के बाद हास्य कलाकार मुनव्वर फारूकी की मुश्किलें बढ़ीं

हिंदू देवी-देवताओं पर कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणियों के मामले में इंदौर में गिरफ्तार हास्य कलाकार मुनव्वर फारुकी की मुश्किलें बढ़ गई हैं क्योंकि ऐसे ही आरोपों को लेकर उत्तरप्रदेश में पिछले साल दर्ज प्राथमिकी में उनके खिलाफ पेशी वॉरंट जारी किया गया है।

प्रयागराज/ इंदौर। हिंदू देवी-देवताओं पर कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणियों के मामले में इंदौर में गिरफ्तार हास्य कलाकार मुनव्वर फारुकी की मुश्किलें बढ़ गई हैं क्योंकि ऐसे ही आरोपों को लेकर उत्तरप्रदेश में पिछले साल दर्ज प्राथमिकी में उनके खिलाफ पेशी वॉरंट जारी किया गया है। इसके बाद फारुकी के वकील ने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय से गुहार की है कि गुजरात के युवा हास्य कलाकार की लंबित जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई की जाए। फारुकी को इंदौर से भाजपा की एक विधायक के बेटे की शिकायत पर एक जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।

इसे भी पढ़ें: 'ठाकरे' परिवार की बहू बन सकती हैं अलाया फर्नीचरवाला? बेटे को कर रही हैं डेट

जानकार सूत्रों ने सोमवार को बताया कि प्रयागराज के एक अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एसीजेएम) ने इंदौर के केंद्रीय जेल के अधीक्षक के नाम छह जनवरी को वॉरंट जारी करते हुए कहा कि उत्तरप्रदेश में दर्ज मामले में आरोपों का उत्तर देने और आगामी कार्यवाही के लिए फारुकी की उपस्थिति अत्यंत आवश्यक है। सूत्रों के मुताबिक प्रयागराज के जॉर्ज टाउन पुलिस थाने में फारुकी के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 153-ए (सांप्रदायिक सौहार्द्र पर विपरीत असर डालने वाला कार्य) और धारा 295-ए (किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के इरादे से जान-बूझकर किए गए विद्वेषपूर्ण कार्य) के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के संबद्ध प्रावधानों के तहत पिछले साल मामला दर्ज किया गया था।

इसे भी पढ़ें: शूटिंग से पहले आलिया भट्ट को अस्पताल में कराया गया भर्ती, जानें क्या है वजह

मध्यप्रदेश के जेल विभाग के एक आला अधिकारी ने सोमवार देर शाम कहा कि फारुकी फिलहाल न्यायिक हिरासत के तहत इंदौर के केंद्रीय जेल में ही बंद है। इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार व भाजपा नेता शलभ मणि त्रिपाठी ने हास्य कलाकार फारूकी का नाम लिए बगैर ट्वीट में दावा किया कि माता सीता का अपमान करने वाले ‘फर्जी कॉमेडियन’ को मध्यप्रदेश से लाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस की गाड़ी रवाना हुई है। गौरतलब है कि नववर्ष की पहली तारीख को इंदौर में दर्ज मामले को लेकर फारुकी की जमानत याचिका पर मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में केस डायरी के अभाव में शुक्रवार (15 जनवरी) को सुनवाई आगे बढ़ा दी गई थी।

इस याचिका पर अगली सुनवाई के लिए 25 जनवरी की तारीख तय है। इस बीच, फारुकी के इंदौर स्थित वकील अंशुमान श्रीवास्तव ने पीटीआई- को बताया कि प्रयागराज की अदालत से पेशी वॉरंट जारी होने की जानकारी मिलने बाद उन्होंने सोमवार को आवेदन पेश कर मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय से गुहार की कि उनके मुवक्किल की जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई की जाए। उन्होंने बताया, हम जल्द सुनवाई के इस आवेदन पर मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश का इंतजार कर रहे हैं। इससे पहले, प्रयागराज के पुलिस निरीक्षक (अपराध शाखा) धाकेश्वर सिंह ने बताया कि फारुकी के खिलाफ वायरल वीडियो को लेकर पिछले वर्ष अप्रैल में एक स्थानीय अधिवक्ता की शिकायत पर जॉर्ज टाउन थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

हास्य कलाकार पर इस वीडियो में हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान का आरोप है। सिंह के मुताबिक प्रयागराज में दर्ज प्राथमिकी में फारुकी की गिरफ्तारी इसलिए नहीं हो सकी थी क्योंकि उसमें उनका गलत पता दर्ज कराया गया था और उनके पिता के नाम का भी उल्लेख नहीं था। अधिकारी के मुताबिक चार महीने पहले प्रयागराज के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस मामले की जांच अपराध शाखा को सौंप दी थी। सिंह ने बताया, ‘‘यह जानकारी मिलने पर कि फारुकी इंदौर के केंद्रीय जेल में बंद है, हम स्थानीय अदालत में गए और उसकी पेशी का वॉरंट हासिल किया। हमने सात जनवरी को यह वॉरंट इंदौर के केन्द्रीय जेल और मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया।’’ पुलिस अधिकारियों के मुताबिक इंदौर की भाजपा विधायक और शहर की पूर्व महापौर मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड़ के बेटे एकलव्य सिंह गौड़ ने फारुकी और हास्य कार्यक्रम के आयोजन से जुड़े चार अन्य लोगों के खिलाफ तुकोगंज पुलिस थाने में एक जनवरी की रात मामला दर्ज कराया था।

विधायक पुत्र का आरोप है कि शहर के एक कैफे में एक जनवरी की शाम आयोजित इस कार्यक्रम में हिंदू देवी-देवताओं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और गोधरा कांड को लेकर अभद्र टिप्पणियां की गई थीं। चश्मदीदों के मुताबिक एकलव्य अपने साथियों के साथ बतौर दर्शक इस कार्यक्रम में पहुंचे थे। उन्होंने कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के विरोध में जमकर हंगामा किया और कार्यक्रम रुकवाने के बाद फारुकी समेत पांच लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




'ठाकरे' परिवार की बहू बन सकती हैं अलाया फर्नीचरवाला? बेटे को कर रही हैं डेट

  •  रेनू तिवारी
  •  जनवरी 19, 2021   11:19
  • Like
'ठाकरे' परिवार की बहू बन सकती हैं अलाया फर्नीचरवाला? बेटे को कर रही हैं डेट

बॉलीवुड में फिल्म के सेट पर सितारों को प्यार में कई बार डूबते देखा गया है। बहुत से ऐसे उदाहरण है जिसमें रील का प्यार रियल लाइफ में भी उतर जाता था। बॉलीवुड इंडस्ट्री के लोग ज्यादा अपनी इंडस्ट्री के लोगों से ही शादी करते है क्योंकि वह एक दूसरे के लाइफस्टाइल को समझते हैं।

बॉलीवुड में फिल्म के सेट पर सितारों को प्यार में कई बार डूबते देखा गया है। बहुत से ऐसे उदाहरण है जिसमें रील का प्यार रियल लाइफ में भी उतर जाता था। बॉलीवुड इंडस्ट्री के लोग ज्यादा अपनी इंडस्ट्री के लोगों से ही शादी करते है क्योंकि वह एक दूसरे के लाइफस्टाइल को समझते हैं। कई कपल ऐसे भी है जो अलग-अलग इंडस्ट्री से ताल्लुक लेकिन दोनों की जोड़ी सुपरहित है जैसे विराट कोहली और अनुष्का शर्मा। लंबे समय तक एक दूसरे को डेट करने के बाद दोनों शादी के बंधन में बंध गये थे।

इसे भी पढ़ें: शाहिद कपूर का फिल्म जर्सी की रिलीज डेट की घोषणा, जानें कब होगी रिलीज 

मुंबई गलियारों में उड़ रही खबरों के अनुसार खेल जगत के बाद अब बॉलीवुड का रिश्ता राजनीतिक जगत से भी जुड़ सकता है। अफवाह है कि  बॉलीवुड एक्टर कबीर बेदी और एक्ट्रेस पूजा बेदी की बेटी अलाया फर्नीचरवाला, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के भतीजे ऐश्वर्या ठाकरे को डेट कर रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: सैफ अली खान की वेब सीरीज पर मचा है 'तांडव', सूचना प्रसारण मंत्रालय ले सकता है एक्शन! 

पापराज़ी  के कैमर में कैद ताजा तस्वीरों में  अलाया फर्नीचरवाला और ऐश्वर्या ठाकरे को साथ में देखा गया। दोनों डिनर डेट के लिए घर से बाहर निकते थे। दोनों ने ब्लैक कलर के कपडे कैरी किए हुए थे। अलाया ने वॉम स्वैटर टाइप फुल स्लीव टी-शर्ट पहना हुआ था। वहीं ऐश्वर्या ने ब्लैक टीशर्ट और ट्राउजर पहना हुआ था। 

इस बीच, काम के मोर्चे पर, अलाया ने सैफ अली खान और तब्बू अभिनीत फिल्म 'जवानी जानेमन' के साथ बॉलीवुड में अपनी शुरुआत की। यह फिल्म पिछले साल जनवरी में रिलीज हुई थी। फिल्म को दर्शकों और आलोचकों से समान रूप से मिश्रित प्रतिक्रिया मिली। 







This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept