सोनाक्षी सिन्हा को किसी से कोई गिला-शिकवा नहीं है, जहां भी हैं ख़ुद से ख़ुश हैं

sonakshi-sinha-is-happy-with-her-career
सोनाक्षी अपने पिछले 10 साल के कॅरियर से ख़ुश हैं और उन्हें किसी से कोई शिकवा या शिकायत भी नहीं है। एक्ट्रेस का कहना है कि फ़िल्मी सफ़र में वो अब तक जितने भी लोगों से मिली, उन सभी से उन्होंने बहुत कुछ सीखा है।

दंबग एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा की बॉलीवुड में शुरूआत अच्छी थी। हांलाकि, इसके बाद वो फ़िल्म इंडस्ट्री में कुछ ख़ास कमाल नहीं कर पाईं। सोनाक्षी की पहली फ़िल्म के बाद दर्शकों को उनसे ख़ास उम्मीदें थी, लेकिन वो उनकी उम्मीदों पर खरी नहीं उतर पाई। 

इसे भी पढ़ें: कई बार राष्ट्रवाद शब्द का गलत इस्तेमाल किया जाता है: निखिल अडवाणी

फिलहाल, इन दिनों वो अपनी आने वाली फ़िल्म 'खानदानी शफाखाना' के प्रमोशन में बिज़ी हैं और इस दौरान उन्होंने मीडिया से अपने फ़िल्मी कॅरियर के बारे में भी बात की। एक इंटरव्यू के दौरान सोनाक्षी ने बताया कि अब तक उन्होंने ख़ुद को किसी नबंर पर रख कर नहीं देखा और आगे भी ऐसा नहीं होगा। इसके साथ ही सोनाक्षी कहती हैं कि इन दिनों उनके पास अच्छा करने के लिये बहुत कुछ है, जिसे वो एंजॉय भी कर रही हैं। 

एक्ट्रेस का कहना है कि आज भी जब कोई मूवी करती हैं, तो उन्हें पहली फ़िल्म जैसी ही फ़ील आती है और सोनाक्षी ज़िंदगीभर इसी फ़ीलिंग के साथ जीना चाहती हैं। सोनाक्षी अपने पिछले 10 साल के कॅरियर से ख़ुश हैं और उन्हें किसी से कोई शिकवा या शिकायत भी नहीं है। एक्ट्रेस का कहना है कि फ़िल्मी सफ़र में वो अब तक जितने भी लोगों से मिली, उन सभी से उन्होंने बहुत कुछ सीखा है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि उन्हें किसी फ़िल्म के फ़्लॉप होने से कोई डर नहीं लगता। 

इसे भी पढ़ें: अपने पहनावे को लेकर कृति सैनन ने कही ये बड़ी बात!

क्योंकि सोनाक्षी कहती हैं कि ज़िंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और ऐसा होते भी रहना चाहिये, ताकि लाइफ़ रोमांचक रहे। सोनाक्षी अपनी ज़िंदगी से बेहद ख़ुश हैं, चाहें उनकी फ़िल्म चले या न चले। वो हार को पॉजिटिव तरीके से देखती हैं और असफ़लताओं से सीखती हैं। इंटरव्यू में सोनाक्षी में ये भी बताया कि हार की वजह से ही वो ज़िंदगी में आगे बढ़ कर कुछ पाईं। इसलिये उन्हें लाइफ़ में हो रहे अप्स एंड डाउन से फ़र्क नहीं पड़ता। वहीं अपने भाइयों के बारे में बात करते हुए सोनाक्षी कहती हैं कि लव और कुश की किस्मत उनके जैसी अच्छी नहीं थी, इसलिये वो फ़िल्मों में नहीं चल पाये। हांलाकि, इसकी वजह से उनकी ज़िंदगी पर कोई फ़र्क नहीं पड़ा।

- आकांक्षा तिवारी

अन्य न्यूज़