सारे देश की नजर हम पर, एयर इंडिया को विश्वस्तरीय एयरलाइन बनाने को प्रतिबद्ध: चंद्रशेखरन

Air India
चंद्रशेखरन ने भरोसा जताया कि एयर इंडिया का स्वर्णिम युग आने वाला है। केंद्र सरकार ने आधिकारिक रूप से एयर इंडिया को करीब 69 साल बाद टाटा समूह को फिर सौंप दिया है।

नयी दिल्ली|टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने बृहस्पतिवार को कहा कि पूरे देश की नजर टाटा समूह और एयर इंडिया पर है। लोग यह देखना चाह रहे हैं कि हम दोनों मिलकर क्या हासिल करने वाले हैं।

समूह के सरकारी एयरलाइन का स्वामित्व सरकार से हासिल करने के बाद उन्होंने एयर इंडिया के कर्मचारियों को लिखे पत्र में यह बात कही है। उन्होंने यह भी कहा कि टाटा समूह एयर इंडिया को विश्वस्तरीय एयरलाइन बनाने को प्रतिबद्ध है।

चंद्रशेखरन ने भरोसा जताया कि एयर इंडिया का स्वर्णिम युग आने वाला है। केंद्र सरकार ने आधिकारिक रूप से एयर इंडिया को करीब 69 साल बाद टाटा समूह को फिर सौंप दिया है।

एयर इंडिया के कर्मचारियों को भेजे संदेश में चंद्रशेखर ने कहा, ‘‘मैंने यह सीखा है कि जो अतीत का सबसे अच्छा है, उसे संरक्षित रखा जाए और इसके लिये निरंतर बदलाव की आवश्यकता होती है। एक गौरवशाली इतिहास का सबसे अच्छा सम्मान भविष्य के अनुसार उसे तैयार करना और उसे अपनाना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पूरा देश की नजर हम पर टिकी है। वे इंतजार कर रहे हैं कि हम साथ मिलकर क्या हासिल करेंगे...हमारे देश को जिस एयरलाइन की जरूरत है, उसके निर्माण के लिए हमें भविष्य की ओर देखने की जरूरत है।’’

एयर इंडिया की शुरुआत टाटा समूह ने 1932 में की थी। हालांकि, आजादी के बाद एयरलाइन का 1953 में राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। चंद्रशेखरन ने कहा, ‘‘घोषणा के दिन (आठ अक्टूबर, 2021) से हर किसी की जुबान पर एक ही शब्द है-घरवापसी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आज नये अध्याय की शुरुआत है। मैं टाटा समूह की तरफ से समूह में आपका स्वागत करने के लिये यह पत्र लिख रहा हूं।’’

चंद्रशेखर ने कहा, ‘‘मेरी पहली उड़ान दिसंबर, 1986 में एयर इंडिया के साथ थी और मैं यह कभी नहीं भूलूंगा कि जहाज पर होना कितना खास था...।’’ उन्होंने कहा कि ये यादें शानदार हैं, लेकिन अब समय आगे देखने का है। वह इस बात से पूरी तरह से सहमत हैं कि एयर इंडिया का स्वर्णिम युग आने वाला है। उन्होंने एक बयान में यह भी कहा कि टाटा समूह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुधारों को लेकर प्रतिबद्धता और भारत की उद्यमिता की भावना में भरोसे को लेकर पूरी तरह वाकिफ है। ‘ऐतिहासिक बदलाव’ इसी कारण से संभव हो पाया है।

चंद्रशेखरन ने बयान में कहा, ‘‘हम एयर इंडिया को टाटा समूह में वापस पाकर उत्साहित हैं और इसे वैश्विक स्तर की एयरलाइन बनाने को पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। मैं एयर इंडिया के सभी कर्मचारियों का हमारे समूह में पूरी गर्मजोशी के साथ स्वागत करता हूं और साथ मिलकर काम करने को उत्सुक हूं।’’

समूह ने यह भी कहा कि वह प्रधानमंत्री के विमानन क्षेत्र को सस्ता बनाने और नागरिकों के लिये ‘रहन-सहन को सुगम’ बनाने में योगदान सुनिश्चित करने के दृष्टिकोण से सहमत है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़