इस साल 1-1.25 लाख डिजिटल गांवों की स्थापना करना शीर्ष प्राथमिकताः दूरसंचार राज्य मंत्री

establishing-digital-village-is-on-top-priority-says-telecom-mos
ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम से इतर धोत्रे ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि हमें इस साल 1-1.25 लाख डिजिटल गांवों की स्थापना करनी है।

नयी दिल्ली। दूरसंचार राज्य मंत्री संजय शामराव धोत्रे ने बृहस्पतिवार को कहा कि 1-1.25 लाख डिजिटल गावों की स्थापना, नेटवर्क की स्थिति को बेहतर बनाना और बीएसएनएल एवं एमटीएनएल का पुनरुत्थान उनकी शीर्ष प्राथमिकताओं में शामिल हैं। ब्रॉडबैंड इंडिया फोरम से इतर धोत्रे ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि हमें इस साल 1-1.25 लाख डिजिटल गांवों की स्थापना करनी है।

इसे भी पढ़ें: भारत में 89 प्रतिशत पारिवारिक कंपनियों के कारोबार में दो साल में विस्तार की संभावना: सर्वे

हमें कॉलड्रॉप सहित सेवाओं की गुणवत्ता को बेहतर बनाना है और बीएसएनएल और एमटीएनएल का पुनरुत्थान करना है। उन्होंने कहा कि घाटे में चल रही सरकारी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों बीएसएनएल और एमटीएनएल के पुनरुत्थान के प्रस्ताव को  तीन से चार माह के भीतर  केंद्रीय मंत्रिमंडल के समक्ष रखा जाएगा।

इसे भी पढ़ें: होंडा कार्स अपने वाहनों के दाम 1.2% बढ़ाने पर कर रही है विचार

वहीं, दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने कहा है कि दुकानदारों, रेस्तरां और छोटे कारोबारियों को पहले के टेलिफोन बुथ की तरह वाईफाई की सुविधा उपलब्ध कराने की अनुमति देने के लिए सरकार एक तंत्र विकसित करने की दिशा में काम कर रही है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने देश में वाईफाई हॉटस्पॉट की संख्या बढ़ाने के लिए सार्वजनिक डेटा कार्यालय (पीडीओ) की स्थापना का सुझाव दिया था लेकिन दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों के विरोध के चलते इसे आगे नहीं बढ़ाया गया था। सुंदरराजन ने कहा कि हम पीडीओ से जुड़ा तंत्र लाएंगे। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़