• दुनिया में 5वां सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार वाला देश बना भारत, टॉप पर चीन

गौरतलब है कि, देश का विदेशी मुद्रा भंडार नौ जुलाई को समाप्त सप्ताह में 1.883 अरब डॉलर बढ़कर रिकार्ड 611.895 अरब डॉलर पर पहुंच गया। आरबीआई के जारी आंकड़े के अनुसार इससे पहले, दो जुलाई को समाप्त सप्ताह में मुद्रा भंडार 1.013 अरब डॉलर बढ़कर 610.012 अरब डॉलर पहुंच गया था।

मुंबई। भारत चीन, जापान, स्विटजरलैंड और रूस के बाद दुनिया में पांचवां सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार वाला देश बन गया है। वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि देश का विदेशी मुद्रा भंडार 25 जून को लगभग 609 बिलियन डॉलर था। उन्होंने कहा कि देश के विदेशी मुद्रा भंडार की स्थिति 18 महीने से अधिक के आयात कवर के मामले में आरामदायक है।

इसे भी पढ़ें: सर्वे में खुलासा! ई-कॉमर्स कंपनियों की भारी छूट के पक्ष में ग्राहक, नहीं चाहते रोक

गौरतलब है कि, देश का विदेशी मुद्रा भंडार नौ जुलाई को समाप्त सप्ताह में 1.883 अरब डॉलर बढ़कर रिकार्ड 611.895 अरब डॉलर पर पहुंच गया। आरबीआई के जारी आंकड़े के अनुसार इससे पहले, दो जुलाई को समाप्त सप्ताह में मुद्रा भंडार 1.013 अरब डॉलर बढ़कर 610.012 अरब डॉलर पहुंच गया था। नौ जुलाई को समाप्त सप्ताह में मुद्रा भंडार में वृद्धि का कारणविदेशी मुद्रा परिसंपत्ति (एफसीए) है। आरबीआई के कुल मुद्रा भंडार में इसकी प्रमुख हिस्सेदारी है। एफसीए 1.297 अरब डॉलर बढ़कर 568.285 अरब डॉलर पहुंच गया। स्वर्ण भंडार आलोच्य सप्ताह में 58.4 करोड़ डॉलर बढ़कर 36.956 अरब डॉलर पहुंच गया।