आयुष्मान भारत योजना से अब तक तीन लाख लोगों को फायदा: जेटली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 28, 2018   14:16
आयुष्मान भारत योजना से अब तक तीन लाख लोगों को फायदा: जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि पिछले डेढ़ महीने में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के तहत तीन लाख गरीब लोगों को फायदा पहुंचा है।

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा कि पिछले डेढ़ महीने में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के तहत तीन लाख गरीब लोगों को फायदा पहुंचा है। जेटली ने एक पुस्तक ‘‘नये भारत का निर्माण-- मोदी सरकार के दौरान आया बदलाव’’ के विमोचन कार्यक्रम में कहा कि केन्द्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार व्यावसायियों और गरीबों दोनों के प्रति अनुकूल रुख रखती है क्योंकि देश को गरीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के लिये बड़ी मात्रा में संसाधनों की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें- आधार के कामकाज से जुड़े मुद्दे का कोई रास्ता निकाला जाएगा: रविशंकर प्रसाद

जेटली ने कहा, पिछले डेढ महीने की अवधि में करीब तीन लाख लोगों ने आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के तहत अस्पताल में इलाज का लाभ उठाया है। यह लोग देश के सबसे गरीब 10 करोड़ परिवारों में से हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सितंबर 2018 में आयुष्मान भारत योजना की शुरूआत की थी। इस योजना को ‘‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’’ नाम दिया गया है। इसके तहत प्रत्येक गरीब परिवार को पांच लाख रुपये तक का बीमा कवर उपलब्ध कराया गया है। योजना में देश के 10.74 करोड़ गरीब परिवारों को पैनल में शामिल अस्पतालों के नेटवर्क में भर्ती होकर इलाज कराने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। 

यह भी पढ़ें- नोटबंदी मामले में RBI का यू-टर्न, सरकार के बचाव में आये उर्जित पटेल

जेटली ने इस अवसर पर कहा कि यदि देश को अगले एक या दो दशक के दौरान दुनिया के दूसरे देशों के मुकाबले अधिक तेज गति से वृद्धि हासिल करनी है तो ग्रामीण क्षेत्र का योगदान बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा, ‘नये भारत’ में आज 1971 के नारे पूरी तरह से बेकार हो गये हैं। उन्होंने कहा कि आज ‘‘हम व्यावसायियों और गरीब दोनों के प्रति अनुकूल रुख रख्ते हैं।’’ एक के बिना दूसरे का काम नहीं चल सकता। ‘नये भारत का निर्माण: मोदी सरकार के तहत आया बदलाव’’ में अर्थव्यवसथा से लेकर कूटनीति और शिक्षा से लेकर जन स्वास्थ्य तक पर 51 निबंध लिखे गये हैं। पुस्तक की पहली प्रति राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेंट की गई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।