आम आदमी की बढ़ सकती है मुश्किलें, अब हर हफ्ते बदलेगी गैस सिलिंडरों की कीमतें!

आम आदमी की बढ़ सकती है मुश्किलें, अब हर हफ्ते बदलेगी गैस सिलिंडरों की कीमतें!

बता दें कि गैस के अंततराष्ट्रीय दामों को देखते हुए रसौई गैस के दामों में बदलाव किया जाएगा। वैसे तो इस समय तेल कंपनियां महीने में एक बार ही दामों में बदलाव करती है। सूत्रों के मुताबिक, इस बदलाव को लेकर तेल कंपनियों और भारत सरकार के बीच वार्ता चल रही है।

आने वाले कुछ समय में आम आदमी को हर हफ्ते रसौई गैस सिलिंडर के दामों में बदलाव देखने को मिल सकता है। इसकी बड़ी वजह हर दिन तेल कंपनियों का पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी करना और घटाना है और अब तेल कंपनियों हर हफ्ते रसौई गैस सिलिंडर के दामों में भी बदलाव करती रहेगी। बता दें कि गैस के अंततराष्ट्रीय दामों को देखते हुए रसौई गैस के दामों में बदलाव किया जाएगा। वैसे तो इस समय तेल कंपनियां महीने में एक बार ही दामों में बदलाव करती है। सूत्रों के मुताबिक, इस बदलाव को लेकर तेल कंपनियों और भारत सरकार के बीच वार्ता चल रही है। बता दें कि इसका प्रस्ताव तेल कंपनियों ने पेट्रोलियम मंत्रालय को भी सौंप दिया है। 

इसे भी पढ़ें: 50 लाख से अधिक टर्नओवर वाले कारोबारियों को भरना होगा एक प्रतिशत जीएसटी नकद

अब देखना यह होगा कि सरकार इस प्रस्ताव को कब हरी झंडी देगी। बता दें कि अगर सरकार की तरफ से प्रस्ताव को हरी झंडी मिलती है तो तेल कंपनियां अगले वित्त वर्ष यानि की अप्रैल से हर हफ्ते रसौई गैस के दामों को बढ़ाती या घटाती रहेगी। वहीं तेल कंपनियों का बयान आया है कि इसको करने की बड़ी वजह घाटे को कम करने के लिए किया जा रहा है। रेट्स में कमी के कारण तेल कंपनियों को काफी नुकसान झेलना पड़ सकता है। अगर हर हफ्ते रसौई गैस की कीमतें बढ़ती या घटती रहती है तो इससे तेल कंपनियों का बोझ कम बना रहेगा। अधिकारी के मुताबिक, एक हफ्ते अगर गैस की कीमत बढ़ती है तो दूसरे हफ्ते इनकी कीमत घट भी सकती है। गौरतलब है कि तेल कंपनियों ने दिसंबर में दो बार कीमतों में बढ़ोतरी की है।