परमाणु ऊर्जा उत्पादन बिजली पैदा करने के अन्य माध्यमों से बेहतरः सचिव एन व्यास

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 2 2019 12:49PM
परमाणु ऊर्जा उत्पादन बिजली पैदा करने के अन्य माध्यमों से बेहतरः सचिव एन व्यास
Image Source: Google

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद और राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला, एनएएल के हीरक जयंती के मौके पर व्यास ने कहा कि राजस्थान में 1,000 एकड़ में फैले सौर पार्क से 200 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होगा लेकिन इसमें एक दिक्कत है कि उसे राजस्थान जैसे शुष्क क्षेत्र में बार-बार धुलना पड़ेगा।

बेंगलुरु। परमाणु ऊर्जा विभाग के सचिव के एन व्यास ने शनिवार को कहा कि परमाणू ऊर्जा उत्पादन बिजली पैदा करने के अन्य माध्यमों से बेहतर है। व्यास ने परमाणु ऊर्जा उत्पादन की तुलना तापीय विद्युत उत्पादन से करते समय यह बात कही।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका भारत में लगाएगा 6 न्यूक्लियर पावर प्लांट, दोनों देशों में बनी सहमती

उन्होंने कहा कि 1,000 मेगावॉट के परमाणु ऊर्जा संयंत्र के लिए 20 हेक्टेयर जमीन की जरूरत होती है जबकि इसी क्षमता के कोयला आधारित बिजली उत्पादक संयंत्रों के लिए 70 हेक्टेयर भूखंड की जरूरत होती है। 

इसे भी पढ़ें: परमाणु ऊर्जा में है बिजली की बढ़ती मांग को पूरा करने की संभावना: वेंकैया नायडू



वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद और राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला, एनएएल के हीरक जयंती के मौके पर व्यास ने कहा कि राजस्थान में 1,000 एकड़ में फैले सौर पार्क से 200 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होगा लेकिन इसमें एक दिक्कत है कि उसे राजस्थान जैसे शुष्क क्षेत्र में बार-बार धुलना पड़ेगा।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप