कोरोना ने बढ़ाई निवेशकों की टेंशन, Sensex 871 अंक टूटकर 50,000 के नीचे बंद

sensex
सेंसेक्स की कंपनियों में महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर सबसे अधिक करीब चार प्रतिशत टूट गया। एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक, आईटीसी और एनटीपीसी के शेयर भी नुकसान में रहे। इस रुख के उलट एशियन पेंट्स और पावरग्रिड के शेयरों में लाभ रहा।

मुंबई। वैश्विक बाजारों के नकारात्मक रुख के बीच बिकवाली का सिलसिला चलने से बुधवार को सेंसेक्स 871 अंक टूट गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 871.13 अंक या 1.74 प्रतिशत के नुकसान से 49,180.31 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 265.35 अंक या 1.79 प्रतिशत के नुकसान से 14,549.40 अंक पर आ गया। सेंसेक्स की कंपनियों में महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर सबसे अधिक करीब चार प्रतिशत टूट गया। एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक, आईटीसी और एनटीपीसी के शेयर भी नुकसान में रहे। इस रुख के उलट एशियन पेंट्स और पावरग्रिड के शेयरों में लाभ रहा।

इसे भी पढ़ें: नितिन गडकरी ने कहा- हरित राजमार्गों के लिए सात लाख करोड़ खर्च करेगी सरकार

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति-प्रमुख विनोद मोदी ने कहा, ‘‘वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख तथा देश में कोरोना वायरस मामले बढ़ने से निवेशकों की चिंता से स्थानीय शेयर बाजारों में बड़ी गिरावट आई।’’ उन्होंने कहा कि इसके अलावा डॉलर सूचकांक में बढ़त से भी निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग, जापान का निक्की और सियोल का कॉस्पी दो प्रतिशत तक टूट गए। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार भी नुकसान में थे। इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 2.78 प्रतिशत की बढ़त के साथ 62.48 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़