• टीसीआई एक्सप्रेस लिमिटेड ने अपने वित्तीय नतीजों की घोषणा की

टीसीआई एक्सप्रेस भारत में 712 जिलों में से 704 में टाइम-डेफिनेट सॉल्युशन पेश करने के लिए अच्छी तरह सुसज्जित है, जिसमें सड़क, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय वायु मार्ग, ई-कॉमर्स, प्रायरिटी और रिवर्स एक्सप्रेस सेवाओं सहित सेवाओं का व्यापक स्पेक्ट्रम है।

 गुरुग्राम। भारत में एक्सप्रेस डिस्ट्रिब्यूशन में मार्केट लीडर टीसीआई एक्सप्रेस लिमिटेड ("टीसीआई एक्सप्रेस") ने 30 सितंबर, 2019, को समाप्त तिमाही के लिए आज अपने वित्तीय नतीजों की घोषणा की।

प्रदर्शन की मुख्य बातें: वित्त वर्ष 2020 क्यू 2 बनाम वित्त वर्ष 2019 क्यू 2 

▪ वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में 271 करोड़ रुपए का राजस्व ऑपरेशंस से, जो वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही के 248 करोड़ रुपए से 9.3% वृद्धि को दर्शाता है 

▪ वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में ईबीआईटीडीए 32 करोड़ रुपए, जो कि वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही के 28 करोड़ रुपए की तुलना में 15.1% अधिक है 

▪ वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में ईबीआईटीडीए मार्जिन 11.9% रहा, जो कि वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही के 11.3% से 0.6% अधिक है 

▪ वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में पीएटी 26 करोड़ रहा, जो कि वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही के 16 करोड़ की तुलना में 60.6% अधिक है 

▪ वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में पीएटी मार्जिन 9.6% रहा, जो वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही के 6.6% से 3.0% अधिक है 

▪ बोर्ड ने 1.5 रुपए प्रति शेयर अंतरिम लाभांश और 12.9% पे-आउट की सिफारिश की है 

वित्तीय प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुए प्रबंध निदेशक श्री चंदर अग्रवाल ने कहा:

“मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि टीसीआई एक्सप्रेस ने वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में 271 करोड़ रुपए का राजस्व ऑपरेशंस से हासिल किया है, जो वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही की तुलना में साल-दर-साल 9.3% अधिक है। कंपनी ने 32 करोड़ रुपये का ईबीआईटीडीए दिया, जो कि 15.1% की वृद्धि दर्शाता है और इसी अवधि में मार्जिन 60 बेसिस पॉइंट्स बढ़कर 11.9% हो गया। वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में टैक्स चुकाने के बाद लाभ 26 करोड़ रुपए रहा, जो साल-दर-साल आधार पर 60.6% की वृद्धि दिखाता है और वह भी 9.6% मार्जिन के साथ। राजस्व में वृद्धि की बड़ी वजह लघु और मध्यम उद्यमों (एसएमई) के ग्राहकों में वृद्धि थी। मार्जिन में सुधार ऑपरेशनल दक्षता और बेहतर कार्यशील पूंजी प्रबंधन की वजह से हो सका। 

इसे भी पढ़ें: फिच का अनुमान, 2019-20 वित्त वर्ष में 3.6 प्रतिशत रहेगा राजकोषीय घाटा

हमने अपनी भौगोलिक उपस्थिति में भी विस्तार किया और इस तिमाही में 15 नई शाखाएं खोलीं। इसका उद्देश्य महानगरों में अपनी सेवाओं को बढ़ाना और अधिक से अधिक एसएमई ग्राहकों को हासिल करना है। तिमाही में हमने गुड़गांव और पुणे में अपने दो नए सॉर्टिंग सेंटर के लिए आधिकारिक भूमिपूजन समारोह आयोजित किया। गुड़गांव में 2 लाख वर्ग फुट के नए सॉर्टिंग सेंटर और पुणे में 1.5 लाख वर्ग फीट के सॉर्टिंग सेंटर की वजह से इसी वित्त वर्ष के अंत तक कुल 3.5 लाख वर्ग फुट सॉर्टिंग सेंटर का काम पूरा होने की उम्मीद है, जिसमें कमर्शियल ऑपरेशन वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही से शुरू होने का अनुमान है। हमारे मालिकाना हक वाले इन सॉर्टिंग सेंटर पर पूरी तरह से बिजनेस इंटेलिजेंस का ऑटोमेशन और कार्यान्‍वयन के बाद हम कम टर्नअराउंड टाइम में रिजल्ट दे सकेंगे और दीर्घकाल में हमारी परिचालन क्षमता भी बढ़ेगी।

इसे भी पढ़ें: कोर्ट का JP Infra को बड़ा झटका, दिवाला समाधान प्रक्रिया 90 दिन में पूरी करने का आदेश

वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में सभी सेक्टर में औद्योगिक गतिविधियों के कमजोर रहने से घरेलू अर्थव्यवस्था में मंदी का अनुभव किया गया, जो कि फेस्टिव सीजन की शुरुआत के साथ तिमाही के अंत में मांग में मामूली बढ़ोतरी भी दर्ज की गई। विपरीत हवाओं के बावजूद हम मजबूत वृद्धि देने में सक्षम रहे, जो हमारे यूनिक वैल्यू प्रपोजिशन, विक्रेताओं के साथ मजबूत पार्टनरशिप अरेंजमेंट और एसएमई के हमारे बढ़ते और विविध क्लाइंट बेस के समर्थन की वजह से ही संभव हो सका। 

इसके अलावा 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर अर्थव्यवस्था के लिए सरकारी लक्ष्य ने लॉजिस्टिक्स क्षेत्र पर जोर दिया है और मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क्स पॉलिसी, नेशनल लॉजिस्टिक्स पोर्टल, इंडस्ट्रियल कॉरिडोर जैसी पहल के साथ विकास को मजबूती मिलने की उम्मीद है।

हम घरेलू आर्थिक माहौल के बारे में पूरी तरह से आशान्वित हैं और अपने ग्राहकों को टाइम-डेफिनेट सॉल्युशन देने की हमारी मुख्य ताकत पर फोकस जारी रखेंगे और अपनी बैलेंस शीट को और मजबूत करेंगे।”

टीसीआई एक्सप्रेस के बारे में: 

टीसीआई एक्सप्रेस अपने अतुलनीय अनुभव और इस क्षेत्र में गहन विशेषज्ञता के आधार पर भारत का अग्रणी टाइम-डेफिनेट एक्सप्रेस डिस्ट्रिब्यूटर है, जो इसे एक्सप्रेस डिस्ट्रिब्यूशन के लिए अनुकूलित समाधान प्रदान करने में सक्षम बनाता है। कंपनी तेजी से बढ़ रही है और अपने 800 कार्यालयों के जरिये 40,000 से ज्यादा स्थानों को कवर करते हुए डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क का स्थानीय स्तर पर विस्तार कर रही है।

इसे भी पढ़ें: भारत में 52 अरब डॉलर के विलय एवं अधिग्रहण सौदे होने की संभावना: रिपोर्ट

टीसीआई एक्सप्रेस भारत में 712 जिलों में से 704 में टाइम-डेफिनेट सॉल्युशन पेश करने के लिए अच्छी तरह सुसज्जित है, जिसमें सड़क, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय वायु मार्ग, ई-कॉमर्स, प्रायरिटी और रिवर्स एक्सप्रेस सेवाओं सहित सेवाओं का व्यापक स्पेक्ट्रम है। कंपनी के पास कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, रिटेल, अपैरल और लाइफस्टाइल, ऑटोमोबाइल, फार्मास्यूटिकल्स, इंजीनियरिंग, ई-कॉमर्स, एनर्जी/ पॉवर, और दूरसंचार जैसे क्षेत्रों में ग्राहकों को समाधान प्रस्तुत करने में विशेष विशेषज्ञता है। कंपनी की प्रतिबद्धता उत्कृष्टता और मूल्य-आधारित नीतियों के प्रति स्पष्ट है और एक्सप्रेस डिलीवरी उद्योग में ग्राहकों, विक्रेताओं, कर्मचारियों, शेयरधारकों, और अन्य सभी हितधारकों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए टीसीआई एक्सप्रेस इस सेगमेंट में लंबी अवधि में विकास के लिए अग्रदूत के तौर पर उभरा है।