विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी को फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 28, 2018   17:55
विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी को फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

जिगलर ने कहा कि प्रेमजी को यह पुरस्कार भारत में सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग को विकसित करने में अहम योगदान और फ्रांस में उनकी आर्थिक पहुंच के लिए दिया गया है।

बेंगलुरू। दिग्गज सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी को फ्रांस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘नाइट ऑफ द लीजियन ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया। विप्रो ने यहां बुधवार को कहा कि प्रेमजी को यह सम्मान भारत में फ्रांस के राजदूत एलेक्जेंडर जिगलर ने प्रदान किया। जिगलर ने कहा कि प्रेमजी को यह पुरस्कार भारत में सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग को विकसित करने में अहम योगदान और फ्रांस में उनकी आर्थिक पहुंच के लिए दिया गया है।

साथ ही अजीम प्रेमजी फाउंडेशन और अजीम प्रेमजी विश्वविद्यालय के माध्यम से समाज का कल्याण करने में भी उनके योगदान को इस सम्मान से सराहा गया है। सम्मान ग्रहण करते हुए प्रेमजी ने कहा कि वह इस सम्मान को पाकर गौरवांवित महसूस कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: नोटबंदी देश को ईमानदार बनाने की कोशिश थी: रविशंकर प्रसाद

‘नाइट ऑफ द लीजियन ऑफ ऑनर’ की स्थापना 1802 में नेपालियन बोनापार्ट ने की थी। यह फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है जो फ्रांस के लिए असाधारण काम करने वालों को बिना उनकी नागरिकता को ध्यान में रखकर प्रदान किया जाता है। भारत में वैज्ञानिक सी.एन.आर. राव, तमिल फिल्म कलाकार शिवाजी गणेशन, कलाकार कमल हसन, बंगाली फिल्म कलाकार सौमित्र चटर्जी और हिंदी फिल्म कलाकार शाहरुख खान को भी इससे नवाजा जा चुका है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।