टैली सॉफ्टवेयर से रोजगार पाने के लिए जरुर जानिये ''ये बातें''

टैली सॉफ्टवेयर से रोजगार पाने के लिए जरुर जानिये ''ये बातें''

टैली में ज्यादातर रूचि कॉमर्स के स्टूडेंट लेते हैं, क्योंकि अकाउंटिंग की जानकारी उनको होती ही है और ऐसे में टैली उनके लिए आसान हो जाती है। मगर आप कॉमर्स के स्टूडेंट नहीं भी हैं, तो भी टैली सीख सकते है।

कंप्यूटर के क्षेत्र में टैली का नाम आपने कई बार सुना होगा। टैली एक तरह का सॉफ्टवेयर है जो अकाउंटिंग के कार्यों में इस्तेमाल किया जाता है। टैली सॉफ्टवेयर के सहारे किसी भी छोटी दुकान या किसी बड़े कंपनी के अकाउंट को बड़े ही आसानी से मेंटेन कर सकते हैं। टैली सीख लेने के बाद आपके लिए रोजगार के कई सारे ऑप्शन खुल जाते हैं। 

हम यहां आपको बताएंगे कि टैली सीखने से आपको क्या फायदे होते हैं।


क्या है टैली?

टैली सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने इस सॉफ्टवेयर का निर्माण किया है। इसका मुख्यालय बेंगलुरु में स्थित है। अकाउंटिंग के लिए टैली भारत भर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सॉफ्टवेयर है। वहीं इसका उपयोग विदेशों में भी किया जाता है। टैली के माध्यम से किसी भी छोटी दुकान या किसी बड़ी कंपनी के अकाउंट को बड़ी ही आसानी से मैनेज किया जाता है। आप इसे साधारण भाषा में कह सकते हैं कि किसी कंपनी के हिसाब किताब को कंप्यूटर में सहेजने के लिए टैली का प्रयोग किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: फुटवियर डिजाइनिंग में इस तरह बनाएं कॅरियर

कौन सीख सकता है टैली?

टैली में ज्यादातर रूचि कॉमर्स के स्टूडेंट लेते हैं, क्योंकि अकाउंटिंग की जानकारी उनको होती ही है और ऐसे में टैली उनके लिए आसान हो जाती है। मगर आप कॉमर्स के स्टूडेंट नहीं भी हैं, तो भी टैली सीख सकते है। 

ये अलग बात है कि आपको कॉमर्स के स्टूडेंट्स के मुकाबले ज्यादा मेहनत करने की आवश्यकता होती है अकाउंटिंग को समझने में।

क्या होनी चाहिए योग्यता?

टैली सीखने के लिए आपको किसी विशेष डिग्री की जरुरत नहीं होती है। 12वीं पास करने के बाद से ही आप टैली का कोर्स कर सकते हैं।


कहां से सीखें?

आजकल इंटरनेट के जमाने में आपको किसी भी सब्जेक्ट का ट्यूटोरियल यूट्यूब पर मिल जाएगा। आप अगर मेहनती और लगनशील है तो यूट्यूब वीडियोज देखकर आसानी से टैली के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे यूट्यूब से टैली तो सीख लेंगे लेकिन इसके लिए आपको कोई सर्टिफिकेट नहीं मिलेगा। 

इसलिए बेहतर होगा अगर आप अपने नजदीकी किसी इंस्टिट्यूट से टैली का कोर्स कर लें। टैली सिखाने के लिए हर इंस्टिट्यूट अपने यहाँ अलग-अलग समय सीमा रखते हैं। कहीं 1 महीने के अंदर, कहीं डेढ़ महीने के अंदर तो अधिकांश जगहों पर 3 महीने के अंदर टैली सिखाया जाता है। 

इसे भी पढ़ें: 12वीं पास के बाद इन कोर्स को करने पर मिलेगी गारंटीड जॉब

ऐसे में आपके लिए बेहतर होगा कि आप 3 महीने का फुल कोर्स करें। टैली 8।1 और टैली ९ बहुधा इस्तेमाल किया जाता है। टैली 9 इसका एडवांस सॉफ्टवेयर है। 2017 से टैली में जीएसटी अपडेट कर दिया गया है। इसके बाद से आपको जीएसटी के साथ टैली की पढ़ाई पहनी होती है। 

चूंकि जीएसटी लागू होने के बाद से किसी भी एकाउंटिंग करने वाले व्यक्ति को जीएसटी का भी हिसाब किताब करना पड़ता है। इसीलिए टैली के साथ जीएसटी पढ़ना भी अनिवार्य हो गया है।


रोजगार की संभावनाएं

टैली सीखने के बाद बैंकिंग, कंपनी में एकाउंटिंग के लिए अप्लाई कर सकते हैं। अगर आप चाहें तो पार्ट टाइम के लिए मार्केट में खुद जा कर किसी भी होलसेलर से उसकी दुकान के अकाउंटिंग को पूरा करने की बात कर सकते हैं। इसके लिए आप अगर हफ्ते में 2 दिन भी जाएँ तो भी काम बन सकता है।

ऑनलाइन जॉब सर्च

आप किसी भी जॉब प्रोवाइडर पोर्टल पर अपना अकाउंट बना कर काम मांग सकते हैं।

नोट- सिर्फ टैली सीख लेना ही किसी बढि़या कंपनी में काम पाने के लिए पर्याप्त नहीं है। टैली के साथ ही आपको कंप्यूटर की भी बढ़िया जानकारी होनी चाहिए। इसके साथ अकाउंटिंग से सम्बंधित अन्य जानकारियां भी आपको पता होनी चाहिए। इस कड़ी में आपको Fundamentals Of Computer, M.S. Excel, M.S. Word इत्यादि कॉमन सॉफ्टवेयर्स की भी अच्छी जानकारी होनी आवश्यक है। 

- मिथिलेश कुमार सिंह