माइकल क्लार्क की चेतावनी, बताया इस कारण से भारत 4-0 से हारेगा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2020   17:44
माइकल क्लार्क की चेतावनी, बताया इस कारण से भारत 4-0 से हारेगा

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने चेताया है कि वापस लौटने से पहले अगरकोहली लय नहीं देगा तो भारत टेस्ट श्रृंखला में 0-4 से हार सकता है।क्लार्क का मानना है कि सिर्फ एक टेस्ट में खेलने के बावजूद करिश्माई भारतीय कप्तान सीमित ओवरों की श्रृंखला में दबदबा बनाकर टेस्ट श्रृंखला के नतीजे में बड़ी भूमिका निभा सकता है।

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने चेताया है कि अगर कप्तान विराट कोहली स्वदेश लौटने से पहले सीमित ओवरों की श्रृंखला में भारत को लय नहीं देंगे तो टीम को टेस्ट श्रृंखला में 0-4 से शिकस्त झेलनी पड़ेगी। कोहली को भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने उनके पहले बच्चे के जन्म के लिए पितृत्व अवकाश प्रदान किया है। वह तीन एक दिवसीय और इतने ही टी20 मैचों की श्रृंखला और फिर एडीलेड में पहले टेस्ट में भारत की अगुआई करने के बाद स्वदेश लौटेंगे। क्लार्क ने मंगलवार को ‘स्काई स्पोर्ट्स रेडियो’ से कहा, ‘‘एक दिवसीय और टी20 मैचों में विराट कोहली आगे बढ़कर अगुआई कर सकता है। अगर भारत ने एक दिवसीय और टी20 में सफलता हासिल नहीं की तो फिर टेस्ट मैचों में वे गहरी मुसीबत में होंगे और मेरे नजरिये से उन्हें 0-4 से हार झेलनी पड़ेगी।’’

इसे भी पढ़ें: अनुबंध तोड़ने के लिये भारतीय वॉलीबॉल महासंघ को चार करोड़ देने का आदेश

क्लार्क का मानना है कि सिर्फ एक टेस्ट में खेलने के बावजूद करिश्माई भारतीय कप्तान सीमित ओवरों की श्रृंखला में दबदबा बनाकर टेस्ट श्रृंखला के नतीजे में बड़ी भूमिका निभा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वह इस टीम को जो लय देगा वह पहले टेस्ट के बाद उसके जाने पर बड़ी भूमिका निभाएगी।’’ दुनिया की दो सर्वश्रेष्ठ टीमों के बीच इस बहुप्रतीक्षित श्रृंखला की शुरुआत 27 नवंबर को सिडनी में पहले एक दिवसीय मैच के साथ होगी। आस्ट्रेलिया की विश्व कप जीतने वाली टीम के कप्तान रहे क्लार्क ने कहा कि इस श्रृंखला में जसप्रीत बुमराह की भूमिका अहम होगी और इस स्टार तेज गेंदबाज को आक्रामक गेंदबाजी करके मेजबान टीम को दबाव में डालना होगा। उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजी का आगाज करने वाला गेंदबाज, संभवत: फिलहाल छोटे प्रारूप में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज लेकिन टेस्ट क्रिकेट में भी उसने शानदार सफलता हासिल की है।’’

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के 14 घुड़सवारों का जूनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए चयन

क्लार्क ने कहा, ‘‘वह तेज गति से गेंद डालता है, उसका एक्शन बिलकुल अलग है, इसलिए मुझे लगता है कि उसे आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को बेहद आक्रामकता के साथ गेंदबाजी करने की जरूरत है।’’ क्लार्क ने साथ ही कहा कि बुमराह सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर को परेशान करने में सफल रहे हैं और उनमें स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को भी परेशान करने की क्षमता है।उन्होंने कहा, ‘‘यह सिर्फ इस पर निर्भर नहीं करता कि वह कितने विकेट लेता है, इस पर निर्भर करता है कि वह कैसी गेंदबाजी करता है। फिलहाल वह डेविड वार्नर के खिलाफ सफलता हासिल कर रहा है, उसने उसे कई बार आउट किया है।’’ क्लार्क ने कहा, ‘‘यहां तक कि स्टीव स्मिथ जैसे खिलाड़ी के खिलाफ वह लगातार शॉर्ट गेंद का इस्तेमाल करने में सफल रहा है जैसा कि जोफ्रा आर्चर ने एशेज में किया था।’’उन्होंने कहा, ‘‘इन दोनों (कोहली और बुमराह) को आस्ट्रेलिया के खिलाफ आगे बढ़कर जिम्मेदारी निभानी होगी और ये दो खिलाड़ी आस्ट्रेलिया के खिलाफ आक्रामक रवैया दिखाने के लिए भारत के दो सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं।’’ भारत ने 2018-19 में आस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतकर इतिहास रचा था। उस श्रृंखला में हालांकि मेजबान टीम अपने स्टार बल्लेबाजों स्मिथ और वार्नर के बिना उतरी थी जिन्हें 2018 में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के कारण निलंबित किया गया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।