खराब गेंदबाजी और स्टार बल्लेबाजों की नाकामी से पहला वनडे हारा भारत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   19:17
  • Like
खराब गेंदबाजी और स्टार बल्लेबाजों की नाकामी से पहला वनडे हारा भारत

भारत ने शुरूआत काफी आक्रामक की। रोहित शर्मा की गैर मौजूदगी में पारी का आगाज करने उतरे मयंक अग्रवाल और शिखर धवन ने पांच ओवरों में ही 50 रन बना डाले लेकिन फिर भारत ने शीर्षक्रम के चार विकेट 48 रन के भीतर गंवा दिये। इनमें से तीन हेजलवुड ने और एक जाम्पा ने लिया। अग्रवाल 18 गेंद में 22 रन बनाकर छठे ओवर में हेजलवुड की गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल को कैच दे बैठे। भारत को सबसे बड़ा झटका दसवें ओवर में लगा जब कप्तान विराट कोहली ने हेजलवुड की गेंद पर फिंच को कैच थमाया।

सिडनी। खराब गेंदबाजी, लचर क्षेत्ररक्षण और कप्तान विराट कोहली समेत स्टार बल्लेबाजों के नाकाम रहने के कारण भारत को शुक्रवार को पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच में आस्ट्रेलिया ने 66 रन से हरा दिया। वहीं आस्ट्रेलिया के लिये कप्तान आरोन फिंच और स्टीव स्मिथ के शतकों के बाद एडम जाम्पा और जोश हेजलवुड ने शानदार गेंदबाजी करके भारत पर पूरे मैच में दबाव बनाये रखा। कोरोना महामारी के बीच दर्शकों की स्टेडियम में वापसी वाले इस मैच में आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सपाट पिच पर छह विकेट पर 374 रन बनाये। जवाब में भारतीय टीम आठ विकेट पर 308 रन ही बना सकी जिसमें हार्दिक पंड्या ने 90 रन का योगदान दिया। आस्ट्रेलियाई कप्तान फिंच ने आईपीएल के अपने खराब फार्म को तिलांजलि देकर 17वां शतक जमाया। वहींस्मिथ ने भारतीय गेंदबाजों को नसीहत देते हुए एक दिवसीय क्रिकेट में दसवां शतक जड़ा। आस्ट्रेलिया के लिये यह तीसरा सबसे तेज वनडे शतक था जो मात्र 62 गेंदों में बना। भारत ने शुरूआत काफी आक्रामक की। रोहित शर्मा की गैर मौजूदगी में पारी का आगाज करने उतरे मयंक अग्रवाल और शिखर धवन ने पांच ओवरों में ही 50 रन बना डाले लेकिन फिर भारत ने शीर्षक्रम के चार विकेट 48 रन के भीतर गंवा दिये। इनमें से तीन हेजलवुड ने और एक जाम्पा ने लिया। अग्रवाल 18 गेंद में 22 रन बनाकर छठे ओवर में हेजलवुड की गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल को कैच दे बैठे। भारत को सबसे बड़ा झटका दसवें ओवर में लगा जब कप्तान विराट कोहली ने हेजलवुड की गेंद पर फिंच को कैच थमाया।

विराट ने 21 गेंद में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 21 रन बनाये। श्रेयस अय्यर (दो) हेजलवुड का तीसरा शिकार बने जबकि उपकप्तान के एल राहुल आईपीएल का अपना शानदार फार्म बरकरार नहीं रख पाये। उन्हें जाम्पा ने क्रीज पर पैर ही नहीं जमाने दिये और वह 12 रन बनाकर स्मिथ को कैच दे बैठे। इसके बाद धवन और पंड्या ने शतकीय साझेदारी की और एक समय लग रहा था कि ये दोनों भारत को जीत तक ले जायेंगे। ऐसे में जाम्पा ने अपने दूसरे स्पैल में धवन को पवेलियन भेजकर इस उम्मीद को भी तोड़ दिया। धवन ने 86 गेंद में दस चौकों के साथ 74 रन बनाये। पंड्या दुर्भाग्यशाली रहे कि अपना शतक पूरा नहीं कर सके और जाम्पा का तीसरा शिकार बने। उन्होंने 76 गेंद में 90 रन जोड़े जिसमें सात चौके और चार छक्के शामिल थे। इसके बाद जरूरी रनरेट इतना बढ गया था कि रविंद्र जडेजा पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ मिलकर फिनिशर की भूमिका नहीं निभा सकते थे। उन्हें भी जाम्पा ने 25 के निजी योग पर आउट करके आस्ट्रेलिया की जीत तय कर दी। जाम्पा ने दस ओवर में 54 रन देकर चार विकेट लिये जबकि हेजलवुड को तीन विकेट मिले। इससे पहले आस्ट्रेलिया के लिये फिंच ने 124 गेंद में 114 रन बनाये जिसमें नौ चौके और दो छक्के शामिल थे। वहीं स्मिथ ने 66 गेंद में 105 रन की पारी खेली और 11 चौके तथा चार छक्के जड़े। 

इसे भी पढ़ें: मैच से पहले भारत और ऑस्ट्रेलियाई टीम ने घेरा बनाकर किया नस्लवाद का विरोध, बांधी काली पट्टी

‘रन मशीन‘ डेविड वार्नर ने 69 और ‘बिग शो’ ग्लेन मैक्सवेल ने 19 गेंद में 45 रन का योगदान दिया। भारतीय गेंदबाजों को पिच से कोई मदद नहीं मिली और क्षेत्ररक्षण भी बेहद खराब रहा। भारतीयों ने तीन कैच छोड़े और काफी रन फालतू दिये। आईपीएल में खतरनाक दिख रहे भारतीय तेज गेंदबाज थके हुए नजर आये। आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को उनका सामना करने में कोई दिक्कत नहीं हुई। फिंच और वार्नर ने पहले विकेट के लिये 156 रन की साझेदारी की। उन्होंने मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह के शुरूआती स्पैल को संभलकर खेला। शमी ने दस ओवर में 59 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि बुमराह ने 73 रन दिये और उन्हें एक ही विकेट मिला। नवदीप सैनी ने 83 रन देकर एक विकेट लिया। स्पिनरों में युजवेंद्र चहल ने 89 रन देकर एक विकेट लिया जबकि जडेजा को कोई विकेट नहीं मिला और उन्होंने 63 रन दिये। भारत को पहली सफलता 28वें ओवर में मिली जब शमी ने वार्नर को विकेट के पीछे लपकवाया। इसका फैसला डीआरएस पर हुआ। वहीं जडेजा की गेंद पर पगबाधा आउट दिये जाने के बाद स्मिथ को डीआरएस ने बचाया। उन्होंने इसका पूरा फायदा उठाते हुए शतक जड़ डाला। मैक्सवेल ने सिर्फ 19 गेंद में 45 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली। उन्होंने चहल को रिवर्स स्वीप पर छक्का लगाया। इसके बाद सैनी को डीप मिडविकेट पर छक्का जड़ा। इस श्रृंखला के जरिये क्रिकेट मैदान पर दर्शकों की वापसी हुई है। क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने कुल क्षमता के 50 प्रतिशत टिकटों की बिक्री की अनुमति दी थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीतने के बाद स्वदेश लौटे अश्विन और वाशिंगटन सुंदर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   12:41
  • Like
ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीतने के बाद स्वदेश लौटे अश्विन और वाशिंगटन सुंदर

वाशिंगटन ने गाबा में अंतिम टेस्ट में पदार्पण करते हुए ऑस्ट्रेलिया के घातक गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ पहली पारी में 62 रन की पारी खेली थी और शारदुल ठाकुर के साथ 123 रन की साझेदारी की थी जिससे भारत मुश्किल स्थिति में घिरने के बाद वापसी करने में सफल रहा था।

चेन्नई। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे सीनियर आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और उभरते हुए आलराउंडर वाशिंगटन सुंदर शुक्रवार को स्वदेश लौट आए। राज्य सरकार के नियमों के अनुसार तमिलनाडु के ये दोनों खिलाड़ी अगले दो दिन तक पृथकवास में रहेंगे। अश्विन ने पहले तीन मैचों में 12 विकेट चटकाए लेकिन चोट के कारण वह ब्रिसबेन में निर्णायक चौथे टेस्ट में नहीं खेल पाए। पीठ में दर्द के बावजूद अश्विन ने सिडनी में तीसरे टेस्ट के अंतिम दिन हमुना विहारी के साथ 62 रन की अटूट साझेदारी करके भारत को टेस्ट ड्रॉ कराने में अहम भूमिका निभाई थी। वाशिंगटन ने गाबा में अंतिम टेस्ट में पदार्पण करते हुए ऑस्ट्रेलिया के घातक गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ पहली पारी में 62 रन की पारी खेली थी और शारदुल ठाकुर के साथ 123 रन की साझेदारी की थी जिससे भारत मुश्किल स्थिति में घिरने के बाद वापसी करने में सफल रहा था। उन्होंने मैच में चार विकेट भी चटकाए। भारत ने यह टेस्ट तीन विकेट से जीता था।

इसे भी पढ़ें: बड़ौदा ने अनुशासनहीनता के लिए दीपक हुड्डा को मौजूदा घरेलू सत्र के लिए निलंबित किया

अश्विन और वाशिंगटन को पांच फरवरी से चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला के पहले दो मैचों के लिए भी भारतीय टीम में जगह दी गई है। कप्तान अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा सहित भारतीय टीम के कई अन्य सदस्य गुरुवार को स्वदेश लौटे थे। पहले टेस्ट के बाद कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदी और कई अहम खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद भारत ने एडीलेड में करारी हार के बाद जोरदार वापसी करते हुए श्रृंखला 2-1 से जीती थी। भारत एडीलेड टेस्ट की दूसरी पारी में 36 रन पर ढेर हो गया था जो टेस्ट क्रिकेट में उसका न्यूनतम स्कोर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




बड़ौदा ने अनुशासनहीनता के लिए दीपक हुड्डा को मौजूदा घरेलू सत्र के लिए निलंबित किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   12:02
  • Like
बड़ौदा ने अनुशासनहीनता के लिए दीपक हुड्डा को मौजूदा घरेलू सत्र के लिए निलंबित किया

कप्तान कृणाल पंड्या से झगड़े के बाद हुड्डा घरेलू टी20 टूर्नामेंट की शुरुआत की पूर्व संध्या पर टीम को छोड़कर चले गए थे। उन्होंने पंड्या की ओर से कथित तौर पर बुरे बर्ताव का आरोप लगाया था।

वडोदरा। बड़ौदा क्रिकेट संघ (बीसीए) ने ‘अनुशासनहीनता’ और ‘खेल का अपमान’ करने के लिए सीनियर खिलाड़ी दीपक हुड्डा को मौजूदा घरेलू सत्र से निलंबित कर दिया है। हुड्डा सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट की शुरुआत से पहले शिविर छोड़कर चले गए थे। कप्तान कृणाल पंड्या से झगड़े के बाद हुड्डा घरेलू टी20 टूर्नामेंट की शुरुआत की पूर्व संध्या पर टीम को छोड़कर चले गए थे। उन्होंने पंड्या की ओर से कथित तौर पर बुरे बर्ताव का आरोप लगाया था।

इसे भी पढ़ें: क्या दूसरे टेस्ट में श्रीलंका को मात दे पाएगी इंग्लैंड? टीम में किए जा सकते है बदलाव

बीसीए सचिव अजीत लेले ने शुक्रवार को पीटीआई से कहा, ‘‘अनुशासनहीनता और बीसीए तथा खेल को अपमानित करने के लिए उसे (हुड्डा) इस सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है। टीम और बीसीए को बताए बिना वह टीम के जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से बाहर चला गया था।’’ गुरुवार शाम हुई बीसीए की शीर्ष परिषद की बैठक में हुड्डा को निलंबित करने का फैसला किया गया।

इसे भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया दौरे से मुंबई पहुंचे भारतीय क्रिकेटरों को सात दिन घर में पृथकवास पर रहने की सलाह

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए बड़ौदा के उप कप्तान नियुक्त किए गए हुड्डा नौ जनवरी को जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से बाहर निकल गए थे। उन्होंने बीसीए को भेजे ईमेल में पंड्या की ओर से बुरे व्यवहार का आरोप लगाया था। हुड्डा ने ईमेल में लिखा था, ‘‘इस समय मैं हतोत्साहित, अवसाद और दबाव में हूं। पिछले कुछ दिनों से मेरी टीम के कप्तान कृणाल पंड्या टीम के साथियों और रिलायंस स्टेडियम वडोदरा में हिस्सा लेने आई अन्य राज्यों की टीमों के सामने मेरे साथ अभद्र का इस्तेमाल कर रहे हैं।’’ हुड्डा के ईमेल के बाद बीसीए ने मैनेजर से रिपोर्ट मांगी थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया की जीत से डरा इंग्लैंड! स्पिनर ग्रीम स्वान ने टेस्ट से पहले दिया बड़ा बयान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   11:58
  • Like
ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया की जीत से डरा इंग्लैंड! स्पिनर ग्रीम स्वान ने टेस्ट से पहले दिया बड़ा बयान

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर ग्रीम स्वान ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया अब सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं रही है।इंग्लैंड पांच फरवरी से चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला के लिए भारत का दौरा करेगा जबकि इसके बाद पांच टी20 और तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला भी खेली जाएगी।

लंदन। इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर ग्रीम स्वान का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया में एतिहासिक टेस्ट जीत के बाद भारत की टीम ‘लगभग अजेय’ लग रही थी और अगर इंग्लैंड की टीम अगले महीने विराट कोहली की टीम को हरा देती है तो एशेज के लिए अपने ‘जुनून’ से बड़ी उपलब्धि हासिल करेगी। इंग्लैंड पांच फरवरी से चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला के लिए भारत का दौरा करेगा जबकि इसके बाद पांच टी20 और तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला भी खेली जाएगी। स्वान ने कहा कि पहले मैच के बाद कप्तान कोहली के उपलब्ध नहीं होने के बावजूद भारत ने आस्ट्रेलिया पर वैसा दबदबा बनाया जैसे बहुत कम टीमें बना पाती हैं।

इसे भी पढ़ें: 11 महीने बाद टेनिस में वापसी करेगी विश्व की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी एश बार्टी

स्वान ने ‘द सन’ से कहा, ‘‘इंग्लैंड हमेशा कहता है कि एशेज श्रृंखला होने वाली है। आस्ट्रेलिया अब दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं है। कभी वे होते थे, काफी आगे.... अब ऐसा नहीं है लेकिन हमारे अंदर इसे लेकर जुनून है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें एशेज श्रृंखला से आगे बढ़ना होगा। मुझे लगता है कि अभी भारत को भारत में हराना इससे कहीं बड़ी उपलब्धि है। 2012 में उन पर हमारी जीत के बाद से वे भारत में लगभग अजेय हैं।’’ स्वान ने कहा कि अगर इंग्लैंड दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनना चाहता है तो उन्हें सिर्फ आस्ट्रेलिया में आस्ट्रेलिया को हराने का प्रयास करने की चाहत से आगे बढ़ना होगा।

इसे भी पढ़ें: धोनी से तुलना किए जाने पर पंत ने कहा, 'खुद का बनाना चाहता हूँ नाम'

एशेज श्रृंखला इस साल ऑस्ट्रेलिया में दिसंबर से खेली जाएगी। इंग्लैंड के लिए 2008 से 2013 के बीच 60 टेस्ट में 255 विकेट चटकाने वाले 41 साल के पूर्व आफ स्पिनर स्वान ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों को अतीत की गल्तियों से सीखने और केविन पीटरसन की तरह स्पिन का सामना करने को कहा जिसकी बदौलत इंग्लैंड 2012 में भारत में टेस्ट श्रृंखला जीतने में सफल रहा था। उन्होंने कहा ,‘‘लोग ऐसा क्यों नहीं कह रहे कि यह मौका है कि स्पिन खेलने वाले अच्छे खिलाड़ियों के साथ इस टीम का सामना किया जाए, कदमों का इस्तेमाल करो, हम जिस तरह स्पिन का सामना करते हैं उसे पूरी तरह बदल दो और इसके बाद हम भारत को हरा सकते हैं।’’ स्वान ने कहा, ‘‘हम भारत को तब तक नहीं हरा सकते जब तक कि स्पिनर विकेट ना चटकाएं और इसके बाद किसी को उस तरह बल्लेबाजी करनी होगी जैसी केविन पीटरसन ने की थी।’’ स्वान ने कहा कि पूर्व कप्तान पीटरसन ने स्पिन के खिलाफ इंग्लैंड के खेलने के तरीके को बदल दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept