IPL 2022। प्लेऑफ की दौड़ में बरकरार दिल्ली, पुराने दिग्गजों के बीच होगी जंग, जडेजा के बिना कैसी होगी धोनी की रणनीति

IPL 2022। प्लेऑफ की दौड़ में बरकरार दिल्ली, पुराने दिग्गजों के बीच होगी जंग, जडेजा के बिना कैसी होगी धोनी की रणनीति
प्रतिरूप फोटो
Prabhasakshi

चेन्नई ने पिछले मुकाबले में दिल्ली के खिलाफ 91 रन की बड़ी जीत दर्ज की थी और उसे इस लय को कायम रखने की जरूरत है। सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉन्वे शानदार फॉर्म में है और लगातार तीन अर्धशतक जमा चुके हैं। उन्होंने दिल्ली के खिलाफ 87 रन बनाए हालांकि सलामी जोड़ीदार ऋतुराज गायकवाड़ से उन्हें बेहतर पारी की उम्मीद होगी।

दिल्ली कैपिटल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 58वें मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 8 विकेट से बड़ी जीत दर्ज की। इस मैच के हीरो ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर मिचेल मार्श चुना गया। उन्होंने अपनी पारी में 7 छक्के और 5 चौके जड़कर तूफानी पारी खेली। जबकि राजस्थान की तरह से सबसे ज्यादा रन आर अश्विन ने जड़े और हार के लिए कप्तान संजू सैमसन को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है क्योंकि उन्होंने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव किया और खुद फिनिशर के रोल में फ्लॉप साबित हुए। 

इसे भी पढ़ें: रोहित भाई और विराट भाई ने मोटी कीमत का दबाव न बनाने की सलाह दी थी : ईशान किशन 

राजस्थान के खिलाफ मिली सफलता के साथ ही दिल्ली ने अपना छठवां मुकाबला जीता है और इसी के साथ प्लेऑफ की उम्मीदें अभी भी बरकरार हैं। जबकि राजस्थान को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए अभी भी प्रतिद्वंद्वी टीमों के साथ लोहा लेना पड़ेगा। 161 रनों का पीछा करते हुए दिल्ली ने पहला विकेट शून्य के स्कोर पर ही गवा दिया था। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने जिम्मेदारी भरी पारी खेली। जिसमें डेविड वार्नर और मिचेल मार्श शामिल हैं। दोनों खिलाड़ियों के बीच दूसरे विकेट के लिए 144 रनों की पार्टनरशिप हुई। इस दौरान राजस्थान के गेंदबाज काफी ज्यादा फीके साबित हुए और दिल्ली की रणनीति को विफल नहीं कर पाए। हालांकि दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत इसे परफेक्ट मैच नहीं मानते हैं।

जीत के बाद ऋषभ पंत ने कहा कि यह परफेक्ट मैच के करीब था क्योंकि मेरा मानना है कि सुधार की गुजांइश हमेशा रहती है। हमारा फील्डिंग थोड़ी और बेहतर हो सकती थी। इस तरह की पिच पर जहां थोड़ा टर्न रहता है नतीजा किसी भी तरफ जा सकता है। खुश हूं कि पहले गेंदबाजी की। मुझे लगा कि 140-160 रन का स्कोर अच्छा था जो मैंने टॉस के समय भी कहा था। हम वहां तक पहुंचे। किस्मत हमेशा आपके हाथ में होती है। आप अपना शत प्रतिशत दे सकते हो। लेकिन यह करीबी मैच रहा।

पुराने दिग्गजों के बीच होगी जंग

आईपीएल के 59वें मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स का सामना वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई इंडियंस से होगा। इस मुकाबले में खराब दौर से जूझ रहीं चेन्नई और मुंबई की टीमों के बीच सम्मान और अस्तित्व की लड़ाई होगी। यह सीजन दोनों ही टीमों के लिए लिए निराशाजनक रहा है। मुंबई अब प्रतिष्ठा के लिए खेलेगी जबकि चेन्नई तकनीकी रूप से अभी भी दौड़ में शामिल है बशर्ते बाकी मुकाबलों के नतीजे उसके अनुकूल रहें। लेकिन चेन्नई अगर मुंबई से हार जाती है तो टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी और मुंबई तो पहले ही बाहर हो चुकी है।

क्या लय कायम रख पाएगी चेन्नई ?

चेन्नई ने पिछले मुकाबले में दिल्ली के खिलाफ 91 रन की बड़ी जीत दर्ज की थी और उसे इस लय को कायम रखने की जरूरत है। सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉन्वे शानदार फॉर्म में है और लगातार तीन अर्धशतक जमा चुके हैं। उन्होंने दिल्ली के खिलाफ 87 रन बनाए हालांकि सलामी जोड़ीदार ऋतुराज गायकवाड़ से उन्हें बेहतर पारी की उम्मीद होगी। वहीं रविंद्र जडेजा के लिए यह सीजन बुरे सपने जैसा रहा और उनसे कप्तानी भी बीच में छीन ली गई। दिल्ली के खिलाफ पिछले मुकाबले में चोटिल होने की वजह से रवींद्र जडेजा नहीं खेले थे और अब मौजूदा सत्र से भी बाहर हो चुके हैं। बताया जा रहा है कि रवींद्र जडेजा की पसली में चोट लगी है और वो घर लौट चुके हैं। 

इसे भी पढ़ें: मुझे लगा था इतने रन बनाने के बाद हमारे पास पूरा मौका होगा: हार्दिक पंड्या

अब देखना यह होगा कि रवींद्र जडेजा की गैरमौजूदगी में चेन्नई कैसा प्रदर्शन करती है। पिछली बार जब दोनों टीमें आपस में भिड़ी थीं तो महेंद्र सिंह धोनी ने फिनिशर की भूमिका अदा करके टीम को जीत दिलाई थी। ऐसे में टीम से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

मुंबई की बात की जाए तो बाकी के सारे बचे हुए मैच टीम के लिए महज औपचारिकता मात्र हैं। कप्तान रोहित शर्मा और ईशान किशन पर बल्लेबाजी का दारोमदार होगा। कोलकाता के खिलाफ लड़खड़ाए मध्यक्रम को भी अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा। सूर्यकुमार यादव चोट के कारण बाहर हैं। ऐसे में तिलक वर्मा, टिम डेविड, रमनदीप सिंह और कीरोन पोलार्ड पर जिम्मेदारी अधिक होगी। गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह ने लय हासिल कर ली है और उन्हें दूसरे गेंदबाजों से सहयोग की उम्मीद होगी। डेनियल सैम्स , रिले मेरेडिथ और कुमार कार्तिकेय सिंह को चेन्नई के बल्लेबाजों पर अंकुश लगाना होगा।

संभावित टीमें:-

चेन्नई सुपर किंग्स: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), मोईन अली, ऋतुराज गायकवाड़, ड्वेन ब्रावो, अंबाती रायडू, रॉबिन उथप्पा, डेवोन कॉनवे, शिवम दुबे, महेश तीक्ष्णा, सिमरजीत सिंह, मुकेश चौधरी।

मुंबई इंडियंस: रोहित शर्मा (कप्तान), तिलक वर्मा, टिम डेविड, रमनदीप सिंह, कीरोन पोलार्ड, डेनियल सैम्स , रिले मेरेडिथ, कुमार कार्तिकेय सिंह, डेवाल्ड ब्रेविस, ईशान किशन, रमनदीप सिंह।