• WTC Final: भारत से ऐतिहासिक जीत के बाद न्यूजीलैंड टीम ने जमकर जश्न मनाया

दो साल कड़ी मेहनत करने के बाद भारत को हराकर विश्व टेस्ट चैम्पियन बनी न्यूजीलैंड टीम ने स्वदेश रवाना होने से पहले यहां रात भर जमकर जश्न मनाया। न्यूजीलैंड टीम ने टेस्ट चैम्पियनशिप गदा को माइकल मेसन नाम भी दे दिया।

साउथम्पटन। दो साल कड़ी मेहनत करने के बाद भारत को हराकर विश्व टेस्ट चैम्पियन बनी न्यूजीलैंड टीम ने स्वदेश रवाना होने से पहले यहां रात भर जमकर जश्न मनाया। न्यूजीलैंड टीम ने टेस्ट चैम्पियनशिप गदा को माइकल मेसन नाम भी दे दिया। मेसन न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज हैं जो एक ही टेस्ट खेले हैं। उन्होंने 2004 में एक टेस्ट खेला और 2003 से 2010 के बीच 26 वनडे और तीन टी20 मैच खेले। कप्तान केन विलियमसन ने ‘स्टफ डॉट कॉम डॉट न्यूजीलैंड’ से कहा ,‘‘ यह शानदार रात थी। इतने शानदार मैच के बाद यह बनता था। दो साल की कड़ी मेहनत के बाद यह अद्भुत क्षण आया था। ऐसे में जश्न लाजमी था।’’

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में डेल्टा प्लस वेरिएंट के 7 मामलों की हुई पुष्टि, 2 साल की बच्ची ने जीती जंग

जश्न के बाद सुबह सेहत कैसी थी, यह पूछने पर हरदिलअजीज कप्तन ने कहा ,‘‘ मेरी राय दूसरों से अलग हो सकती है। मुझे ठीक लग रहा था।’’ यह पूछने पर कि जश्न कितनी बजे तक चला, उन्होंने कहा ,‘‘ मैं आखिरी तक नहीं रूका था तो मुझसे सही उत्तर नहीं मिलेगा।’’ सीनियर बल्लेबाज ट्रेंट बोल्ट ने कहा कि नील वेगनेर ने गदा को अपनी आंखों से ओझल नहीं होने दिया। उन्होंने कहा , ‘‘ वैगी (वेगनेर) ने कल रात से गदा को आंख से ओझल नहीं होने दिया है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ सभी खिलाड़ी बहुत खुश हैं।जज्बात और जश्न का मिश्रण है। एक बार घर पहुंचने और पृथकवास पूरा होने के बाद भी यह जश्न जारी रहेगा।’’ तेज गेंदबाज टिम साउदी ने कहा ,‘‘ कल की रात बेहतरीन थी। छठे दिन तक मैच खिंचने के बाद जीत दर्ज की। सभी खिलाड़ियों के जज्बात उफान पर थे। खराब मौसम को लेकर निराशा भी थी।’’

इसे भी पढ़ें: शरीर ही नहीं, मस्तिष्क पर भी असर डालता है कोविड−19, अध्ययन में हुआ खुलासा

उन्होंने कहा ,‘‘ हम इतनी दूर हैं कि अपने देश में लोगों की प्रतिक्रिया का पता नहीं लेकिन हमें यकीन हैं कि उन्हें इस पर गर्व होगा। हमें घर पहुंचकर सभी के साथ जश्न मनाने का इंतजार है।’’ विलियमसन स्वदेश में जश्न में शामिल नहीं हो सकेंगे क्योंकि ‘द हंड्रेड’ खेलने के लिये वह ब्रिटेन में ही रूकेंगे। 21 जुलाई से शुरू हो रहे टूर्नामेंट में वह बर्मिंघम फिनिक्स का हिस्सा हैं।डेवोन कोंवे, काइल जैमीसन और कोलिन डि ग्रांडहोमे भी इस टी20 टूर्नामेंट में खेलने के लिये इंग्लैंड में ही रूकेंगे।