ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीतने के बाद स्वदेश लौटे अश्विन और वाशिंगटन सुंदर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   12:41
ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीतने के बाद स्वदेश लौटे अश्विन और वाशिंगटन सुंदर

वाशिंगटन ने गाबा में अंतिम टेस्ट में पदार्पण करते हुए ऑस्ट्रेलिया के घातक गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ पहली पारी में 62 रन की पारी खेली थी और शारदुल ठाकुर के साथ 123 रन की साझेदारी की थी जिससे भारत मुश्किल स्थिति में घिरने के बाद वापसी करने में सफल रहा था।

चेन्नई। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य रहे सीनियर आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और उभरते हुए आलराउंडर वाशिंगटन सुंदर शुक्रवार को स्वदेश लौट आए। राज्य सरकार के नियमों के अनुसार तमिलनाडु के ये दोनों खिलाड़ी अगले दो दिन तक पृथकवास में रहेंगे। अश्विन ने पहले तीन मैचों में 12 विकेट चटकाए लेकिन चोट के कारण वह ब्रिसबेन में निर्णायक चौथे टेस्ट में नहीं खेल पाए। पीठ में दर्द के बावजूद अश्विन ने सिडनी में तीसरे टेस्ट के अंतिम दिन हमुना विहारी के साथ 62 रन की अटूट साझेदारी करके भारत को टेस्ट ड्रॉ कराने में अहम भूमिका निभाई थी। वाशिंगटन ने गाबा में अंतिम टेस्ट में पदार्पण करते हुए ऑस्ट्रेलिया के घातक गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ पहली पारी में 62 रन की पारी खेली थी और शारदुल ठाकुर के साथ 123 रन की साझेदारी की थी जिससे भारत मुश्किल स्थिति में घिरने के बाद वापसी करने में सफल रहा था। उन्होंने मैच में चार विकेट भी चटकाए। भारत ने यह टेस्ट तीन विकेट से जीता था।

इसे भी पढ़ें: बड़ौदा ने अनुशासनहीनता के लिए दीपक हुड्डा को मौजूदा घरेलू सत्र के लिए निलंबित किया

अश्विन और वाशिंगटन को पांच फरवरी से चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला के पहले दो मैचों के लिए भी भारतीय टीम में जगह दी गई है। कप्तान अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा सहित भारतीय टीम के कई अन्य सदस्य गुरुवार को स्वदेश लौटे थे। पहले टेस्ट के बाद कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदी और कई अहम खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद भारत ने एडीलेड में करारी हार के बाद जोरदार वापसी करते हुए श्रृंखला 2-1 से जीती थी। भारत एडीलेड टेस्ट की दूसरी पारी में 36 रन पर ढेर हो गया था जो टेस्ट क्रिकेट में उसका न्यूनतम स्कोर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।