पंद्रह साल बाद डे-नाइट के ऐतिहासिक टेस्ट में आमने सामने भारत और ऑस्ट्रेलिया की महिला टीमें

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 29, 2021   14:27
पंद्रह साल बाद डे-नाइट के ऐतिहासिक टेस्ट में आमने सामने भारत और ऑस्ट्रेलिया की महिला टीमें

ऑस्ट्रेलिया ने दिन रात का एकमात्र टेस्ट नवंबर 2017 में खेला था। उसे भी अभ्यास का ज्यादा मौका नहीं मिल सका लेकिन मेट्रिकॉन स्टेडियम की हरी भरी पिच पर उसके तेज गेंदबाज कहर बरपा सकते हैं।

गोल्ड कोस्ट। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और आखिरी एक दिवसीय मैच में मिली जीत के बाद आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारतीय महिला क्रिकेट टीम अब गुरूवार से मेजबान के खिलाफ शुरू हो रहे दिन रात के अपने पहले टेस्ट में उसी लय को कायम रखना चाहेगी। तीसरा वनडे रविवार को खेला गया और सोमवार को विश्राम का दिन था तो मिताली राज की टीम को इस टेस्ट की तैयारी के लिये दो ही सत्र मिले। वनडे श्रृंखला में भारत को 1 . 2 से पराजय झेलनी पड़ी थी। भारतीय टीम पहली बार गुलाबी गेंद से खेल रही है लिहाजा खिलाड़ियों को तनिक भी आभास नहीं है कि चमकदार गुलाबी गेंद का क्या असर होगा। ऑस्ट्रेलिया ने दिन रात का एकमात्र टेस्ट नवंबर 2017 में खेला था। उसे भी अभ्यास का ज्यादा मौका नहीं मिल सका लेकिन मेट्रिकॉन स्टेडियम की हरी भरी पिच पर उसके तेज गेंदबाज कहर बरपा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: सनराइजर्स की जीत पर कप्तान विलियमसन बोले- टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ

भारत ने सात साल बाद पहला टेस्ट खेलते हुए जून में इंग्लैंड को ड्रॉ पर रोका था। खिलाड़ियों और विशेषज्ञों का हालांकि मानना है कि गुलाबी गेंद की चुनौती काफी कठिन होगी। भारत और आस्ट्रेलिया ने आखिरी टेस्ट 2006 में खेला था। दोनों टीमों की मौजूदा खिलाड़ियों में सिर्फ मिताली राज और झूलन गोस्वामी ही हैं जो वह टेस्ट खेल चुकी हैं। भारत की पूर्व कप्तान और बीसीसीआई की शीर्ष परिषद की सदस्य शांता रंगास्वामी ने कहा ,‘‘ मैं इसे भारतीय टीम की अग्निपरीक्षा कहूंगी। खिलाड़ियों ने पिछले तीन चार साल में लाल गेंद से ही कम खेला है। दिन रात का टेस्ट तो बिल्कुल ही अलग है और चुनौती काफी कठिन है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ आस्ट्रेलिया के पास टेस्ट क्रिकेट का अनुभव अधिक है लेकिन उनके खिलाड़ियों ने भी हाल में अधिक मैच नहीं खेले हैं। भारत ने वनडे श्रृंखला में दिखा दिया है कि आस्ट्रेलिया को हराया जा सकता है।’’ हरमनप्रीत कौर की फिटनेस पर अभी भी अनिश्चितता बनी हुई है हालांकि उन्होंने नेट अभ्यास किया। वनडे श्रृंखला में प्रभावी पदार्पण करने वाले तेज गेंदबाज मेघना सिंह, बल्लेबाज यस्तिका भाटिया को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण का मौका मिल सकता है। अनुभवी झूलन , मेघना और पूजा वस्त्रकार तेज आक्रमण का जिम्मा संभालेंगे जबकि स्पिन गेंदबाजी का दारोमदार स्नेह राणा और दीप्ति शर्मा पर होगा।

इसे भी पढ़ें: 8 दिनों में 27 लाख की बिरयानी खा गई इस्लामाबाद पुलिस, किसकी जेब से जाएगा बिल?

विकेटकीपर तानिया भाटिया की वापसी तय है जबकि वनडे श्रृंखला से बाहर रही पूनम राउत भी खेल सकती हैं। दूसरी ओर आस्ट्रेलिया को मैच से पहले झटका लगा चूंकि उनकी उपकप्तान रशेल हैंस हैमस्ट्रिंग चोट के कारण बाहर हो गई। कप्तान मेग लानिंग ने कहा कि टीम तेज गेंदबाजी हरुनमौला या विशेषज्ञ बल्लेबाज को उनकी जगह उतारेगी। वनडे में अच्छा प्रदर्शन करने वाली अन्नाबेल सदरलैंड को मौका मिल सकता है।

टीमें : भारत : मिताली राज (कप्तान), हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना, शेफाली वर्मा, पूनम राउत, जेमिमा रौद्रिगेज, दीप्ति शर्मा, स्नेह राणा, यस्तिका भाटिया, तानिया भाटिया, शिखा पांडे, झूलन गोस्वामी, मेघना सिंह, पूजा वस्त्रकार, राजेश्वरी गायकवाड़, पूनम यादव, रिचा घोष। आस्ट्रेलिया : मेग लानिंग (कप्तान), डार्सी ब्राउन, मेटलान ब्राउन, स्टेला कैंपबेल, निकोला कारी, हन्नाह डार्लिंगटन, एशले गार्डनर, एलिसा हीली, ताहलिया मैकग्रा, सोफी मोलिनू, बेथ मूनी, एलिसे पैरी, जॉर्जिया रेडमेन, मोली स्ट्रानो, अन्नाबेल सदरलैंड, टायला ब्लेमिंक, जॉर्जिया वेयरहैम।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।