कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) क्या है? इसकी तैयारी कैसे करें? जानिए विस्तार से

कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) क्या है? इसकी तैयारी कैसे करें? जानिए विस्तार से
Creative Commons licenses

सीयूईटी परीक्षा की चर्चा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 में भी की गई है। हालांकि इस पर कुछ आपत्तियां भी जताई जा रही हैं। उदाहरणतया, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली (डीयू) के एकेडमिक काउंसिल के सदस्यों का कहना है कि ये परीक्षा सामाजिक और आर्थिक रूप से वंचित छात्रों को नुकसान पहुंचाएगा।

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) की ओर साल 2022 में पहली बार आयोजित किए जा रहे कॉमन यूनिवर्सिटीज एन्ट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के माध्यम से 12वीं पास विद्यार्थियों को एकल विंडो के जरिए देश की प्रतिष्ठित केन्द्रीय यूनिवर्सिटीज में एडमिशन लेने का सीधा अवसर मिल सकेगा। बता दें कि यूजीसी की इस नई शिक्षा नीति 2020 के अंतगर्त करीब 45 केन्द्रीय विश्वविद्यालय सूचीबद्ध हैं। 

गौरतलब है कि यह परीक्षा नीति उच्च शिक्षा विभाग द्वारा देश में पहली बार लागू की जा रही है। ऐसे में इस प्रवेश परीक्षा में लाखों विद्यार्थी अपनी किस्मत आजमाएंगे। इसलिए इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए स्टूडेंट्स को एनटीए की वेबसाइट पर विज़िट करके आवेदन से पहले सभी जरूरी सूचनाएं हासिल कर लें। इससे उन्हें भावी रणनीति बनाने में आसानी होगी। 

यूं तो सीयूईटी परीक्षा 2022 के लिए आवेदन करने की कोई आयु सीमा नहीं है। लेकिन परीक्षा के लिए आवेदन करने के लिए शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गई है। सीयूईटी के लिए पंजीकरण करने के इच्छुक उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 45 प्रतिशत अंकों के साथ इंटरमीडिएट उत्तीर्ण होना चाहिए। ज्यादा जानकारी के लिए स्टूडेंट्स नोटिफिकेशन को अवश्य देख लें। 

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना क्या है और क्या है इसका उद्देश्य

# अब बारहवीं में प्राप्त नम्बर से नहीं, बल्कि सीयूईटी में प्राप्त स्कोर से होंगे दाखिले

बता दें कि पहले 12वीं के बाद किसी भी केंद्रीय विश्वविद्यालय में एडमिशन लेना किसी लोहे का चना चबाने जैसा था। क्योंकि विभिन्न तरह के बोर्ड परीक्षा में 99 प्रतिशत अंक (मार्क्स) लाने के बाद भी कुछ सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन नहीं मिल पाता था। वजह यह कि वहां पर कट-ऑफ 100 प्रतिशत तक चला जाता था। इसी सब समस्याओं को दूर करने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने सीयूईटी की व्यवस्था की है। 

खास बात यह कि इस सीयूईटी परीक्षा की चर्चा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 में भी की गई है। हालांकि इस पर कुछ आपत्तियां भी जताई जा रही हैं। उदाहरणतया, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली (डीयू) के एकेडमिक काउंसिल के सदस्यों का कहना है कि ये परीक्षा सामाजिक और आर्थिक रूप से वंचित छात्रों को नुकसान पहुंचाएगा। इस तरह की और भी कई सारी आपत्तियां विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा उठाई जा रही हैं। हालांकि, यूजीसी ने व्यापक परिप्रेक्ष्य में इन्हें नजरअंदाज कर दिया है, ताकि सभी योग्य छात्रों का भला हो।

# अब भारत के कुल 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में छात्र-छात्राओं को सीयूईटी के माध्यम से दी जाएगी एडमिशन

दरअसल, कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) एक प्रवेश परीक्षा है, जिसके जरिए भारत के कुल 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में छात्र-छात्राओं को एडमिशन दी जाएगी। ये परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी) मोड में होगा, जो राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित की जाएगी। आपको पता होना चाहिए कि एनटीए वही एजेंसी है जो जेईई मेन और नीट भी आयोजित करती है। 

सीयूईटी का फुल फॉर्म “कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेन्स टेस्ट” होता है। इसे हिंदी में “विश्वविद्यालयीन सामान्य प्रवेश परीक्षा” कहा जाता है। यूजीसी के अनुसार, देश के विभिन्न राज्यों के विश्वविद्यालय, प्राइवेट विश्वविद्यालय और डीम्ड विश्वविद्यालय भी यदि चाहें तो इस प्रवेश परीक्षा के आधार पर अपने यहां एडमिशन दे सकते हैं। सीयूईटी 2022 के माध्यम से स्नातक, पोस्ट ग्रेजुएट और रिसर्च प्रोग्राम तीनों में ही एडमिशन दिया जाएगा। 

# अब सीयूईटी यूजी के बारे में जानिए विस्तार से

हालांकि लेकिन इस आलेख में मैं सिर्फ सीयूईटी (यूजी) के बारे में ही बताऊंगा। अगर आप सीयूईटी (पीजी) और सीयूईटी (आरपी) के बारे में भी जानना चाहते है तो हम उसके बारे में बाद में बताएंगे। हम यहां स्पष्ट कर दें कि इस तरह की व्यवस्था पहले भी ‘केंद्रीय विश्वविद्यालय सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीयूसीईटी)’ के नाम से थी, लेकिन वो अनिवार्य नहीं था। 

इसलिए अब सीयूसीईटी की जगह सीयूईटी ने ले ली है, और ये परीक्षा किसी भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए अनिवार्य है। उम्मीद है कि अब आपको सीयूईटी और सीयूसीईटी के बीच किसी तरह का कोई कन्फ्यूजन नहीं होगा और सीयूईटी क्या है, ये अच्छे से मालूम हो गया होगा।

# किसी भी प्रवेश परीक्षा के लिए एक आदर्श रणनीति तैयार करना कभी भी नहीं होता आसान

जहां तक इसकी तैयारी का सवाल है तो यह जान लीजिए कि किसी भी प्रवेश परीक्षा के लिए एक आदर्श रणनीति तैयार करना कभी भी आसान नहीं होता। इसलिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तो बात ही छोड़ दें। कहने को तो कोई भी व्यक्ति हमेशा कड़ी मेहनत के महत्व, स्कूली पाठ्यक्रम के दबाव आदि के बारे में किसी से भी बहस कर सकता है। लेकिन 'सीयूईटी की तैयारी कैसे करें' इसपर बहस नहीं बल्कि एक प्रभावी रणनीति बनाने की  आवश्यकता है। 

# सीयूईटी की स्मार्ट तैयारी के लिए डेली रूटीन बनाएं और उसका कड़ाई से करें पालन 

इसलिए इस परीक्षा की स्मार्ट तैयारी के लिए डेली रूटीन बनाएं और उसका कड़ाई से पालन करें। परीक्षा की सुनियोजित तरीके से तैयारी करें और जिन टॉपिक्स से अधिक प्रश्न आते हैं और जिनमें अच्छे अंक पाए जा सकते हैं, उन पर पकड़ बेहतर करने पर ध्यान रखें। क्योंकि कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) जैसी प्रवेश परीक्षा को क्रैक करने के लिए न केवल कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है, बल्कि उचित संसाधनों और सलाह के साथ-साथ दृढ़ता और दृढ़ संकल्प की भी आवश्यकता होती है। इसके अलावा, सीयूईटी कार्यक्रम, ऑनलाइन कक्षाएं, कक्षा कोचिंग, टेस्ट सीरीज, सीयूईटी पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न पर भी गौर करना बहुत जरूरी है।

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी की ये है कुछ महत्वपूर्ण तरकीब

कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) अब स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए 54 केंद्रीय विश्वविद्यालयों की भागीदारी के साथ, देश में सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा बनने के लिए तैयार है। निस्संदेह, एक छात्र के लिए दबाव बहुत अधिक है, जो पहले से ही बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के कारण जबरदस्त दबाव में है। वहीं, जुलाई में परीक्षा नजदीक आने के साथ, अच्छी तरह से तैयारी करने के लिए समझना आवश्यक है। यही कारण है कि इन दिनों छात्रों के बीच सबसे अधिक चर्चित प्रश्नों में से एक है "कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी कैसे करें?" 

इसे भी पढ़ें: पोस्ट ऑफिस ग्राम सुरक्षा योजना क्या है? इसकी क्या क्या विशेषताएं हैं?

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) परीक्षा को गम्भीरता पूर्वक समझें

हर प्रवेश परीक्षा अपने आप में अलग तरह की होती है। ऐसे में कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी कैसे करें? उसके बारे में आदि से अंत तक जानना आपके लिए बहुत जरूरी है। यह परीक्षा ही आपको देश के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों तक पहुंच प्रदान करेगा। इसलिए सीयूईटी में भाग लेने वाले विश्वविद्यालयों के साथ-साथ परीक्षा संरचना को समझना अनिवार्य हो जाता है ।

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के पाठ्यक्रम का ऐसे करें अन्वेषण 

कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के पाठ्यक्रम की समझ विकसित करना सबके लिए आवश्यक है। क्योंकि यह आपको उस सामग्री को शॉर्टलिस्ट करने में मदद करेगा, जिसे आपको कवर करने की आवश्यकता है। किसी विशिष्ट सामग्री को सौंपी गई प्राथमिकताओं और चिह्नों की जाँच करें। क्योंकि जब आप सीखने की प्रक्रिया शुरू करते हैं, तो उसे कवर करने के लिए बहुत ही मूल बिंदु कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) का पाठ्यक्रम ही होता है। यदि आप पाठ्यक्रम से पूरी तरह परिचित नहीं हैं, तो हो सकता है कि आप क्या अध्ययन करें और क्या नहीं, के बीच अंतर करने में सक्षम न हों।

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी के लिए तैयार करें एक समय सारिणी 

आपको मालूम है कि अब सीयूईटी ही केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए एक प्रवेश द्वार है, इसलिए बोर्ड परीक्षा समाप्त होने के बाद ही इसे आयोजित किया जाएगा। निःसंदेह, बारहवीं कक्षा के बोर्डों के दबाव और प्रचार को देखते हुए, किसी का ध्यान स्वचालित रूप से स्कूल के पाठ्यक्रम की ओर स्थानांतरित हो जाएगा, खासकर जब परीक्षाएं नजदीक हों। 

इसलिए इनकी तैयारी जल्दी शुरू करना हर परीक्षा का पहला मूल मंत्र है। इसके निमित्त आप एक ऐसा प्लान बनाएं, जिसमें आप हर दिन डेढ़-दो घण्टे बिता सकें। वहीं, बोर्ड परीक्षाओं के दौरान भी, आप एक योजना बनाएं, और  अपनी गति को न तोड़ें। आप अपनी समय सारिणी और  दिनचर्या पर टिके रहें। इससे आप निश्चित रूप से परीक्षा में सफल होंगे।

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी के लिए सबसे जरूरी है निरन्तर अभ्यास

क्या आप जानते हैं कि एथलीट अभ्यास पर केंद्रित रहते हैं, भले ही कोई इवेंट या टूर्नामेंट हो या न हो? ऐसा इसलिए है क्योंकि सच्चाई का क्षण आने पर वे अपना ध्यान खोना नहीं चाहते हैं। सीयूईटी जैसी प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्र के लिए भी यही शतप्रतिशत सही है। वाकई अवधारणाओं पर काम करना और परीक्षा पैटर्न के आधार पर मॉक टेस्ट लिखना आपके लिए महत्वपूर्ण है। ये आपको अपनी ताकत को समझने में मदद करेंगे, और उन कमजोर क्षेत्रों के बारे में एक विचार प्रदान करेंगे, जिन पर हमेशा काम किया जा सकता है और उनमें सुधार भी किया जा सकता है।

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी के लिए सदैव प्रेरित रहें

सीयूईटी नामक प्रवेश परीक्षा को जीतने के लिए प्रेरणा महत्वपूर्ण है। इसलिए सदैव प्रेरित रहें और सकारात्मक सोचें। आप यह समझें कि प्रवेश द्वार में सफलता आपके सपनों और आपके करियर को आकार देने में कैसे मदद करेगी। इसके लिए आप सीनियर्स से मार्गदर्शन मांगे। साथ ही यदि आवश्यक हो तो विशेषज्ञों से जुड़ें।

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी में रिवीजन के लिए ये हैं कुछ महत्वपूर्ण टिप्स

यदि आप कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की तैयारी कर रहे हैं, तो मुख्य टिप्स सभी महत्वपूर्ण विषयों को व्यवस्थित तरीके से रिवीजन व परीक्षा के नजरिए से संशोधित करना है। यहाँ विशेषज्ञों से प्राप्त कुछ सुझाव आपके लिए दिए गए हैं:- पहला, उन सभी विषयों की पहचान करें, जिन पर आपको फिर से ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। दूसरा, उन विषयों को कवर करने के लिए एक रणनीतिक योजना बनाएं। तीसरा, जो विषय आपको अधिक कठिन लगता है, उसे पहले रिवाइज करें। फिर आप मॉक पेपर्स के लिए जा सकते हैं। इससे आपको समय का प्रबंधन करने में मदद मिलेगी। चतुर्थ, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र के माध्यम से जाएं, और महत्वपूर्ण विषयों व प्रश्नों का पता लगाएं। पंचम, पेपर के पैटर्न को समझने की कोशिश करें। छठा, परीक्षा के दिन से पहले उन विषयों को दोहराते रहें जो आपकी ताकत हैं।

# सीयूईटी की बारीकियों को ऐसे समझें

कहना न होगा कि हर प्रतियोगी परीक्षा का नेचर अलग अलग होता है। ऐसे में उनकी तैयारी भी अलग अलग ही होती है। इन परीक्षाओं की तैयारी करने का सबसे पहला स्टेप है कि उस परीक्षा के नेचर को भलीभांति समझा जाए। इसलिए सबसे पहले छात्रों को सलाह दी जाती है कि वो यह जानें कि सीयूईटी परीक्षा क्या है, इसका सिलेबस कैसा है, इसमें किस तरह के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। क्योंकि जब आप परीक्षा के नेचर से अवगत होंगे तो तैयारी भी आसान और बेहतर हो जाएगी।

# हमेशा पाठ्यक्रम के हिसाब से ही शुरू करें पढ़ाई

सीयूईटी को समझने के बाद अगला कदम है इसके सिलेबस के अनुसार पढ़ाई करने का प्रयास करना। क्योंकि पाठ्यक्रम को जानने-समझने के बाद ही छात्रगण उस सामग्री को छांट कर अलग कर सकते हैं जो कि इस परीक्षा के लिहाज से अधिक महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, परीक्षा के पैटर्न के अनुसार महत्वपूर्ण विषयों को चिन्हित करें और एक एक कर के उसकी सटीक तैयारी करें। क्योंकि पाठ्यक्रम यानी सिलेबस के अनुसार अगर आप नहीं पढ़ेंगे तो आप विषयों से भटक जाएंगे।

# सीयूईटी के लिए मॉक टेस्ट की करें तैयारी

किसी भी परीक्षा में बैठने से पहले इस बात की जांच पुख्ता कर लेनी चाहिए कि किस किस तरह के प्रश्न उस परीक्षा में पूछे जा सकते हैं। इसकी जांच पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों और मॉक टेस्ट के माध्यम से ही की जा सकती है। हालांकि यह परीक्षा ही पहली बार आयोजित हो रही है। इसलिए इसकी तैयारी के समय समय-समय पर मॉक टेस्ट लगाते रहें, ताकि परीक्षा में पूछे जाने वाले विषयों के बारे में आइडिया हो पाए।

# सीयूईटी के लिए टाइम टेबल करें तैयार

 सीयूसीईटी की परीक्षा केंद्रीय विश्वविद्यालयों में ग्रेजुएशन में एडमिशन के लिए कंडक्ट कराया जाता है। इसलिए इस परीक्षा की तैयारी छात्र 12वीं के दौरान ही करने लगते हैं। उनके ऊपर 12वीं के बोर्ड और एडमिशन दोनों की तैयारी का दबाव रहता है। इसी कारण छात्रों को पढ़ने का एक टाइम टेबल बना लेना चाहिए, ताकि बोर्ड और एंट्रेंस दोनों की तैयारी को बराबर समय दिया जा सके।

# सीयूईटी के लिए निरंतर करें प्रैक्टिस

कोई भी परीक्षा हो या कोई भी जंग हो, सबसे जरूरी होता है प्रैक्टिस, प्रैक्टिस और प्रैक्टिस। कहने का तातपर्य यह कि लगातार किसी भी परीक्षा या अन्य की प्रैक्टिस से हम एक्सपर्ट बन जाते हैं और एक्सपर्ट को कोई नहीं हरा सकता। अगर छात्र भी चाहते हैं कि इस परीक्षा में वो पहले ही प्रयास में पास हो जाएं तो लगातार प्रैक्टिस में बने रहें। एक भी दिन अपना टाइम टेबल खराब ना करें। इससे आपको सफलता जरूर मिलेगी।

# सीयूईटी परीक्षा के लिए ये है पात्रता 

सीयूईटी-यूजी परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी का किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं या समतुल्य पास होना अनिवार्य है। इसमें 12वीं के बोर्ड के अंकों की कोई बाध्यता नहीं है। हालांकि यूनिवर्सिटी न्यूनतम अंक (जैसे 50 प्रतिशत) की बाध्यता लगा सकती है। इस साल पास हुए अभ्यर्थी तो इसके जरिए एडमिशन ले ही सकते है, इसके अलावा यदि यूनिवर्सिटी इजाजत दे तो पिछले साल पास हुए अभ्यर्थी भी इस परीक्षा के माध्यम से एडमिशन ले सकते हैं। इस परीक्षा में शामिल होने के लिए कोई न्यूनतम या अधिकतम आयु सीमा नहीं है।

# सीयूईटी की परीक्षा के लिए ऐसे करें आवेदन 

सीयूईटी के लिए आवेदन आप सिर्फ ऑनलाइन ही कर सकते है। इसके लिए सबसे पहले इसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करें। वहां ‘रजिस्टर’ के बटन पर क्लिक करें। उसके बाद रजिस्ट्रेशन फॉर्म में मांगी गई निजी जानकारी व वर्तमान पता दर्ज करें। अंत में, आपके द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर एक ओटीपी  आएगा, उसे दर्ज करके सबमिट कर दें। ओटीपी वेरिफिकेशन होने के बाद आपके मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर आपका एप्लीकेशन फॉर्म नंबर आएगा, उसे आप नोट कर लें। 

अब सफलतापूर्वक पंजीकरण होने के बाद अपने एप्लीकेशन नंबर और पासवर्ड की मदद से लॉगिन करें। इसके बाद ‘कंटिन्यू एप्लीकेशन फॉर्म’ के बटन पर क्लिक करें। फिर उसमें मांगी गई निजी और शैक्षणिक जानकारी दर्ज करें। इसके बाद यूनिवर्सिटी और प्रोग्राम चुनें। फिर टेस्ट पेपर और विषय चुनें, एवं अंत में परीक्षा केंद्र चुन कर ‘सेव’ कर दें। इसके बाद अपना फोटोग्राफ, हस्ताक्षर, 10वीं या समतुल्य का सर्टिफिकेट, आदि अपलोड करें। अपलोड करने से पहले साइज और फॉर्मेट से जुड़े हुए दिशा निर्देश पढ़ लें। अंत में, आवेदन शुल्क अदा करके ‘कन्फर्मेशन पेज’ को डाउनलोड या प्रिंट करके अपने पास रख लें।

# सीयूईटी परीक्षा की कुछ महत्वपूर्ण बारीकियों को यहां समझें

सीयूईटी परीक्षा के आवेदन शुल्क का विवरण, 

स्लॉट यानी परीक्षा का समय, टेस्ट या विषय की संख्या, सामान्य (अनारक्षित), ओबीसी/ईडब्ल्यूएस, एससी/एसटी/थर्ड जेंडर/दिव्यांग, भारत से बाहर के केंद्र के लिए समस्त जानकारी यहाँ दी हुई है। स्लॉट-1: 09:00 एएम से 12:15 पीएम, अधिकतम 4, ₹ 650/- ₹ 600/- ₹ 550/- ₹ 3000/- वहीं, स्लॉट-2: 03:00 पीएम  से 06:45 पीएम, अधिकतम 5, ₹ 650/- ₹ 600/- ₹ 550/- ₹ 3000/- जहां तक सीयूईटी एप्लीकेशन फीस अदा करने का सवाल है तो यह फीस आप नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, यूपीआई या पेटीएम के जरिए अदा कर सकते हैं। यदि आपको फीस अदा करने में या करने के बाद कोई समस्या हो तो आप सीयूईटी के वेबसाइट पर दिए कॉन्टैक्ट डिटेल से संबंधित बैंक या पेमेंट सर्विस से संपर्क कर सकते हैं।

# सीयूईटी परीक्षा का पैटर्न 

सीयूईटी (यूजी) 2022 में चार भाग हैं- सेक्शन Iए- 13 भाषाएं, सेक्शन Iबी- 20 भाषाएं, सेक्शन II- 27 डोमेन स्पेसिफिक विषय और सेक्शन III- जेनरल टेस्ट।

वहीं, सेक्शन Iए-13 भाषाएं:- सेक्शन Iए में शामिल सभी भाषाओं की सूची उनके कोड के साथ नीचे दी जा रही है:

कोडव भाषा क्रमशः- 101 तमिल, 102 तेलुगु, 103 कन्नड़, 104 मलयालम, 105 मराठी, 106 गुजराती, 107 उड़िया, 108 बंगाली, 109 असमिया, 110 पंजाबी, 111 अंग्रेजी, 112 हिंदी, 113 उर्दू।

वहीं, सेक्शन Iबी- 20 भाषाएं:- सेक्शन Iबी में शामिल सभी भाषाओं की सूची उनके कोड के साथ नीचे दी जा रही है:

कोड व भाषा- 201 मैथिली, 202जापानी, 203 फ्रेंच, 204 स्पेनिश, 205 जर्मन, 206 नेपाली, 207 पर्शियन, 208 इटालियन, 209 अरेबिक, 210 सिंधी, 211 संस्कृत, 212 कश्मीरी, 213 कोकनी, 214 बोडो,

215 डोगरी, 216 मणिपुरी, 217 संथाली, 218 तिब्बतन, 219 रसियन, और 220 चाइनीज।

प्रत्येक सेक्शन (सेक्शन IA और सेक्शन IB) में कुल 50 प्रश्न होंगे, जिसमें से आपको 40 हल करना होगा। इसके लिए 45 मिनिट का समय दिया जाएगा। 

वहीं, सेक्शन II 27 डोमेन स्पेसिफिक विषय- सेक्शन II में शामिल सभी डोमेन स्पेसिफिक सब्जेक्ट की सूची उनके कोड के साथ नीचे दी जा रही है:- कोड व विषय क्रमशः- 301 अकाउंटेंसी/ बुक कीपिंग, 302 जीव विज्ञान/ बायोलॉजिकल स्टडीज/ बायोटेक्नोलॉजी/ बायोकेमिसट्री, 303 बिजनेस स्टडीज, 304रसायन शास्त्र, 305 कंप्यूटर साइंस/ इनफॉर्मेटिक्स प्रेक्टिसेज, 306 इकोनॉमिक्स/ बिजनेस इकोनॉमिक्स, 307 इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, 308 एंट्रप्रेन्योर्शिप, 309 भूगोल/ जियोलॉजी, 310 इतिहास, 311 होम साइंस, 312 नॉलेज ट्रेडिशन एंड प्रेक्टिसेज ऑफ इंडिया, 313 लीगल स्टडीज, 314 पर्यावरण विज्ञान, 315 गणित, 316 फिजिकल एजुकेशन/ एनसीसी/ योगा, 317 भौतिकी, 318 राजनीति विज्ञान, 319 मनोविज्ञान, 320 समाजशास्त्र, 321 टीचिंग एप्टीट्यूड, 322 कृषि,  323 मास मीडिया/ मास कम्युनिकेशन, 324 मानव विज्ञान, 325 फाइन आर्ट्स/ विजुअल आर्ट्स/ कमर्शियल आर्ट्स,  326 परफॉर्मिंग आर्ट्स, 327 संस्कृत। इस सेक्शन भी कुल 50 प्रश्न होंगे, जिसमें से आपको 40 प्रश्न हल करने है। इसकी अवधि 45 मिनट होगी।

वहीं, सेक्शन III जेनरल टेस्ट (कोड 501)

जेनरल टेस्ट में कुल 75 प्रश्न होंगे, जिसमें से आपको 60 प्रश्र हल करने हैं। इसकी अवधि 1 घंटे होगी।

बता दें कि सेक्शन Iए तथा सेक्शन Iबी में से एक अभ्यर्थी अधिकतम तीन भाषा चुन सकते हैं। इसमें कुल 9 टेस्ट देने होंगे। यदि अभ्यर्थी 2 भाषा चुनते है तो उसका टेस्ट इस प्रकार होगा: 2 भाषा + 6 डोमेन स्पेसिफिक विषय + 1 जनरल टेस्ट। वहीं अगर कैंडिडेट 3 भाषा चुनते है तो उसका टेस्ट इस प्रकार होगा: 3 भाषा + 5 डोमेन स्पेसिफिक सब्जेक्ट + 1 जेनरल टेस्ट।

सीयूईटी कंप्यूटर आधारित परीक्षा (सीबीटी) होगी। इसमें सभी बहु विकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यूज) होंगे। प्रत्येक प्रश्र 5 अंक का होगा तथा इसमें नेगेटिव मार्किंग की भी व्यवस्था रहेगी। एक गलत उत्तर पर 1 अंक कटे जाएंगे। ये परीक्षा पूरे देश के 547 शहरों में आयोजित होगी। इसके सभी परीक्षा केंद्र की जानकारी इसके ऑफिशियल वेबसाइट पर मिल जाएगी। भारत के अलावा अन्य 13 देशों में भी ये टेस्ट दिया जा सकता है। कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की परीक्षा जुलाई के पहले और दूसरे हफ्ते में होगी। ये कई दिनों तक दो पालियों में होगी। पहली पाली का समय 09:00 एएम से 12:15 पीएम तक है, वहीं दूसरी पाली का समय 03:00 पीएम से 06:45 पीएम तक होगा।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना क्या है और क्या हैं इसके फायदे

# कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) का पाठ्यक्रम 

सेक्शन Iए और सेक्शन Iबी में भाषा ज्ञान की जांच करने के लिए रीडिंग कंप्रीहेंशन पूछे जाएंगे। वहीं, सेक्शन II डोमेन स्पेसिफिक विषय में सभी प्रश्न 12वीं के एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम के अनुसार होगा। आप इसके सभी विषयों का विस्तृत पाठ्यक्रम सम्बन्धित वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। वहीं, सेक्शन III जेनरल टेस्ट में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न पूछा जाएगा:- सामान्य ज्ञान, समसामयिक घटनाएं, सामान्य मानसिक योग्यता, संख्यात्मक योग्यता, क्वांटिटेटिव रीजनिंग, लॉजिकल एंड एनालिटिकल रीजनिंग।

कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट में दो सेक्शन (Iए और Iबी) भाषा का होता है। भाषा के पेपर में आपसे रीडिंग कंप्रीहेंशन पूछे जाएंगे। इसलिए अभी से ही जिन भाषाओं का टेस्ट देनेवाले हैं, उनके रीडिंग कंप्रीहेंशन को पढ़ना और उनको हल करना शुरू कर दें। वहीं, डोमेन स्पेसिफिक विषय में आपके सभी प्रश्न 12वीं के एनसीईआरटी से आएगी। इसलिए एनसीईआरटी को अच्छे से समझ कर पढ़ें। एनसीईआरटी की किताब अगर समझने में दिक्कत हो तो आप कांसेप्ट समझने के लिए इसके साथ अन्य स्टैंडर्ड किताबें भी पढ़ सकते हैं। जैसे अगर आप साइंस के स्टूडेंट है, और आपको एनसीईआरटी की फिजिक्स बहुत मुश्किल लगती है तो आप एच. सी. वर्मा की किताब ‘कॉन्सेप्ट ऑफ फिजिक्स’ पढ़ सकते है। इसमें फिजिक्स के मुश्किल कांसेप्ट को भी आसान तरीके से समझाया गया है।

# सीयूईटी की तैयारी के लिए जेनरल टेस्ट के लिए ये हैं बेस्ट बुक्स 

जेनरल टेस्ट में सामान्य ज्ञान, समसामयिक घटनाएं, सामान्य मानसिक योग्यता, संख्यात्मक योग्यता और रीजनिंग से प्रश्न रहते हैं। सामान्य ज्ञान  की तैयारी के लिए अरिहंत पब्लिकेशन की किताब ‘सामान्य ज्ञान 2023’ जैसी पुस्तकें बहुत ही उपयोगी हैं। इसमें कुछ करेंट अफेयर्स भी दिए गए हैं, जिससे सामान्य ज्ञान की जानकारी के साथ-साथ थोड़ा समसामयिक घटनाओं की भी जानकारी हो जाएगी। वहीं, करेंट अफेयर्स की तैयारी के लिए इस किताब के अलावा नियमित रूप से अखबार और मैगजीन पढ़ें। सामान्य मानसिक योग्यता की तैयारी के लिए एस. चंद पब्लिकेशन की ‘सामान्य बुद्धि एवं तर्कशक्ति परीक्षण’ जैसी किताब बेहद उपयुक्त है। वहीं, संख्यातमक योग्यता की तैयारी के लिए डॉ आर. एस. अग्रवाल की किताब ‘सरल अंकगणित’ जैसी पुस्तक बहुत ही अच्छा है।

इसमें 500 से भी ज्यादा हल सहित उदाहरण दिया गया है, तथा 4 हजार से भी ज्यादा अभ्यास प्रश्न दिया गया है।

वहीं, रीजनिंग के लिए अरिहंत पब्लिकेशन की ‘मास्टर रीजनिंग’ जैसी किताब बहुत उपयोगी है। इसमें लगभग सभी तरह की रिजनिंग उपलब्ध है। चूंकि सीयूईटी 2022 में सभी एमसीक्यूज ही रहेंगे। इसलिए अभी से ही एमसीक्यूज हल करने का प्रयास करें। टाइम टेबल बना कर सुयोजित तरीके से परीक्षा की तैयारी करें। रटने के बजाय कांसेप्ट समझकर पढ़ने का प्रयास करें।

# ये है 44 केंद्रीय विश्वविद्यालयों की सूची, जहां आप ले सकते हैं इस परीक्षा के माध्यम से प्रवेश

यहां पर आपकी सुविधा के लिए सभी 44 केंद्रीय विश्वविद्यालयों की सूची और उनके वेबसाइट का विवरण एक साथ नीचे दी जा रही है। आपको इनमें से जिस यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना है, उसके वेबसाइट पर जाकर एडमिशन से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यूनिवर्सिटी का नाम और उसका वेबसाइट विवरण इस प्रकार है-

1. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी-

https://www.amu.ac.in 

2. असम यूनिवर्सिटी-

http://www.aus.ac.in

3. बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी-

https://www.bbau.ac.in

4. बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी- 

https://www.bhu.ac.in

5. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ आंध्र प्रदेश-         

https://cuap.ac.in

6. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार-

https://www.cusb.ac.in

7. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ गुजरात-

https://www.cug.ac.in

8. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हरियाणा-

https://www.cuh.ac.in

9. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश-

http://www.cuhimachal.ac.in

10. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ जम्मू-  

https://www.cujammu.ac.in

11. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड-

http://cuj.ac.in

12. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ कर्नाटका-

https://www.cuk.ac.in

13. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ कश्मीर-

https://www.cukashmir.ac.in

14. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ केरला-

https://www.cukerala.ac.in

15. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ ओडिशा-

http://cuo.ac.in

16. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ पंजाब-

http://cup.edu.in

17. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ राजस्थान-

http://www.curaj.ac.in

18. सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ तमिलनाडु-

https://cutn.ac.in

19. गुरु घासीदास विश्वविद्यालय-

https://www.ggu.ac.in

20. डॉ हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय-

http://www.dhsgsu.ac.in

21. इंदिरा गांधी नेशनल ट्राइबल यूनिवर्सिटी-

http://www.igntu.ac.in

22. हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी-

https://www.hnbgu.ac.in

23. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी-

https://www.jnu.ac.in

24. जामिया मिल्लिया इस्लामिया-

https://www.jmi.ac.in

25. मणिपुर यूनिवर्सिटी-

https://www.manipuruniv.ac.in

26. महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय- 

http://hindivishwa.org

27. मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी-

https://manuu.ac.in

28. मिजोरम यूनिवर्सिटी-

https://mzu.edu.in

29. नागालैंड यूनिवर्सिटी-

https://nagalanduniversity.ac.in

30. नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी-

https://www.nehu.ac.in

31- राजीव गांधी यूनिवर्सिटी-

https://rgu.ac.in

32. पांडिचेरी यूनिवर्सिटी-

https://www.pondiuni.edu.in

33. सिक्किम यूनिवर्सिटी-

https://cus.ac.in

34. तेजपुर यूनिवर्सिटी-

http://www.tezu.ernet.in

35. द इंग्लिश एंड फॉरेन लैंग्वेज यूनिवर्सिटी-

http://www.efluniversity.ac.in

36. त्रिपुरा यूनिवर्सिटी

https://tripurauniv.ac.in

37. यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली-

http://du.ac.in

38. यूनिवर्सिटी ऑफ इलाहाबाद-

https://www.allduniv.ac.in

39. यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद-

https://uohyd.ac.in

40. विश्व भारती यूनिवर्सिटी-

https://visvabharati.ac.in

41. महत्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी-

https://mgcub.ac.in

42. सेंट्रल संस्कृत यूनिवर्सिटी, दिल्ली-

http://www.sanskrit.nic.in

43. श्री लाल बहादुर शास्त्री नेशनल संस्कृत यूनिवर्सिटी-

https://www.slbsrsv.ac.in

44. नेशनल संस्कृत यूनिवर्सिटी

https://nsktu.ac.in

# क्या सीयूईटी आने से 12वीं बोर्ड के अंकों का कोई महत्त्व नहीं रहेगा?

नहीं, ऐसा नहीं है। बोर्ड के मार्क्स का तो महत्त्व रहेगा ही, लेकिन इतना नहीं रहेगा जितना अब तक था। सीयूईटी परीक्षा में शामिल होने के लिए तो कोई न्यूनतम अंक की मांग नहीं है, परंतु यूनिवर्सिटी इस तरह की कोई मांग कर सकती है। दूसरी बात, राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी के नोटिफिकेशन में ये साफ-साफ कहा गया है कि इस परीक्षा में जो प्रश्न आएंगे वो 12वीं के एनसीईआरटी से ही आएंगे। अत: आप जितना अच्छे से अपनी 12वीं की पढ़ाई करेंगे, उतना ही आपके लिए अधिक स्कोर करना आसान होगा।

इसलिए जो विद्यार्थी भी अभी 12वीं में हैं या जाने वाले हैं, उनको इस की अलग से तैयारी करने के चक्कर में अपने क्लास की पढ़ाई को हल्के में नहीं लेना है, बल्कि दोनों का संतुलन बना कर चलना है।

# क्या सीयूईटी परीक्षा में रैंकिंग की भी व्यवस्था है?

नहीं, इसमें सिर्फ आपका स्कोर बताया जाएगा।

# सीयूईटी के स्कोर की कितने सालों तक की है वैधता

इसका स्कोर सिर्फ एक साल तक ही वैध रहेगा। जैसे अगर आप इस साल सीयूईटी की परीक्षा देते है तो सिर्फ इसी साल इसके स्कोर के आधार पर किसी भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी के सत्र यानी सत्र 2022-23 में एडमिशन ले सकते हैं।

# ऐसे जानिए सीयूईटी का स्कोर 

सीयूईटी का स्कोर राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी किया जाएगा। अतः आप वहां से अपना स्कोर जान सकते हैं।

# सीयूईटी हेल्पलाइन से ऐसे लें सहायता 

यदि कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट से जुड़ी कोई समस्या हो या कुछ पूछना हो तो आप नीचे दिए गए इसके हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं या ईमेल कर सकते है:-

हेल्पलाइन नंबर: 011-40759000, 011-69227700.

ईमेल आईडी: [email protected] वहीं, कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट की ऑफिशियल वेबसाइट cuet.samarth.ac.in है। 

बता दें कि सीयूईटी के तहत अव्वल स्कोर लाने के बावजूद विश्वविद्यालयों को एडमिशन प्रक्रिया को अपने हिसाब से चुनने की स्वतंत्रता होगी। इन यूनिवर्सिटी में यूजी एडमिशन के लिए सीयूसीईटी स्कोर अभी भी अनिवार्य होगा। इस तरह से सीयूईटी एंट्रेंस एग्जाम किसी विश्वविद्यालय में अपनाए जाने वाले विशिष्ट प्रवेश मानदंडों को प्रभावित नहीं करेगी। वहीं, सीटों के लिए आरक्षण नीति और काउंसलिंग कैसे आयोजित की जाए यह यूनिवर्सिटी का निर्णय रहेगा।

- कमलेश पांडेय

वरिष्ठ पत्रकार व स्तम्भकार