Dial 100 Review: कहानी कमजोर लेकिन कास्ट शानदार, एक बार तो देख सकते हैं मनोज बाजपयी फिल्म

Dial 100 Review: कहानी कमजोर लेकिन कास्ट शानदार, एक बार तो देख सकते हैं मनोज बाजपयी फिल्म

मनोज बाजपेयी की डायल 100 (Dial 100) एक भारतीय हिंदी भाषा की थ्रिलर ड्रामा फिल्म है, जो रेंसिल डी'सिल्वा द्वारा निर्देशित और सोनी पिक्चर्स फिल्म्स इंडिया, सिद्धार्थ पी.मल्होत्रा ​​और सपना मल्होत्रा ​​द्वारा निर्मित है।

मनोज बाजपेयी की डायल 100 (Dial 100) एक भारतीय हिंदी भाषा की थ्रिलर ड्रामा फिल्म है, जो रेंसिल डी'सिल्वा द्वारा निर्देशित और सोनी पिक्चर्स फिल्म्स इंडिया, सिद्धार्थ पी.मल्होत्रा ​​और सपना मल्होत्रा ​​द्वारा निर्मित है। फिल्म में मनोज बाजपेयी, नीना गुप्ता और साक्षी तंवर मुख्य भूमिकाओं में हैं। फिल्म का प्रीमियर 6 अगस्त 2021 को ZEE5 पर हुआ। इस फिल्म की लंबाई 1.44 मिनट की है। क्या यह फिल्म आपका मनोरंजन कर पाने में कामयाब रही? आइये आपको फिल्म के बारे में बताते हैं। 

इसे भी पढ़ें: शाहरुख खान, अनिल कपूर, अक्षय कुमार सहित तमाम बॉलीवुड सितारो ने पुरुष हॉकी टीम को दी बधाई

फिल्म की कहानी

फिल्म की शुरूआत होती है मुंबई पुलिस इमरजेंसी कॉल सेंटर से, जहां निखिल सूद (मनोज बाजपेयी) नाम का एक पुलिस ऑफिसर रात में लोगों की इमरजेंसी कॉल को अटेंड कर रहा होता है। इन कॉल्स के साथ वह अपने पर्सनल मोबाईल से अपने घर के पत्नी और बेटे के बीच के निजी विवाद को भी सुलझा रहा होता है, ठीक वैसे ही जैसे अकसर कर्मचारियों को दफ्तर के दौरान पर्सनल कॉल पर बात करते हुए देखा जाता है। मुंबई पुलिस के आम कर्मचारी निखिल सूद की जिंदगी उस वक्त मोड़ देती है जब नाइट शिफ्ट के दौरान इमरजेंसी कॉल सेंटर में एक कॉल आती है और वह औरत निखिल सूद से ही बात करने के लिए कहती है। कई बार निखिल का नाम लेने पर उसकी बात निखिल से होती है। कॉलर निखिल से कई अजीब से सवाल करती है। पहले तो निखिल को ऐसा लगता है कि कोई  उनसे प्रैंक कर रहा है इस लिए ऐसा बातें कर रहा है लेकिन धीरे-धीरे कॉल करने वाली औरत कुछ ऐसा बोलने लगती है जिससे निखिल के होश उड़ने लगते है। वह औरत क्या बोलती है यह तो नहीं बता सकते लेकिन इस कॉल के बाद निखिल की पूरी जिंदगी बदल जाती है। मुंबई पुलिस के इमरजेंसी कॉल सेंटर की ये कॉल निखिल के लिए काल बन जाती है। आगे की कहानी के लिए फिल्म जी5 पर आप देख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: शाहरुख खान के साथ अब काम करना नहीं चाहती काजोल? हिरानी की नयी फिल्म को लेकर दिया बयान

कैसी है फिल्म?

अभी तक हमने फिल्मों मे मुंबई पुलिस, सुरक्षा एजेंसियों के अलग-अलग विभागों के बारे में वेब सीरीज और फिल्मों में देखा है लेकिन ये पहली बार है कि पुलिस रात के समय होने वाली घटनाओं को कैसे सुलझाती है। इस बार मनोज बाजपेयी को मुंबई पुलिस के इमरजेंसी कॉल सेंटर का ऑफिसर दिखाया गया है। उम्मीद थी कि अच्छी फिल्म की इस फिल्म में भी डिपार्टमेंट वॉर्क को लेकर फिल्म में कुछ प्रकाश डाला जाएगा, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं किया गया। अगर फिल्म में इमरजेंसी कॉल सेंटर के अलावा कोई और डिपार्टमेंट होता तो भी फिल्म पर कोई असर नहीं पड़ता। फिल्म की कहानी तो अच्छी है। फिल्म को देखते वक्त आपको लगेगा कि ऐसी कोई फिल्म आपने देखी है। उस कोई फिल्म के बारे में हम आपको बताते कि इस तरह की फिल्म 2019 में अमिताब बच्चन और तापसी पन्नू ने बनायी थी जिसका नाम बदला था। फिल्म डायल 100 भी उसी तर्ज पर बनीं है लेकिन उस तरह का थ्रिल और मनोरंजन नहीं करती हैं।

एक्टिंग

कहते हैं फिल्म की कहानी कमजोर हो लेकिन एक्टर शानदार हो तो फिल्म को झेला जा सकता है। इस फिल्म के साथ ऐसा ही हुआ है। मनोरंजन करने में नाकाम रही फिल्म की कास्ट काफी शानदार है। मुख्य रूप से तीन किरदार है और तीनों ही शानदार।  मनोज बाजपेयी, नीना गुप्ता और साक्षी तंवर तीनों ने ही अपने किरदार को बखूबी निभाया है। 

 

कलाकारः नीना गुप्ता, मनोज बाजपेयी, साक्षी तंवरो

निर्देशक: रेंसिल डी'सिल्वा

रेटिंग: 2.5 स्टार 






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

मनोरंजन जगत

झरोखे से...